Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 5th of August 2020
 
भारत

पुलवामा अटैक बरसी : 40 शहीदों को CRPF का सलाम, कहा- 'हम भूले नहीं, हमने भुलाया नहीं'

Friday, February 14, 2020 10:20 AM
फोटो साभार[email protected]

नई दिल्ली। पाकिस्तान की नापाक करतूत के कारण पिछले साल आज ही के दिन देश ने अपने 40 वीर जवानों को खो दिया था। पुलवामा में हुए आतंकी हमले की आज पहली बरसी है और देश शहीद जवानों को सलाम कर रहा है। सीआरपीएफ ने भी अपने जवानों को याद किया है। सीआरपीएफ ने ट्वीट कर लिखा कि तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं, गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं। आगे लिखा कि 'हम भूले नहीं, हमने भुलाया नहीं। हम अपने भाईयों को सलाम करते हैं, जिन्होंने पुलवामा में देश के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया। हम अपने बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं।

दरअसल आज से ठीक एक साल पहले 14 फरवरी 2019 को एक आतंकी घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। उस आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर हमलावर ने विस्फोटक भरी कार से सीआरपीएफ काफिले की एक बस को टक्कर मार दी थी। इस दौरान तेज धमाका हुआ और बस के परखच्चे उड़ गए। इसके बाद घात लगाए आतंकियों ने अंधाधुंध फायरिंग भी की। हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

14 फरवरी 2019 को दोपहर करीब 3.30 बजे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर करीब 2500 जवानों को लेकर 78 बसों में सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था। सामान्य दिन की तरह ही उस दिन भी वाहनों का काफिला अपनी धुन में जा रहा था। हालांकि घाटी में आतंकी गतिविधियों को देखते हुए काफिले में चल रहे सुरक्षाकर्मी सतर्क थे। सड़क पर उस दिन भी सामान्य आवाजाही थी। सीआरपीएफ का काफिला पुलवामा पहुंचा ही था, तभी सड़क के दूसरे साइड से आ रही एक कार ने सीआरपीएफ के काफिले की एक बस में टक्‍कर मार दी। जैसे ही विस्फोटकों से लदी कार टकराई और जब तक सीआरपीएफ के जवान कुछ समझ पाते इतना तेज धमाका हुआ, कि पूरा देश दहल उठा और 14 फरवरी (वैलेंटाइन डे) का दिन भारत के इतिहास में काला दिन साबित हो गया।

सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले में न सिर्फ जवान शहीद हुए, बल्कि बस के परखच्चे उड़ गए। दूसरे वाहनों में बैठे जवान कुछ समझ पाते कि घात लगाए आतंकियों ने गोलियां बरसानी शुरू कर दी। इसके बाद भारतीय जवानों ने भी पोजिशन ली और काउंटर फायरिंग शुरू कर दी। सीआरपीएफ जवानों की फायरिंग देख आतंकी वहां से भाग निकले। धमाका इतना जबरदस्त था कि कुछ देर तक सब कुछ धुआं-धुआं हो गया। जैसे ही धुआं हटा, वहां का दृश्य इतना भयावह था कि इसे देख पूरा देश रो पड़ा। उस दिन पुलवामा में जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जवानों के शव इधर-उधर बिखरे पड़े थे। चारों तरफ खून ही खून और मांस के टुकड़े दिख रहे थे। जवान अपने साथियों की तलाश में जुट गए। तुरंत पूरे देश में हाहाकार मच गया, क्योंकि तब तक हमारे देश के 40 बहादुर जवान शहीद हो चुके थे। कई जवान घायल अवस्था में तड़प रहे थे। सेना ने बचाव कार्य शुरू किया और उन्हें तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया। बचाव कार्य और सर्च ऑपरेशन दोनों एक साथ चल रहे थे।

इस हमले को अंजाम देने वाला आत्मघाती हमलावर आतंकी आदिल अहमद डार था। आतंकी आदिल अहमद डार ही उस कार को चला रहा था, जिसमें विस्फोटक थे। इसने खुद को इस हमले में उड़ा लिया। घटना के तुरंत बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी। इस घटना ने देश को ऐसे झकझोरा कि सबके जुबान पर इसके बदले की बात आ गई। सभी आतंकियों से बदले की बात कर रहे थे। मीडिया और सोशल मीडिया से सरकार पर दबाव बन रहा था। हर नागरिक, सिविल सोसाइटी और विपक्ष सरकार को आतंकवादियों और उसके आका पाकिस्तान से बदला लेने के लिए कह रहा था। फिर आखिरकार ऐसा हुआ भी। भारतीय सेना ने पुलवामा हमले के ठीक 12 दिन बाद आतंकियों पर हमला किया।

पुलवामा हमले के ठीक 12 दिन बाद 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद कै ठिकानों पर एयरस्ट्राइक कर दिया। इस एयरस्ट्राइक में भारतीय वायुसेना ने इतनी बमवर्षा की कि उसके आतंकी ठिकाने पूरी तरह से ध्वस्त हो गए और करीब 300 आतंकवादी मारे गए। इस तरह से भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी शिविरों को नेस्तनाबूत कर पुलवामा अटैक का बदला ले लिया। इन दो घटना के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनातनी खूब बढ़ गई। बता दें कि भारत ने पुलवामा अटैक में शामिल सभी आतंकवादियों को भी धीरे-धीरे मार गिराया।

यह भी पढ़ें:

इमरान का कबूलनामा, कहा, अमेरिका की मदद के लिए पाक ने तैयार किए जेहादी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान एक के बाद एक अपने देश की नापाक करतूतों को कबूल कर रहे हैं। इमरान खान ने एक इंटरव्यू में कबूल किया है कि 1980 में अफगानिस्‍तान में सोवियत संघ के खिलाफ लड़ने के लिए पाकिस्‍तान ने जेहादियों को तैयार किया था।

13/09/2019

जनसंख्या नियंत्रण से जुड़ी याचिका पर केंद्र को नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने देश में जनसंख्या नियंत्रण के लिए कदम उठाये जाने संबंधी याचिका पर केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया।

10/01/2020

'भारत की लक्ष्मी' को दे प्रोत्साहन : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की समृद्धि के लिए बेटियों को प्रोत्साहन देने का आह्वान करते हुए रविवार को कहा कि उन्हें 'भारत की लक्ष्मी' मानकर एक अभियान चलाया जाना चाहिए।

29/09/2019

मोदी ने बाबा विश्वनाथ का लिया आशीर्वाद, गूंजे हर-हर महादेव और मोदी-मोदी के जयकारे

बाबतपुर हवाई अड्डे पर मोदी का स्वागत भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय ने किया।

27/05/2019

तीन तलाक और हलाला जैसी कुप्रथाएं खत्म करना सरकार की प्राथमिकता: रामनाथ कोविंद

संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मोदी सरकार के पांच साल के एजेंडे को सामने रखा।

21/06/2019

आचार्य बालकृष्ण सीने में दर्द के बाद एम्स में भर्ती

पतंजलि योगपीठ के प्रमुख बाबा रामदेव के मुख्य सहयोगी आचार्य बालकृष्ण को सीने में दर्द के बाद एम्स ऋषिकेश में भर्ती करवाया गया है।

24/08/2019

कोविड-19: लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लेने पर प्रधानमंत्री मोदी ने जाहिर की चिंता

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं लिए जाने पर चिंता जाहिर करते हुए सभी राज्य सरकारों से नियमों और कानूनों को सुनिश्चित कराने का सोमवार को अनुरोध किया। मोदी ने ट्वीट कर कहा, लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।

23/03/2020