Dainik Navajyoti Logo
Friday 23rd of October 2020
 
भारत

कांग्रेस सांसद शशि थरूर के बयान की BJP ने की निंदा, कहा- पाकिस्तान के मंच से देश को दिखाया नीचा

Sunday, October 18, 2020 14:20 PM
संबित पात्रा ने शशि थरूर के बयान की निंदा की।

नई दिल्ली। पाकिस्तान के मंच से कांग्रेस सांसद शशि थरूर के विवादित बयान की निंदा करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि है कि वह (थरूर) पाकिस्तान में देश को नीचा दिखाने और बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि क्या कांग्रेस पाकिस्तान में चुनाव लड़ना चाहती है। उन्होंने कहा कि शशि थरूर ने भारत का मजाक बनाया है और भारत को एक खराब परिदृश्य से दिखाने की कोशिश की है। संबित पात्रा ने कहा कि थरूर ने लाहौर लिटरेचर फ़ेस्टिवल में वर्चुअल माध्यम से पाकिस्तान के मंच से कहा था कि भारत में मुसलमानों और उत्तर-पूर्व के लोगों के साथ भेदभाव होता है। उन्होंने कहा कि भारत में एक दूसरे से डर का माहौल है। चीनी जैसे दिखने वाले लोगों के साथ भेदभाव होता है। उन्होंने तबलीगी जमात का पक्ष लेते हुए कहा कि कोरोना के समय में मुसलमानों को परेशान किया गया। ऐसा बयान देकर उन्होंने भारत का अपमान किया है।

संबित पात्रा ने कहा कि कोई और देश भारत जैसा लोकतांत्रिक नहीं है। यहां सबके लिए चिंता की जाती है। थरूर ने पाकिस्तानी मीडिया से भारत की बुराई की। कल्पना नहीं की जा सकती कि हिंदुस्तान का एक सांसद ऐसा बयान भी दे सकता है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि थरूर पाकिस्तान के मंच से कहते हैं कि तबलीगी जमात को लेकर किस तरह का पक्षपात हिंदुस्तान की सरकार कर रही है और मुसलमानों के खिलाफ कट्टरता दिखा रही है। थरूर यह बात पाकिस्तान जाकर बोल रहे हैं। उन्होंने कभी पाकिस्तान से पूछने की हिम्मत की कि पाकिस्तान किस तरफ अल्पसंख्यकों पर अत्याचार करता है और कट्टरता दिखाता है। रोज पता चलता है कि वहां हिंदुओं, ईसाइयों और सिखों के साथ क्या हो रहा है। वहां किसी अस्पसंख्यक का अपहरण, दुष्कर्म और हत्या आम बात हो गई है। आखिर ये लोग क्या चाहते हैं। क्या पाकिस्तान से कांग्रेस चुनाव लड़ना चाहती है।

पात्रा ने कहा कि कोविड को लेकर पूरा विश्व देख रहा है कि हिंदुस्तान को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने किस प्रकार से सुरक्षित रखा, समय से लॉकडाउन हुआ, किस प्रकार 80 करोड़ लोगों को खाद्यान्न पहुंचाने का काम किया गया और आगे छठ पूजा तक चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी चीन और पाकिस्तान में पहले ही हीरो बन चुके हैं। उन्होंने आर्टिकल 370 हटने के बाद बयान दिया था कि कश्मीर में सैंकड़ों लोग मारे गए हैं। इसके बाद उनके बयान का इस्तेमाल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र में किया था और कहा था कि भारत के बहुत बड़े नेता ने जम्मू कश्मीर में अत्याचार की बात कही है।

यह भी पढ़ें:

कम्युनिकेशन सिस्टम से संपर्क स्थापित हो जाए तो दोबारा खड़ा हो सकता है लैंडर विक्रम

चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडर का पता चल गया है। ऑर्बिटर ने थर्मल इमेज कैमरा से उसकी तस्वीर ली है। इसरो लैंडर से संपर्क साधाने की कोशिश कर रहा है।

09/09/2019

भारत की अर्थव्यवस्था को भाजपा सरकार ने अपनी नाकामी के चलते बर्बाद कर दिया: प्रियंका गांधी

वाड्रा ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि सरकार देश में बेरोजगारी को कम करने में असफल रही है।

30/11/2019

बिजली क्षेत्र में परिचालन क्षमता बढ़ाने की जरूरत: मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिजली क्षेत्र में परिचालन क्षमता बढाने की जरूरत बताते हुए उपभोक्ताओं की संतुष्टि को अधिक से अधिक महत्व देने को कहा है।

28/05/2020

संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रहीं, भारत का मुसलमान मोदी सरकार से नहीं डरता: सिब्बल

कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य एवं पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम ने नागरिकता संशोधन विधेयक को पूरी तरह से असंवैधानिक बताते हुये बुधवार को राज्यसभा में कहा कि अब इस विधेयक को न्यायलय में चुनौती दी जायेगी तथा इस पर न्यायाधीश और वकील बहस के आधार पर फैसला करेंगे जो संसद के गाल पर तमाचा होगा।

11/12/2019

कर्नाटक में हनी ट्रैप मामले में छह गिरफ्तार

कर्नाटक के मादीकेरी शहर में एक छात्रा सहित छह लोगों को हनी ट्रैप मामले में गिरफ्तार किया गया।

28/09/2019

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की शहीद जवानों को श्रद्धांजलि, कह- दर्द को शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सेना के जांबाजों को श्रद्धांजलि दी और उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि बहादुर सैनिकों को खोने के दर्द को शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता।

17/06/2020

कोरोना संकट के बीच पश्चिम बंगाल में 400 नर्सों ने दिया इस्तीफा, कारणों का खुलासा नहीं

देश में कोरोना वायरस महामारी की चुनौती के बीच पश्चिम बंगाल के अस्पतालों की 400 नर्सें इस्तीफा देकर अपने गृह राज्यों को लौट गई है। रविवार को प्राप्त रिपोर्टो के अनुसार शनिवार को मणिपुर की 185 नर्सें अपने गृह राज्य लौट गई, जबकि ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़ और अन्य राज्यों की 186 नर्सें अपने राज्यों को चली गई है।

17/05/2020