Dainik Navajyoti Logo
Friday 30th of October 2020
 
स्वास्थ्य

कैंसर उपचार में मददगार है साइको थैरेपी, बढ़ाती है रोगियों का इम्यून सिस्टम

Tuesday, February 04, 2020 13:55 PM
कैंसर उपचार में मददगार है साइको थैरेपी।

जयपुर। सीबीटी, सीडीटी और एसडी थैरेपी का उपयोग कैंसर उपचार में एक वरदान के रूप में सामने आ रहा है। एडवांस स्टेज के कैंसर रोगियों में भी उपचार के लिए यह थैरेपी मददगार साबित हो रही है। भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में उत्तर भारत के पहले साइको ऑन्कोलॉजी विभाग की ओर से दी जा रही यह थैरेपी सभी तरह के कैंसर रोगियों के लिए है। इस थैरेपी के जरिए रोगियों के इम्यून सिस्टम की क्षमता को बढ़ाया जाता है, जिससे रोगी में कैंसर से लड़ने की क्षमता बढ़ रही है।

साइको ऑन्कोलॉजी विभागाध्यक्ष आरती होता ने बताया कि कॉगनेटिव बिहेवियर थैरेपी (सीबीटी), कॉगनेटिव ड्रिल थैरेपी (सीडीटी), मोटिवेशनल इंहैंसमेंट थैरेपी (एमईटी), सिस्टमेटिक डी सेंसटाइजेशन थैरेपी (सीडीटी) और डिगनिटी थैरेपी अहम है। इन थैरेपी के जरिए रोगियों की सोच, मनोभाव, व्यवहार को बदलते हुए उनकी मनोस्थिति को रोग से लड़ने के लिए तैयार किया जाता है। पेलिएटिव एवं सर्पोटिव केयर की विभागाध्यक्ष डॉ. अंजुम खान ने बताया कि जब सही काउंसलिंग और मनोबल को बढ़ाया जाता है तो रोगी की दवाओं का असर भी प्रभावी होता है। मेडिकल ऑन्कोलॉजिस्ट डॉ. ललित मोहन शर्मा ने बताया कि जागरूकता की कमी के चलते आज भी कैंसर रोगी रोग की बढ़ी हुई अवस्था में चिकित्सक के पास पहुंचते है।

यह भी पढ़ें:

मंत्री रघु शर्मा और सुभाष गर्ग ने SMS अस्पताल को दी कई सौगातें

अस्थि रोग विभाग के नॉर्थ विंग-प्रथम वार्ड के नवीनीकरण का लोकार्पण और अस्पताल में ही स्थित डाटा सेंटर की आईटी सेल का शुभारंभ कर प्रदेशवासियों को सौगात दी।

30/11/2019

105 साल की महिला ने जीती कोविड-19 से जंग, डॉक्टर्स और मरीज के जज्बे ने मिलकर कोरोना को हराया

राजधानी जयपुर में 105 वर्ष की सूरज देवी चौधरी ने इस उम्र में भी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण को अपने जज्बे से मात दे दी। नारायणा मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की अनुभवी कोविड टीम ने सूरज देवी की उम्र को उनके इलाज के बीच नहीं आने दिया बल्कि उनका सफल उपचार कर एक तरह से नया जीवनदान दिया।

20/10/2020

पत्नी ने किडनी डोनेट कर बचाया सुहाग, डॉक्टर्स डे पर किडनी रोगी को मिला जीवनदान

महात्मा गांधी अस्पताल के नेफ्रोलॉजी विभाग के चिकित्सकों की टीम ने 18 साल से किडनी रोग से पीड़ित युवक की किडनी प्रत्यारोपण कर जान बचाने में सफलता अर्जित की है। डॉ. गोदारा ने बताया कि कोरोना काल में किसी रोगी का किडनी ट्रांसप्लांट बहुत अधिक चुनौती भरा होता है। चिकित्सकों ने यह चुनौती स्वीकार कर आखिरकार राजेश को किडनी ट्रांसप्लांट किया। राजेश को किडनी उसकी धर्मपत्नी वर्षा ने दी।

01/07/2020

एओर्टिक डिसेक्शन का जटिल ऑपरेशन कर बचाई जान, महात्मा गांधी अस्पताल के डॉक्टर्स ने की ब्लडलेस सर्जरी

जयपुर शहर के सीतापुरा स्थित महात्मा गांधी अस्पताल के हार्ट सर्जन को एओर्टिक डिसेक्शन का जटिल ऑपरेशन कर एक युवक की जान बचाने में सफलता अर्जित की है। युवक बहुत ही नाजुक स्थिति में महात्मा गांधी अस्पताल में आया था। प्रख्यात हार्ट सर्जन डॉ एम ए चिश्ती ने तुरंत ही बीमारी की पहचान कर ली थी।

09/10/2020

विश्व में टीबी के करीब 20 प्रतिशत मामले तम्बाकू सेवन से संबंधित : गुप्ता

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के चयेरमैन डॉ. एसडी गुप्ता ने कहा कि विश्व में टीबी के लगभग 20 प्रतिशत मामले तम्बाकू सेवन से संबंधित हैं।

05/12/2019

एसएमएस अस्पताल में दूसरा हार्ट ट्रांसप्लांट

सवाईमानसिंह (एसएमएस) अस्पताल के चिकित्सकों ने एक महीने के भीतर दो हार्ट ट्रांसप्लांट कर इतिहास रच दिया है।

13/02/2020

क्रिटीकल केयर वेंटीलेशन वर्कशॉप संपन्न, वेंटीलेटर पर बदलेगा सांस लेने का पैटर्न, बचेगी जान

खासाकोठी सर्किल स्थित एक होटल में संपन्न हुई दो दिवसीय इंटरनेशनल क्रिटीकल केयर वेंटीलेशन वर्कशॉप में विशेषज्ञों ने गंभीर मरीजों को बचाने की नई तकनीकों पर चर्चा की।

18/11/2019