Dainik Navajyoti Logo
Sunday 18th of April 2021
 
स्वास्थ्य

कोविड और पोस्ट कोविड मरीजों में हार्ट डिजीज का खतरा 15 प्रतिशत ज्यादा, अलर्ट रहने की जरूरत

Wednesday, January 06, 2021 12:45 PM
कॉन्सेप्ट फोटो।

जयपुर। पश्चिमी देशों के मुकाबले भारत में ह्रदय संबंधित मामले तीन गुना अधिक होते हैं। वहीं अब कोरोना वायरस द्वारा दिल पर बुरा प्रभाव पड़ने से डॉक्टरों की चिंताएं बढ़ा दी है। आंकड़ों के अनुसार कोरोना से संक्रमण होने पर हार्ट डिजीज का खतरा 10 से 15 प्रतिशत तक ज्यादा बढ़ जाता है। इंटरवेंशन कार्डियोलॉजी डायरेक्टर डॉ. संजीव के शर्मा ने बताया कि जैसे ही वायरस शरीर में जाता है तो साइटोकाइन स्टॉर्म होने के कारण क्लॉट टेंडेंसी बढ़ने लगती है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा काफी बढ़ जाता है। ये क्लॉट्स जब पैरों की नसों में बन जाते हैं तो मरीज को डीप वेन थ्रोम्बोसिस की समस्या होती है। फेफड़ों तक इन क्लॉट्स के पहुंचने पर पल्मोनरी एम्बोलिज्म नामक जानलेवा स्थिति बन जाती है। ब्रेन को ब्लड सप्लाई करने वाली कैरोटिड आर्टरी में क्लॉटिंग होने पर ब्रेन स्ट्रोक की स्थिति हो सकती है। जब वायरस हार्ट के अंदर मसल्स तक पहुंचता है, उन्हें भी डैमेज करता है। सांस की तकलीफ, हृदय संबंधी परेशानियां, मांसपेशियों में ब्रेकडाउन और सूजन जैसे लक्षण भी सामने आते हैं।

कोरोना से ठीक होने के बाद भी बढ़ रही समस्याएं
डॉ. शर्मा ने बताया कि पोस्ट कोविड सिंड्रोम के कारण भी कई मरीजों में हार्ट की समस्याएं सामने आ रही हैं। ओपीडी में कई ऐसे मरीज पहुंच रहे हैं, जो कोविड नेगेटिव आ चुके हैं पर उन्हें सांस लेने में तकलीफ, सीने में लगातार दर्द, आॅक्सीजन की कमी जैसी समस्याएं आ रही हैं। ईसीजी और कार्डियक ट्रॉप्टी जैसे टेस्ट करने के बाद उनमें कार्डियक डिजीज सामने आ रहे हैं। जब यह वायरस मसल्स के साथ हार्ट के कंडक्शन टिशू में इनवॉल्व हो जाता है तो हार्ट ब्लॉक हो जाता है। ऐसे मरीजों में पेस मेकर तक लगाना पड़ सकता है। वहीं जिन मरीजों में डी-डाइमर ज्यादा है उन्हें लंबे समय तक ब्लड थिनर लेना पड़ सकता है।

अलर्ट रहने की जरूरत
डॉ. संजीव ने बताया कि बचाव पर भी ज्यादा ध्यान देना चाहिए। इसके लिए लोगों को अपना शुगर लेवल, ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रखना होगा, खानपान बैलेंस रखें और परेशानी होने पर डॉक्टर के पास तुरंत जाए।

यह भी पढ़ें:

दृढ़ इच्छा शक्ति और उचित इलाज से कैंसर को हराना होना चाहिए हमारा लक्ष्य: गहलोत

विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि हमारा लक्ष्य उचित उपचार एवं इच्छा शक्ति के माध्यम से कैंसर को हराने का होना चाहिए। सकारात्मक सोच, प्रतिरोध क्षमता और काबू पाने का दृढ़ संकल्प कैंसर के खिलाफ लड़ाई लड़ने में एक लंबा रास्ता तय करेगा।

04/02/2020

900 मिलियन एंड्रॉयड डिवाइस में हैं ये खामियां

एंड्रॉयड यूजर्स एक बार फिर से खतरे में हैं. रिपोर्ट के मुताबिक क्वॉलकॉम के चिपसेट वाले स्मार्टफोन्स और टैबलेट में क्वॉड रूटर पाया गया है. यानी दुनिया भर के 900 मिलियन एंड्रॉयड स्मार्टफोन और टैबलेट में मैलवेयर अटैक हो सकता है.

16/08/2016

बच्चों पर शोध: खांसी-जुकाम नहीं बल्कि बुखार के साथ उल्टी दस्त, पेट दर्द होने पर भी हो सकता है कोरोना

अब तक खांसी जुकाम या बुखार के लक्षण होने पर ही कोरोना वायरस की पुष्टि होना माना जा रहा था। लेकिन बच्चों में बुखार के साथ उल्टी दस्त होने पर भी कोरोना वायरस होना पाया गया है। सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज जयपुर में बच्चों पर हुए एक शोध में इसकी पुष्टि हुई है।

03/06/2020

घुटने के टिश्यू निकालकर की कंधे की दुर्लभ सर्जरी

शहर के मानसरोवर स्थित इंडस हॉस्पिटल में झुंझुनूं निवासी 45 वर्षीय अमरचंद के घुटने के टिश्यू निकालकर कंधे की सफल सर्जरी की गई।

20/04/2019

स्ट्रोक का सही समय पर इलाज कर 34 वर्षीय महिला मरीज की बचाई जान

जयपुर शहर के एक निजी अस्पताल के चिकित्सकों ने मैकेनिकल थ्रोम्बेक्टमी तकनीक से स्ट्रोक से पीड़ित एक 34 वर्षीय महिला मरीज की जान बचाने में सफलता प्राप्त की है। दरअसल मरीज को हाल ही में जब दुर्लभजी अस्पताल की इमरजेंसी में लाया गया था तब उसे अचेतन अवस्था के साथ ही शरीर के बाएं हिस्से में लकवे की शिकायत थी।

24/01/2021

क्या है कोरोना वायरस, पढ़िए इसके लक्षण और इससे बचाव की पूरी जानकारी

चाइना में कहर बरपाने के बाद कोरोना वायरस अब भारत में भी अपनी दस्तक दे चुका है। मुंबई में कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मामले सामने आए हैं। दोनों संदिग्धों को कस्तूरबा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

24/01/2020

3डी प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी की मदद से कैंसर ग्रस्त रहे मरीज का जबड़ा फिर लगा

दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल के चिकित्सकों ने अपनी तरह की अनूठी एवं पहली शल्य क्रिया के तहत 3डी प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी की मदद से एक मरीज का जबड़ा पुननिर्मित करके उसे फिर से खाना खाने में सक्षम बना दिया है।

19/02/2020