Dainik Navajyoti Logo
Monday 20th of September 2021
 
स्वास्थ्य

SMS में हुआ प्रदेश का 41वां अंगदान, 14 वर्षीय विशाल ने ब्रेन डैड होने के बाद 4 लोगों को दिया जीवनदान

Tuesday, February 02, 2021 12:20 PM
विशाल (फाइल फोटो)

जयपुर। सवाई मानसिंह अस्पताल में 41वां अंगदान किया गया है। चेयरमैन सोटो व प्राचार्य एसएमएस मेडिकल कॉलेज डॉ. सुधीर भंडारी ने बताया कि स्टेट में कार्यरत स्टेट ऑर्गन एंड टिश्यू ट्रांसप्लांट ऑर्गेनाइजेशन की टीम डॉ. अमरजीत मेहता, डॉ मनीष शर्मा, डॉ अजीत सिंह व रोशन बहादुर तथा सवाई मानसिंह असप्ताल के ट्रांसप्लांट को-ऑर्डिनेटरों के अथक प्रयासों से विशाल के परिवारजन को अंगदान के लिए प्रेरित किया गया। डॉ. सुधीर भंडारी ने अंगों के प्रत्यारोपण के लिए ट्रांसप्लांट सर्जन्स का भी आभार प्रकट किया, जिन्होंने देर रात तक अंगों का प्रत्यारोपण किया। दोनों किडनीयों को सवाई मानसिंह चिकित्सालय, लिवर को महात्मा गांधी अस्पताल, जयपुर में प्रत्यारोपित किया गया।

हार्ट व लंग्स का राजस्थान में कोई भी मरीज नहीं होने के कारण ऑर्गन एंड टिश्यू ट्रांसप्लांट आर्गेनाइजेशन के द्वारा हार्ट व लंग्स का आवंटन राजस्थान से बाहर नेशनल ऑर्गन एंड टिश्यू ट्रांसप्लांट आर्गेनाइजेशन भारत सरकार की सहायता से किया गया। हार्ट व लंग्स दोनों ही चेन्नई के अपोलो हॉस्पिटल में 46 वर्षीय महिला को प्रत्यारोपित किए गए। हार्ट व लंग्स को 1 फरवरी 2021 को देर रात 3 बजे ग्रीन कॉरिडोर की सहायता से सवाई मानसिंह अस्पताल से एयरपोर्ट पहुंचाने के लिए जयपुर ट्रैफिक पुलिस की सहायता ली।

बता दें कि जयपुर के बस्सी कस्बे का निवासी विशाल (14 वर्ष) 26 जनवरी 2021 को अपने तीन दोस्तों के साथ बाइक से कहीं जा रहा था। इस दौरा सड़क पर आगे चल रही बस के ड्राइवर ने अचानक ब्रेक लगा दिए, जिससे बाइक असंतुलित होकर बस से टकरा गई। हेलमेट ना पहनने की वजह से विशाल गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया। 31 जनवरी को हालत नाजुक होने के कारण परीक्षण किए गए और विशाल को ब्रेन डैथ घोषित कर दिया गया। परिवार के सदस्यों ने समझाइश के बाद 2 फरवरी को विशाल के अंगों का दान करने का फैसला लिया।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

विश्व में टीबी के करीब 20 प्रतिशत मामले तम्बाकू सेवन से संबंधित : गुप्ता

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के चयेरमैन डॉ. एसडी गुप्ता ने कहा कि विश्व में टीबी के लगभग 20 प्रतिशत मामले तम्बाकू सेवन से संबंधित हैं।

05/12/2019

टीएवीआर तकनीक से 28 वर्षीय गर्भवती महिला का बदला हार्ट वॉल्व

शहर के चिकित्सकों ने एक महिला का तीन माह की गर्भावस्था के दौरान भी बिना सर्जरी के वॉल्व बदलने में सफलता प्राप्त की है। इस प्रोसीजर को सफलता पूर्वक अंजाम देने वाले शहर चीफ इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. रवीन्द्र सिंह राव ने बताया कि 28 वर्षीय यह महिला सिम्पटोमैटिक एओर्टिक स्टेनोसिस से पीड़ित थी।

14/02/2021

विश्व के 83 और भारत के 89 प्रतिशत लोग तनाव में जी रहे : वांगचुक

जयपुरिया इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट, जयपुर में सोमवार को भूटान के पूर्व शिक्षा मंत्री नोरबू वांगचुक का हैप्पीनेस लैसंस फ्रॉम भूटान विषय पर इंटरेनशनल गेस्ट सैशन आयोजित किया गया।

05/11/2019

अचानक बढ़ जाती है दिल की धड़कन तो हो सकता है आईएसटी, जानें डॉक्टर की राय

दिल के साथ-साथ शरीर के अन्य महत्वपूर्ण अंगों जैसे फेफड़े, लीवर, किडनी और दिमाग को भी नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसी ही एक बीमारी इनएप्रोप्रीऐट साइनस टेककार्डिया (आईएसटी) है।

25/12/2019

चीन से भारतीयों को निकालने के लिए रवाना हुआ एयर इंडिया का विमान

एयर इंडिया की विशेष उड़ान शुक्रवार सुबह मुंबई से रवाना हुई। बोइंग 747 विमान रास्ते में दिल्ली से मेडिकल किट लेकर चीन जाएगा।

31/01/2020

SMS अस्पताल में पहली बार मेटल की नली से निकाला एक लीटर से ज्यादा मवाद और अपशिष्ट

पेनक्रियाज की बीमारी से पेट में बनी थी बड़ी गांठ

28/08/2021

अस्थमा नहीं है लाइलाज, इनहेलेशन थैरेपी है कारगर

अस्थमा एक क्रोनिक (दीर्घावधि) बीमारी है जिसमें श्वास मार्ग में सूजन और श्वास मार्ग की संकीर्णता की समस्या होती है जो समय के साथ कम ज्यादा होती है।

03/05/2019