Dainik Navajyoti Logo
Friday 18th of June 2021
 
भारत

गगनयान मिशन पर भी कोरोना का असर, रूस में लॉकडाउन के कारण अंतरिक्ष यात्रियों की ट्रेनिंग थमी

Tuesday, April 07, 2020 15:45 PM
फाइल फोटो।

नई दिल्ली। कोरोना का असर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो के महत्वकांक्षी मिशन 'गगनयान' पर भी पड़ा है। रूस में लॉकडाउन की वजह से यूरी ए. गैगरीन रिसर्च एंड टेस्ट कॉस्मोनॉट ट्रेनिंग सेंटर में भी कामकाज बंद होने से यहां भारत के चार अंतरिक्ष यात्री की ट्रेनिंग भी रुक गई है। अब यह मिशन तब तक आगे नहीं बढ़ेगा जब तक रूस में कोरोना की वजह से लगा लॉकडाउन खत्म नहीं होता। पिछले साल भारत और रूस के बीच गगनयान मिशन को लेकर एक समझौता हुआ था। इसके तहत इनकी ट्रैनिंग इस साल 10 फरवरी में शुरू हुई थी। इसरो ने गगनयान मिशन के लिए वायुसेना के 4 पायलट का चयन किया था। इनमें एक ग्रुप कैप्टन और तीन विंग कमांडर शामिल हैं। पिछले साल 2 जुलाई में इसरो ने इन पायलट को प्रशिक्षित करने के लिए रूस की अंतरिक्ष एजेंसी ग्लावकॉस्मोस के साथ एक समझौता किया था।

वायुसेना के पायलटों को ट्रेनिंग के लिए रूस के यूरी ए. गागरिन स्टेट साइंटिफिक रिसर्च एंड टेस्टिंग कॉस्मोनॉट ट्रेनिंग सेंटर भेजा गया है। इसरो के ह्यूमन स्पेस लाइट सेंटर और रूस के स्टेट स्पेस कॉर्पोरेशन रोस्कॉस्मोस की कंपनी ग्लावकॉस्मोस के बीच इसके लिए 27 जून 2019 को समझौता हुआ था। इस ट्रेनिंग सेंटर का नाम 12 अप्रैल 1961 को अंतरिक्ष जाने वाले पहले इंसान यूरी गागरिन के नाम पर रखा गया है। सोवियत वायुसेना के पायलट गागरिन ने वोस्टोक-1 कैप्सूल में बैठकर पृथ्वी की कक्षा का चक्कर लगाया था। ग्लावकोस्मॉस ने कहा कि भारत के पायलटों को असमान जलवायु और भौगोलिक परिस्थिति में लैंडिंग का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

आमतौर पर किसी भी स्पेस मिशन में जाने लायक बनने में रूसी अंतरिक्ष यात्रियों को 5 साल की कठिन ट्रेनिंग से गुजरना पड़ता है। लेकिन भारत ने 2022 की शुरुआत में मानव मिशन भेजने का फैसला किया है। इसी वजह से भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों के लिए 12 महीने का ट्रेनिंग प्रोग्राम डिजाइन किया गया है। गागरिन ट्रेनिंग सेंटर के हेड वलासोव के मुताबिक यह ट्रेनिंग प्रोग्राम खासतौर पर भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। इसमें एडवांस इंजीनियरिंग कोर्स के साथ ही सामान्य स्पेस ट्रेनिंग और फिजिकिल कंडीशनिंग शामिल हैं। ट्रेनिंग का सबसे रोमांचक हिस्सा सर्वाइवल कोर्स है। इसमें किसी अनहोनी की सूरत में भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को बचाव के गुर सिखाए जा रहे हैं। इसमें यह बताया जा रहा कि अगर धरती पर लौटने के दौरान उनका यान कहीं जंगल में लैंड हुआ तो क्या करना है। फिलहाल, भारतीय अंतरिक्ष यात्री मॉस्को से लगे जंगली और दलदली इलाके में ट्रेनिंग कर रहे थे।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

सीएए को लेकर याचिकाओं की जल्द सुनवाई करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई जल्द करने की मांग ठुकरा दी। कोर्ट ने कहा कि सबरीमला मामले में महिला अधिकार बनाम धार्मिक परंपरा मामले की सुनवाई के बाद इसे सुना जाएगा।

05/03/2020

शहाबुद्दीन का कोरोना से हो गया निधन

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता एवं पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का कोरोना से निधन हो गया। तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल ने शहाबुद्दीन के निधन की पुष्टि की है।

01/05/2021

MSME सेक्टर के प्रतिनिधियों से नितिन गडकरी ने की चर्चा, मदद का दिलाया भरोसा

केन्द्र सरकार ने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम (एमएसएमई) क्षेत्र से जुड़े लोगों को विश्वास दिलाया है कि उन्हें हर प्रकार की मदद दी जाएगी, लेकिन एमएसएमई क्षेत्र यह भी देखे कि जिनसे उनको मदद की उम्मीद है वह भी इस समय कितने दबाव में हैं।

15/04/2020

निर्भया को 7 साल बाद मिला इंसाफ, दोषियों को तिहाड़ जेल में फांसी पर लटकाया

साल 2012 में राजधानी दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप कांड में शुक्रवार को करीब सात साल के बाद आखिरकार इंसाफ हुआ। तिहाड़ जेल के फांसी घर में सुबह ठीक 5.30 बजे निर्भया के चारों दोषियों को फांसी दे दी गई। निर्भया के चारों दोषियों विनय, अक्षय, मुकेश और पवन गुप्ता को एक साथ फांसी के फंदे पर लटकाया गया।

20/03/2020

सायना नेहवाल ने की हैदराबाद एनकाउंटर पर पुलिस की तारीफ

रेप और मर्डर के चारों आरोपियों को पुलिस के एनकाउंटर में मार गिराने की पूरे देश में तारीफ हो रही है।

06/12/2019

चुनाव आयोग का नाम बदलकर रखना चाहिए एमसीसी : ममता

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर हमला किया है। ममता ने कहा कि चुनाव आयोग का नाम बदलकर एमसीसी यानी मोदी कोड ऑफ कंडक्ट रखना चाहिए।

11/04/2021

देश की आवाज नहीं दबा सकते मोदी-शाह, कांग्रेस बनेगी सबकी आवाज: राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह नफरत फैलाकर देश को बांटने के लिए लोगों की आवाज दबाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन कांग्रेस उनकी विभाजनकारी नीतियों का मजबूती से मुकाबला करेगी तथा देश की आवाज को दबने नहीं देगी।

24/12/2019