Dainik Navajyoti Logo
Sunday 13th of June 2021
 
भारत

अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी को लेकर BJP का निशाना, कहा- प्रेस ही नहीं न्यायपालिका को भी नहीं छोड़ती कांग्रेस

Wednesday, November 04, 2020 14:40 PM
संबित पात्रा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जाने माने टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी के विरुद्ध महाराष्ट्र पुलिस की कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि इस घटना में शिवसेना के कंधे पर कांग्रेस का हाथ है और उसने प्रेस के साथ-साथ न्यायपालिका को भी शिकार बनाया है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा कि अर्नब गोस्वामी के साथ जो हुआ है, ये पत्रकारिता जगत के लिए एक काला दिन है। उनके बेटे के ऊपर अटैक करना, उनके घर से उनको घसीट कर ले जाना और वह भी एक ऐसे केस में जो 2018 में बंद हो गया था। अगर आज हम एकजुट नहीं होंगे तो कल बारी हम सबकी है।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर इशारा करते हुए कहा कि मुसोलिनी के दाहिने हाथ रह चुके पिता की पुत्री आज जिस प्रकार भारत में माफियाराज स्थापित कर रही है, ये आप सबके सामने है। उन्होंने कहा कि सिर्फ किसी एक चैनल के नहीं, बल्कि सभी चैनलों के अधिकार के लिए आज हम आवाज उठा रहे हैं। मां-बेटे की माफिया सरकार ने सिर्फ प्रेस के ऊपर ही आघात नहीं किया, बल्कि जब इनके पक्ष में फैसला नहीं आता तो ये मुख्य न्यायाधीश को भी नहीं छोड़ते। उन्होंने कहा कि कंधा शिवसेना का है, मगर वो बंदूक, बारूद और सारा कुछ, उन मां-बेटे का है जो हिंदुस्तान में लोकतंत्र को समाप्त करने के लिए लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय हम कोविड वैश्विक महामारी से लड़ रहे हैं, महाराष्ट्र सरकार उन विभिन्न चैनलों के पत्रकारों को गिरफ़्तार कर रही है जो महाराष्ट्र सरकार के कार्यकलापों पर सवाल उठा रहे हैं।

संबित पात्रा ने कहा कि जब तत्कालीन प्रधानमंत्री दिवंगत राजीव गांधी नौसेना के विमानवाहक पोत आईएनएस विराट पर लक्षद्वीप पर छुट्टी मनाने गए थे, तो इंडियन एक्सप्रेस ने समाचार प्रकाशित किया था। तब इंडियन एक्सप्रेस के साथ वैसा ही व्यवहार हुआ था जैसा आज महाराष्ट्र सरकार पत्रकारों के साथ व्यवहार कर रही है। उस समय राजीव गांधी सरकार जुलाई 1988 में मानहानि विधेयक लाई थी ताकि प्रधानमंत्री के विरुद्ध किसी को भी लिखने से रोका जा सके। तब मीडिया एकजुटता और बहादुरी से लड़ा था और इस विधेयक को पारित नहीं होने दिया था।

टीवी पत्रकार की गिरफ्तारी पर भाजपा का आक्रोश खेदजनक: कांग्रेस
कांग्रेस ने एक टीवी चैनल के संपादक की गिरफ्तारी को लेकर भाजपा के आक्रोश पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए इसे खेदजनक स्थिति बताया और कहा कि कानून को अपना काम करते रहना चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि जो भाजपा एक टीवी संपादक की गिरफ्तारी पर आक्रोश व्यक्त कर रही है, लेकिन देश के अन्य हिस्सों में पत्रकारों पर हुए हमले पर उसने चुप्पी क्यों साधे रखी है और वह पीड़ित पत्रकारों के साथ खड़ी क्यों नहीं हुई। ऐसी स्थिति में उनके मुंह से कोई शब्द क्यों नहीं निकलते है।

उन्होंने कहा की वह पत्रकारिता को समझती हैं और गिरफ्तार टीवी संपादक जो पत्रकारिता कर रहे हैं वह शर्मनाक है और भाजपा के एजेंडा को पत्रकारिता के माध्यम से चलाने का काम कर रहे है। प्रवक्ता ने कहा कि इन संपादकों ने पत्रकारिता का मखौल बना कर दिया है। यह दुखद स्थिति है कि अपने स्टूडियो में कुछ लोगों को बिठाकर अनर्गल आरोप लगाते है और एक एजेंडा को थोपने का काम करते है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, अकोला और परभणी में लॉकडाउन और औरंगाबाद-पुणे में नाइट कर्फ्यू लागू

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के के मामले तेजी से बढ़ रहे है। इसके देखते हुए परभणी में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है।

12/03/2021

PM मोदी के राममंदिर भूमि पूजन में जाने पर ओवैसी ने उठाया सवाल, बताया संवैधानिक शपथ का उल्लंघन

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिममीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 5 अगस्त को अयोध्या में राममंदिर भूमिपूजन में शामिल होने के लिए वहां जाने को लेकर सवाल उठाते हुए इसे संवैधानिक शपथ का उल्लंघन बताया है।

28/07/2020

अयोध्या में आतंकी हमले के इनपुट पर सुरक्षा इंतजाम कड़े, एटीएस की तैनाती

अयोध्या में मंदिर की जमीन पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले आने के बाद गड़बड़ी की आशंका और आतंकवादियों के राम की नगरी में मौजूदगी के खुफिया विभाग की सूचना के बाद सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

06/11/2019

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए अहमदाबाद में 57 घंटे का कर्फ्यू, बाजारों में रहा अफरातफरी का माहौल

गुजरात के अहमदाबाद में शुक्रवार को रात 9 बजे से सोमवार को सुबह 6 बजे तक लगातार 57 घंटे तक कर्फ्यू लगाने की राज्य सरकार की घोषणा के बाद राज्य के इस सबसे बड़े शहर के बाजारों में अफरातफरी का माहौल रहा। सरकार की कर्फ्यू की घोषणा से कई स्थानों पर लोग ग़ुस्से में दिखे।

20/11/2020

पहले चरण में पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में सबसे अधिक 81 फीसदी वोट पड़े

पहले चरण में पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में सबसे अधिक 81 फीसदी वोट पड़े

12/04/2019

राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना, कहा- देश के किसानों की आय बिहार के किसान जितनी करना चाहती है सरकार

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों की आय को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला किया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि देश का आम कृषक पंजाब के किसान के बराबर आय चाहता है लेकिन मोदी सरकार चाहती है कि देश के सब किसानों की आय बिहार के किसान जितनी हो जाए।

11/12/2020

कोरोना वायरस को लेकर दहशत नहीं फैलाएं, सरकार पूरी तरह से तैयार : हर्षवर्धन

केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मीडिया खासकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से आह्वान किया है कि कोरोना वायरस को लेकर आम जनता में दहशत नहीं फैलाएं बल्कि उन्हें सही जानकारी प्रदान कर जागरूक बनाने की जरूरत है।

04/03/2020