Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 11th of May 2021
 
भारत

कश्मीर में आतंक के लिए इस्तेमाल हुआ इंटरनेट, सोशल मीडिया : एनयूजेआई रिपोर्ट

Sunday, January 12, 2020 18:35 PM
सांकेतिक तस्वीर।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर को अस्थिर करने के लिए पाकिस्तान, उसके प्रायोजित आंतकवादी और अलगाववादी संगठनों ने इंटरनेट और सोशल मीडिया का इस्तेमाल आतंकवाद को बढ़ावा देने, घाटी में भारत विरोधी भावनाएं भड़काने तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फेक न्यूज अभियान चलाने के लिए हथियार के रूप में किया है। यह खुलासा नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्टस इंडिया (एनयूजेआई) द्वारा प्रगति मैदान में चल रहे विश्व पुस्तक मेले में जारी की गई एक रिपोर्ट 'कश्मीर का सच' में किया गया है।

एनयूजेआई की अध्ययन रिपोर्ट का माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रिकारिता जनसंचार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. बी. के. कुठियाला, वरिष्ठ पत्रकार उमेश उपाध्याय, राज्यसभा टीवी के कार्यकारी संपादक राहुल महाजन, पांचजन्य के संपादक हितेश शंकर ने विमोचन किया। रिपोर्ट में जम्मू-कश्मीर को दो भागों में विभाजित करने एवं अनुच्छेद 370 की धारा 2 एवं 3 को विलोपित करने और 35ए को समाप्त करने के बाद 6 महीने के दौरान जम्मू कश्मीर और लद्दाख में ऐतिहासिक बदलाव के पलों को, इस दौरान घटी घटनाओं, राजनीतिक और सामाजिक तानेबाने से संबंधित विभिन्न पहलुओं, कश्मीर में इंटरनेट पर पांबदी से लेकर सुरक्षा और आतंक के फलने-फूलने जैसे मुद्दों का विश्लेषण किया गया है।

केन्द्र शासित प्रदेश में अलगाववादियों एवं स्थानीय राजनीतिक दलों के तीखे विरोध एवं मीडिया की रिपोर्टों में एक खास प्रकार की तस्वीर उभारे जाने के बीच जमीनी हालात का जायजा लेने के लिए एनयूजेआई के नेतृत्व में विभिन्न मीडिया संस्थानों के पत्रकारों के 3 प्रतिधिनिधिमंडलों ने सितंबर 2019 में जम्मू, लद्दाख एवं कश्मीर घाटी का दौरा किया था। एनयूजेआई के राष्ट्रीय महासचिव मनोज वर्मा और दिल्ली जर्नलिस्टस एसोसिएशन के महासचिव सचिन बुधौलिया ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत के भीतर और अंतरराष्ट्रीय फलक पर विभिन्न प्रकार की चर्चाएं होती रही हैं। चर्चा होना अच्छी बात है लेकिन चर्चाओं को एक खास रुख देने वाले लोग जो जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के भूगोल से भी परिचित नहीं हैं, जब वे कोई चर्चा करते हैं तो उसे भांपने, परखने और सही तथ्यों को दुनिया के सामने रखने की जिम्मेदारी मुख्य धारा के मीडिया तंत्र की हो जाती है। इसलिए नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्टस इंडिया के पत्रकार साथियों ने इस पुस्तिका के जरिए कश्मीर के सच को दुनिया के सामने रखने की पहल की है। मीडिया की, मीडिया के द्वारा, मीडिया के लिए यह पहल है ताकि संवाददाता बेहतर सवालों, तथ्यों के साथ न्याय कर सकें। फेक न्यूज के कुचक्र से बच सकें और मीडिया की साख कायम हो सके।

रिपोर्ट में कहा गया है कि कश्मीर घाटी में आतंकवादी बुरहान वानी की मौत के बाद पाकिस्तान और अलगावादी संगठनों ने सोशल मीडिया के जरिए ही कश्मीर में हिंसक प्रदर्शन को बढ़ावा देने के लिए कुप्रचार किया, जिसका परिणाम यह हुआ कि 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई। आतंकवादी बुरहान वानी ने खुद भी आतंक को फैलाने और कश्मीरी नौजवानों को गुमराह करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया। पाकिस्तान और अलगाववादी संगठनों ने 5 अगस्त 2019 को कश्मीर में अनुच्छेद 370 के निष्प्रभावी होने के बाद भी सोशल मीडिया के जरिए आतंक और हिंसा फैलाने की साजिश रची थी, लेकिन सुरक्षा के तहत इंटरनेट पर पांबदी और सुरक्षा एजेंसियों की सजगता के चलते पाकिस्तान, आंतकवादी और अलगावादी संगठन अपने मकसद में सफल नहीं हो पाए।

यह रिपोर्ट पुस्तिका जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के नागरिक समूह, हित धारकों से लेकर विभिन्न रूझान रखने वाले समूह और शांत एवं अशांत क्षेत्रों से गुजरते हुए जो देखा, समझा और उसके आधार पर अलग-अलग पहलुओं को सामने रखने वाली है इसलिए यह रिपोर्ट कश्मीर के असल मुद्दों और समस्या के साथ-साथ समाधान भी दिखाती है। असल में अनुच्छेद 370 तथा 35ए के निष्प्रभावी होने के बाद देश के राजनीतिक गलियारों में कश्मीर घाटी को लेकर प्रचारित बातों का जमीनी आकलन करने पर अनेक दिलचस्प पहलू सामने आए। लिहाजा यह रिपोर्ट देश के नीति निर्धारकों के लिए भी पत्रकारों की दृष्टि से समस्याओं को समझने और उसका समाधान करने में उपयोगी साबित होगी।

यह भी पढ़ें:

पटनायक पांचवीं बार बने ओडिशा के मुख्यमंत्री

बीजू जनता दल के प्रमुख नवीन पटनायक ने बुधवार को यहां एक्जीबिशन ग्राउंड में लगातार पांचवीं बार ओडिशा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

30/05/2019

देश में पिछले 24 घंटे में 6 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज आए सामने, आंकड़ा 1.18 लाख के पार

देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 6088 नए मामले सामने आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 1,18,447 पर पहुंच गई है, हालांकि राहत की बात यह है कि इस दौरान 3000 से ज्यादा लोगों ने इस संक्रमण से निजात भी पाई है।

22/05/2020

मानसून हुआ सक्रिय, उत्तर भारत में एक हफ्ते में दे सकता है दस्तक

बिहार और पूर्वी यूपी में एक सप्ताह में मानसून पहुंचेगा। मौसम विभाग ने बताया कि मानसून सक्रिय हो गया है और उत्तर भारतीय राज्यों में पहुंचने में हफ्ते भर का समय लग सकता है।

22/06/2019

विवादित ढांचा मंदिर के अवशेष पर बनाया गया था या उसे ढहाकर

अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद की सुनवाई एक दिन के विराम के बाद मंगलवार को आठवें दिन फिर शुरू हुई, जिसमें रामलला विराजमान ने कहा कि विवादित ढांचा या तो मंदिर के अवशेष पर स्थापित किया गया या उसे ढहाकर।

21/08/2019

देशभर में कोरोना के 170 हॉटस्पॉट, जिलों को 3 जोन में बांटा जाएगा: स्वास्थ्य मंत्रालय

केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के कारण लागू किए गए लॉकडाउन के दूसरे चरण के लिए बुधवार को नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि हर केस पर कड़ी नजर रखी जा रही है और सभी राज्यों को क्राइसिस मैनेजमेंट प्लान बनाने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही राज्यों को अलग से कोविड-19 अस्पताल बनाने के लिए भी कहा गया है।

15/04/2020

ड्रग्स मामला: 18 जनवरी तक एनसीबी की कस्टडी में भेजे गए नवाब मलिक के दामाद समीर खान

एनसीबी ने कई स्थानों पर छापेमारी की है। एनसीबी ने समीर खान को ड्रग्स मामले में गिरफ्तार किया है। एनसीबी ने बताया कि समीर खान को गिरफ्तार करने के बाद ड्रग्स मामले में जांच तेज कर दी है।

14/01/2021

उत्तर प्रदेश: गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मशान घाट की छत गिरने से 23 लोगों की मौत, कई घायल

उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद के मुरादनगर में रविवार को श्मशान घाट परिसर की छत गिरने से 23 लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए। घायलों को पास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

03/01/2021