Dainik Navajyoti Logo
Friday 23rd of April 2021
 
भारत

15 अगस्त को 7वीं बार लालकिले की प्राचीर पर तिरंगा फहराएंगे मोदी, ऐसा करने वाले पहले गैर कांग्रेसी पीएम

Monday, August 10, 2020 12:55 PM
नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर 7वीं बार लाल किले के प्राचीर पर तिरंगा फहराएंगे और राष्ट्र को संबोधित करेंगे, जिसके साथ ही वह सबसे अधिक बार ऐसा करने वाले पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री होंगे। मोदी ने पहली बार 2014 में लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था और पिछले वर्ष अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल में छठवीं बार तिरंगा फहराकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार के पहले प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की बराबरी कर ली थी। वह इस बार वाजपेयी से एक कदम आगे बढ़कर 7वीं बार तिरंगा फहराएंगे।

भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के मुखिया रहे अटल बिहारी वाजपेयी ने 19 मार्च 1998 से 22 मई 2004 के बीच 6 बार तिरंगा फहराया था। वाजपेयी हालांकि 1996 में पहली बार प्रधानमंत्री बने थे, लेकिन उनकी सरकार ज्यादा दिन नहीं चल पाई थी और उन्हें राष्ट्रीय ध्वज फहराने का अवसर नहीं मिल पाया था। देश में आपातकाल को लेकर आम जनता में आक्रोश की लहर ने 1977 के आम चुनाव में तत्कालीन कांग्रेस सरकार को सत्ता से बाहर कर दिया और केंद्र में जनता पार्टी की सरकार बनी। आजादी के बाद यह पहली गैर-कांग्रेसी सरकार थी। मोरारजी देसाई इस सरकार के मुखिया बने। उन्होंने दो बार 1977 और 1978 में लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराया था।

इसके बाद 28 जुलाई 1979 को चौधरी चरण सिंह समाजवादी दलों और कांग्रेस (यू) के सहयोग से प्रधानमंत्री बने तथा उसी साल पहली एवं आखिरी बार तिरंगा फहराया। चरण सिंह के अलावा विश्वनाथ प्रताप सिंह, एच डी. देवेगौड़ा और इंद्र कुमार गुजराल भी ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री रहे, जिन्हें एक-एक बार तिरंगा फहराने का सौभाग्य हासिल हुआ। दलचस्प तथ्य यह भी है कि ऐसी दो शख्सियतें भी रही, जो प्रधानमंत्री तो बने, लेकिन उन्हें लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराना नसीब नहीं हुआ। देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के निधन के बाद 27 मई 1964 को गुलजारी लाल नंदा कुछ समय के लिए कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने। लाल बहादुर शास्त्री के निधन के बाद भी वह कुछ समय के लिए कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने। इसी प्रकार चंद्रशेखर 10 नवंबर 1990 को प्रधानमंत्री बने लेकिन 6 महीने बाद ही कांग्रेस ने उनकी पार्टी की सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया और उन्हें 21 जून 1991 को पद से हटना पड़ा।

अतीत के झरोखों में देखा जाए तो यही नजर आता है कि स्वाधीन भारत के इतिहास में सबसे अधिक बार तिरंगा फहराने का रिकॉर्ड प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के नाम है। उन्होंने सर्वाधिक 17 बार लालकिले पर तिरंगा फहराया है। वह 15 अगस्त 1947 से 27 मई 1964 तक प्रधानमंत्री रहे। नेहरू के बाद उनकी पुत्री इंदिरा गांधी 24 जनवरी 1966 से 24 मार्च 1977 तथा 14 जनवरी 1980 से 31 अक्टूबर 1984 के दौरान प्रधानमंत्री रही। इन दो अवधि में इंदिरा गांधी ने 16 बार राष्ट्रीय ध्वज फहराया। तीसरे नंबर पर डॉ मनमोहन सिंह है, जिन्होंने 10 बार लालकिले पर तिरंगा फहराया। वह 22 मई 2004 से 26 मई 2014 तक प्रधानमंत्री रहे।

राजीव गांधी और तेलुगु क्षत्रप एवं देश में आर्थिक सुधारों के प्रणेता रहे पामुलपति वेंकटपति नरसिम्हा राव ने 5-5 बार लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराया और देश को संबोधित किया। राजीव गांधी 31 अक्टूबर 1984 से 1 दिसंबर 1989 तक प्रधानमंत्री रहे जबकि राव का कार्यकाल 21 जून 1991 से 10 मई 1996 तक रहा। देश में एक ईमानदार शासक की छवि के प्रतीक लालबहादुर शास्त्री 9 जून 1964 से 11 जनवरी 1966 तक प्रधानमंत्री रहे और 2 बार तिरंगा फहराया।

यह भी पढ़ें:

जम्मू में कोरोना से व्यक्ति की मौत

जम्मू-कश्मीर में जानलेवा कोरोना वायरस से गुरुवार को एक 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गयी। प्रदेश में कोरोना के कारण यह पहली मौत है।

26/03/2020

BJP की वर्चुअल रैली के विरोध में RJD का गरीब अधिकार दिवस, राबड़ी-तेजस्वी ने बजाई थाली

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वर्चुअल रैली के विरोध में बिहार की मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने गरीब अधिकार दिवस मनाया और थाली-कटोरा पीटकर इसका प्रतिकार किया।

07/06/2020

लड़ाकू विमान 'तेजस' में उड़ान भरेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह देश में ही बनाये गये हल्के लड़ाकू विमान तेजस में गुरूवार को बेंगलूरू से उड़ान भरेंगे। तेजस में उड़ान भरने वाले वह पहले रक्षा मंत्री होंगे।

18/09/2019

दिल्ली समेत 13 शहरों में पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप, यहां से अलग-अलग जगहों पर होगी सप्लाई

कोरोना वैक्सीन की पहली खेप पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट से रवाना हो गई है। इसे ट्रकों से लाया गया है। यूपी में वैक्सीन की खेप पहुंच गई है।

12/01/2021

सिर्फ 2 सालों में आधा हुआ भाजपा का साम्राज्य, अब सिर्फ 36 फीसदी हिस्से में ही भाजपा का शासन

केंद्र की सत्ता पर काबिज भाजपा का साम्राज्य पिछले कुछ सालों में सिकुड़ता जा रहा है। महज 2 सालों में पार्टी का राज आधा रह गया है। बीजेपी ने पिछले दो साल में कई बड़े राज्य गंवाए हैं। ऐसे किलों की हुकूमत छोड़नी पड़ी है, जहां लंबे समय से उनकी सरकार चल रही थी।

24/12/2019

PM ने मुख्यमंत्रियों से की कोरोना पर चर्चा, ज्यादातर CM लॉकडाउन बढ़ाने पर सहमत

कोरोना (कोविड-19) महामारी से निपटने के लिए आगे की रणनीति पर चर्चा के लिए शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने मास्क लगाकर हिस्सा लिया।

11/04/2020

बिहार: प्रचार के आखिरी दिन नीतीश का इमोशनल कार्ड, कहा- ये मेरा आखिरी चुनाव, अंत भला तो सब भला

बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण की 78 सीटों पर चुनाव प्रचार का शोर गुरुवार को शाम छह बजे थम गया। चुनाव प्रचार के आखिरी दिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 5 जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान धमदाहा में नीतीश ने इस बार के विधानसभा चुनाव को अपना आखिरी चुनाव बताते हुए उन्होंने जनता से अपने नेतृत्व वाले राजग प्रत्याशियों को वोट देने की अपील की।

05/11/2020