Dainik Navajyoti Logo
Saturday 11th of July 2020
 
स्वास्थ्य

एसएमएस अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में बनेगा स्पेशियलिटी क्लीनिक

Friday, November 22, 2019 09:25 AM
सवाई मानसिंह अस्पताल।

जयपुर। सवाई मानसिंह अस्पताल में अब मिर्गी, लकवा, डिमेंशिया एवं मूवमेंट डिस ऑर्डर के मरीजों के लिए राहत की खबर है। इन मरीजों के लिए अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में जल्द ही स्पेशियलिटी क्लीनिक शुरू की जाएगी। जानकारी के अनुसार अभी न्यूरोलॉजी विभाग में जनरल ओपीडी चलती है। इसमें मिर्गी, लकवा, डिमेंशिया सहित सभी तरह की दिमागी बीमारियों के मरीज आ रहे हैं, लेकिन स्पेशयलिटी क्लीनिक में हर रोग की अलग से क्लीनिक होगी। जैसे मिर्गी का रोगी मिर्गी क्लीनिक में, डिमेंशिया का डिमेंशिया क्लीनिक में ही इलाज करवा सकेगा। इससे ओपीडी में भीड़ कम होगी और बेहतर इलाज मिल सकेगा। इस क्लीनिक के लिए अस्पताल अधीक्षक और एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य की ओर से स्वीकृति मिल गई है और उम्मीद है कि जल्द ही जगह चिन्हित कर इस क्लीनिक को शुरू कर दिया जाएगा।

शोध कार्यों में मिलेगी सहायता
एसएमएस में रोजाना 600 से 800 मरीज न्यूरो के आ रहे हैं। ऐसे में अलग-अलग बीमारियों के मरीजों का रिकॉर्ड रख पाना मुश्किल हो रहा था। अलग-अलग क्लीनिक में मरीजों का रिकॉर्ड मेंटेंन होगा। इससे न केवल रोग का बेहतर तरीके से निदान और इलाज हो पाएगा, बल्कि जनशिक्षा कार्यक्रम भी नियमित रूप से आयोजित किए जा सकेंगे एवं शोध कार्यों में काफी सहायता मिलेगी।

यह भी पढ़ें:

नारायणा हॉस्पिटल में दुर्लभ केस की जटिल सर्जरी, डॉक्टर्स ने बचाई बच्ची की जान

जयपुर के नारायणा हॉस्पिटल में डॉक्टर्स को एक दुर्लभ केस में जटिल सर्जरी कर बच्ची की जान बचाई है। दो साल आठ महीने की काश्वी दिल में छेद, ब्लॉकेज के साथ अत्यंत दुर्लभ जन्मजात विकारों से पीड़ित थी, जिसमें हार्ट और लिवर जैसे महत्वपूर्ण अंग उल्टी दिशा में थे। मामला बेहद जटिल व जोखिम भरा था लेकिन अस्पताल की कार्डियक साइंसेज टीम ने चुनौती स्वीकारी और बच्ची की सफलतापूर्वक सर्जरी की।

03/10/2019

कश्मीर : ताजा संघर्ष में पांच की मौत, अब तक 63 की मौत

कश्मीर में बडग्राम और अनंतनाग जिले में पत्थर फेंक रहे प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच ताजा संघर्षों में आज पांच लोगों की मौत हो गयी और कई अन्य घायल हो गये. घाटी में कर्फ्यू, पाबंदियों और अलगाववादी समर्थित हड़ताल के कारण आज लगातार 39वें दिन जनजीवन प्रभावित हुआ.

16/08/2016

हीमोफीलिया के इलाज में मददगार है ये थैरेपी

हीमोफीलिया से पीड़ित लोगों को सामान्य जीवन जीने में मदद करने में जल्दी जांच, उपचार तक पहुंच और फिजियोथेरेपी का अहम योगदान है।

17/04/2019

लॉकडाउन में 10 हजार से ज्यादा कैंसर मरीजों का किया इलाज, WHO के सुरक्षा नियमों को अपनाते हुए उपचार

कैंसर रोगियों को समय पर उपचार मिले और उनकी बीमारी को फैलने से रोका जा सके इसके लिए लॉकडाउन के समय में भी भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर जयपुर की ओर से 10 हजार से ज्यादा कैंसर रोगियों को उपचार सुविधाएं उपलब्ध कराई गई।

15/06/2020

अस्थमा नहीं है लाइलाज, इनहेलेशन थैरेपी है कारगर

अस्थमा एक क्रोनिक (दीर्घावधि) बीमारी है जिसमें श्वास मार्ग में सूजन और श्वास मार्ग की संकीर्णता की समस्या होती है जो समय के साथ कम ज्यादा होती है।

03/05/2019

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, खोजा ऐसा वायरस जो हर तरह के कैंसर का करेगा खात्मा

दुनियाभर के साथ ही भारत में भी कैंसर की बीमारी तेजी से फैल रही है। इस खतरनाक बीमारी की वजह से हर साल करीब 8 लाख लोगों की मौत हो जाती है। ऐसे में वैज्ञानिकों ने एक ऐसा वायरस खोजा है जो हर तरह के कैंसर को खत्म कर सकता है।

11/11/2019

जयपुर मैराथन : दौड़ लगाकर जयपुरवासियों ने दिया अच्छी फिटनेस रखने का संदेश

कड़ाके की ठंड के बावजूद संडे के दिन देर तक सोने के बजाय देशभर से आए धावकों ने जयपुर मैराथन के 11वें सीजन में भाग लिया। इस दौरान बच्चे, युवा, बुजुर्गों के संग पुलिस, भारतीय सेना और विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता दौड़े।

03/02/2020