Dainik Navajyoti Logo
Saturday 22nd of February 2020
 
स्वास्थ्य

17 वर्षीय हार्ट रिसिपिएंट अस्पताल से डिस्चार्ज, कुछ दिनों तक रहेगा चिकित्सकों की निगरानी में

Friday, February 07, 2020 09:45 AM
अस्पताल से डिस्चार्ज हुआ हार्ट रिसिपिएंट।

जयपुर। प्रदेश के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल में गत दिनों हुए उत्तर भारत के पहले सरकारी स्तर के हार्ट ट्रांसप्लांट किए जाने के बाद 17 वर्षीय हार्ट रिसिपिएंट को गुरुवार को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। वह अब पूरी तरह से स्वस्थ्य है और अपने रोजमर्रा के जरूरी काम करने में सक्षम है। लेकिन उसके बावजूद अस्पताल प्रशासन की ओर से उसे एतिहात के लिए बनीपार्क जयसिंह हाइवे स्थित माधव आश्रम में रखा गया। यहां वह 24 घंटे एक ट्रेंड आईसीयू स्टाफ और परिजनों की निगरानी में रहेगा।

एसएमएस अस्पताल सीटी सर्जरी विभाग के वरिष्ठ आचार्य एवं विभागाध्यक्ष डॉ. अनिल शर्मा ने बताया कि हार्ट रिसिपिएंट को यहां से डिस्चार्ज करने के बाद करीब 15 दिनों के लिए बनीपार्क स्थित माधव आश्रम में डॉक्टर्स के ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा। गुरुवार दोपहर को डॉक्टर की टीम ने उसे माधव आश्रम पहुंचाया। हार्ट रिसिपिएंट की देखदेख के लिए एसएमएस का एक डॉक्टर 24 घंटे उसकी देखरेख में रहेगा।

अस्पताल प्रशासन देगा मरीज के परिजनों को ट्रेनिंग
डॉ. शर्मा ने बताया कि मरीज की समय-समय पर जांच भी कराई जाएगी। उसके बाद उसे गांव भेजा जाएगा। मरीज की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उसके गांव में भी उसके रहने के लिए विशेष इंतजाम किए जाएंगे ताकि उसे किसी प्रकार का इंफेक्शन नहीं हो। इसके लिए मरीज के परिजनों को डॉक्टर्स की तरफ  से ट्रेनिंग भी दी जाएगी। गौरतलब है कि गत 16 जनवरी को सवाईमाधोपुर निवासी 17 वर्षीय युवक को ब्रेन डेड सांवरमल का हार्ट प्रत्यारोपित किया गया था। सांवरमल के परिजनों ने हार्ट के अलावा दोनों किडनियां और लिवर भी डोनेट किया था।

यह भी पढ़ें:

देश में 16 प्रतिशत बच्चों में बिस्तर गीला करने की बीमारी

देश में स्कूल जाने की उम्र वाले 12 से 16 प्रतिशत बच्चे सोते समय बिस्तर गीला करने की समस्या से जूझ रहे हैं। यह समस्या न सिर्फ उनके व्यक्तित्व को प्रभावित करती है बल्कि उनके आत्मविश्वास को भी कमजोर कर रही है।

06/04/2019

भारतीयों में आंखों की बढ़ती बीमारी से चिंता

विश्व दृष्टि दिवस पर हाल में जारी एक शोध के नतीजे में कहा गया है कि भारतीयों में दृष्टि दोष या आंखों के कमजोर और बीमार होने के मामले हाल में बहुत बढ गए हैं।

12/10/2019

बिना चीरफाड़ के अत्याधुनिक तकनीक से बदला हार्ट वॉल्व, मरीज की पहले हो चुकी बायपास सर्जरी

अधिक उम्र पर बायपास सर्जरी का इतिहास एवं कैंसर का सफल उपचार करा चुके 73 वर्षीय नरेन शर्मा (परिवर्तित नाम) को फिर से जब हृदय की गंभीर बीमारी हुई तो अत्याधुनिक तकनीक उनके लिए वरदान साबित हुई। ट्रांसकैथेटर एओर्टिक वॉल्व इम्प्लांटेशन(टावी) द्वारा मरीज की सिकुड़ी हुई एओर्टिक वॉल्व को बिना ओपन चेस्ट सर्जरी के बदल दिया।

06/01/2020

नई तकनीकों से संभव है ब्रेन ट्यूमर का इलाज

30 साल के हुलासमल और 50 साल की यशोदा को जब पता चला कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है तो मानों उनकी जिंदगी जैसे थम सी गई थी। जबकि नई तकनीकों से ब्रेन ट्यूमर का ईलाज संभव है और व्यक्ति जिंदगी पहले की तरह ही जी सकता है।

08/06/2019

क्या है कोरोना वायरस, पढ़िए इसके लक्षण और इससे बचाव की पूरी जानकारी

चाइना में कहर बरपाने के बाद कोरोना वायरस अब भारत में भी अपनी दस्तक दे चुका है। मुंबई में कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मामले सामने आए हैं। दोनों संदिग्धों को कस्तूरबा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

24/01/2020

गर्दन में डैंस की हड्डी का डॉक्टरों ने किया सफल ऑपरेशन

रामअवतार यादव उंचाई से गिर गया था, जिसके कारण उसकी गर्दन में गहरी चोट लग गई थी। एक्स-रे में सामने आया कि मरीज की गर्दन में डैंस की हड्डी का फैक्चर है।

19/10/2019

सवाई मानसिंह अस्पताल में हुआ हार्ट ट्रांसप्लांट, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताई खुशी

सवाई मानसिंह अस्पताल में गुरुवार अलसुबह हुआ प्रदेश का सरकारी स्तर का पहला हार्ट ट्रांसप्लांट हुआ।

16/01/2020