Dainik Navajyoti Logo
Thursday 21st of October 2021
 
भारत

कांग्रेस ने फिर की राफेल की कीमत सार्वजनिक करने की मांग

Wednesday, July 29, 2020 16:15 PM
दिग्विजय सिंह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। फ्रांस से पांच राफेल विमानों की पहली खेप देश में पहुंचने के बीच कांग्रेस ने एक बार फिर इसकी कीमत को सार्वजनिक करने की मांग की है। कांग्रेस महासचिव एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि एक राफेल की कीमत कांग्रेस सरकार ने 746 करोड़ रुपए तय की थी, लेकिन 'चौकीदार' महोदय कई बार संसद और संसद के बाहर मांग करने के बावजूद आज तक एक राफेल कितने में खरीदा है, बताने से बच रहे हैं। क्यों? क्योंकि चौकीदार जी की चोरी उजागर हो जाएगी!! 'चौकीदार' जी अब तो उसकी कीमत बता दें।

कांग्रेस सांसद ने कहा कि आखिर राफ़ेल फाइटर प्लेन आ गया। 126 राफ़ेल खरीदने के लिए कांग्रेस के नेतृत्व में संप्रग ने 2012 में फैसला लिया था और 18 राफेल को छोड़कर बाकी भारत सरकार की हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड में निर्माण का प्रावधान था। यह भारत के आत्मनिर्भर होने का प्रमाण था। एक राफेल की कीमत 746 करोड़ तय की गई थी। सिंह ने आगे लिखा कि मोदी सरकार आने के बाद फ्रांस के साथ मोदी जी ने बिना रक्षा व वित्त मंत्रालय व कैबिनेट कमेटी की मंजूरी के नया समझौता कर लिया और हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड का हक मार कर निजी कम्पनी को देने का समझौता कर लिया। राष्ट्रीय सुरक्षा की अनदेखी कर 126 राफेल खरीदने के बजाए केवल 36 खरीदने का निर्णय ले लिया। बता दें कि वर्ष 2019 के आम चुनाव में राफेल की कीमत का मुद्दा कांग्रेस ने जोरशोर से उठाया था, यहां तक कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट में भी पहुंचा था।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

पुलवामा मुठभेड़ में तीन आतंकवादी ढेर, दोनों तरफ से हो रही फायरिंग

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में घेराबंदी एवं तलाश अभियान के दौरान शनिवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये।

18/05/2019

अमेरिका चाहता है कि भारत व्यापार क्षेत्र की अड़चनों को कम करे: पोम्पियो

अमेरिका ने अपने विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के प्रधानमंत्री नेरन्द्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से अहम बैठक से पहले मजबूत द्विपक्षीय व्यापरिक संबंधों पर जोर देते हुए कहा है कि डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन की दिली इच्छा है कि भारत, व्यापार अड़चनों को कम करे और निष्पक्ष एवं पारस्परिक कारोबार की तरफ बढ़े।

26/06/2019

कोविंद, शाह और जावड़ेकर ने इसरो पर जताया गर्व

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने चंद्रमा की सतह पर उतरने से पहले विक्रम लैंडर से संपर्क टूटने के बाद कहा कि चंद्रयान-2 मिशन के साथ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की पूरी टीम ने अनुकरणीय प्रतिबद्धता और साहस दिखाया है।

07/09/2019

UGC के यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में अंतिम वर्ष की परीक्षा संबंधी आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती

सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में 30 सितम्बर तक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित करने के दिशानिर्देश संबंधी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग का हालिया आदेश रद्द करने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। दस से अधिक छात्रों ने यूजीसी के 6 जुलाई के दिशानिर्देशों को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देते हुए याचिका दायर की है।

20/07/2020

स्वास्थ्य मंत्रालय का दिल्ली हाईकोर्ट में हलफनामा, कार में अकेले के लिए मास्क पहनना अनिवार्य नहीं

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने दिल्ली हाईकोर्ट को सूचित किया है कि कार में अकेले के लिए मास्क पहनने संबंधी मत्रालय की ओर कोई निर्देश नहीं दिए गए हैं। एक अधिवक्ता सौरम शर्मा की ओर से दायर याचिका पर एक हलफनामे पर सरकार ने अपना यह रूख व्यक्त किया है।

10/01/2021

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को दिया मजदूरों के भोजन की व्यवस्था करने का आदेश

कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन किया गया है। इसके बाद शहरों से मजदूर पलायन करने लगे। इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई की।

31/03/2020

कोरोना पर मंथन: PM मोदी ने कहा- थोड़ी सी ढिलाई भी घातक, एकजुट होकर करना होगा मुकाबला

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि देश में कोरोना जिस भयानक रफ्तार से फैल रहा है वह चिंता का विषय है लेकिन सभी को राजनीति से ऊपर उठकर इस चुनौती से निपटने के लिए एकजुट होकर तेजी से कदम उठाने होंगे क्योंकि थोड़ी सी भी ढिलाई घातक सिद्ध हो सकती है।

09/04/2021