Dainik Navajyoti Logo
Sunday 26th of January 2020
Dainik Navajyoti Logo
 
स्वास्थ्य

थ्रीडी टेक्नोलॉजी से दिया न्यूरो सर्जरी का लाइव डेमो, 12 साल की एकता का सफल ऑपरेशन

Monday, December 30, 2019 11:50 AM
वर्कशॉप में शामिल हुए विशेषज्ञ डॉक्टर।

जयपुर। सवाई मानसिंह अस्पताल के न्यूरो सर्जरी विभाग में पहली बार एक्सप्लोर क्रेनिया वर्टिब्रल जंक्शन वर्कशॉप का आयोजन किया गया। एम्स नई दिल्ली सहित देश के नामचीन न्यूरो सर्जन्स ने तिरछी रीढ़ की हड्डी को सीधी करने (थोरको लेम्सा खिपोप्लिओस) तथा क्रिमियो वर्टिब्रल जंक्शन के फ्रैक्चर के थ्रीडी तकनीक से लाइव ऑपरेशन किए। इसके बाद इस तकनीक के बारे में विशेषज्ञों ने व्याख्यान देकर समझाया।

वर्कशॉप संयोजक व एसएमएस अस्पताल के न्यूरो सर्जन डॉ. जितेन्द्र शेखावत ने बताया कि न्यूरो सर्जरी विभाग के ऑपरेशन थियेटर में दो सर्जरी का लाइव डेमो दिया गया। पहली सर्जरी लखनऊ के एसजीपीजीआई के न्यूरो सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. संजय बिहारी, सवाई मानसिंह अस्पताल जयपुर के न्यूरो सर्जन डॉ. उगन, महात्मा गांधी हॉस्पिटल जयपुर के न्यूरो सर्जन डॉ. पंकज गुप्ता ने की। इन चिकित्सकों ने आगरा निवासी देवेश की क्रेनियो वर्टिब्रल जंक्शन के फ्रेक्चर का करीब पांच घंटे में थ्रीडी तकनीक से ऑपरेशन किया।

दूसरा ऑपरेशन एम्स नई दिल्ली के न्यूरो सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. सुशांत काले, एसएमएस की एनीसथीसिया डॉ. शोभा पुरोहित, न्यूरो सर्जन डॉ. गौरव जैन ने सिरसा निवासी 12 साल की बालिका एकता की रीढ़ की तिरछी हड्डी का करीब सात घंटे चले इस ऑपरेशन का लाइव दिल्ली, जोधपुर, बीकानेर, लखनऊ सहित देश के विभिन्न अस्पतालों में देखा गया। इस दौरान एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी, न्यूरो सर्जन डॉ. वीडी सिन्हा, एसएमएस न्यूरो सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. एसके जैन ने भी ऑपरेशन की वर्कशॉप में लाइव डेमो देखा।
 

यह भी पढ़ें:

अचानक बढ़ जाती है दिल की धड़कन तो हो सकता है आईएसटी, जानें डॉक्टर की राय

दिल के साथ-साथ शरीर के अन्य महत्वपूर्ण अंगों जैसे फेफड़े, लीवर, किडनी और दिमाग को भी नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसी ही एक बीमारी इनएप्रोप्रीऐट साइनस टेककार्डिया (आईएसटी) है।

25/12/2019

Video: मेंढक के स्टेम सेल से बनाया दुनिया का पहला जिंदा रोबोट, जो करेगा कैंसर का इलाज

अफ्रीकी मेंढक के स्टेम सेल से अमेरिका के वैज्ञानिकों ने दुनिया का पहला जिंदा और सबसे छोटा रोबोट तैयार किया है, जिसका आकार में इंच के 25वें भाग यानी 1 मिमी जितना है।

15/01/2020

कटिंग मशीन से अलग हुई हथेली को सर्जरी कर जोड़ा

श्रम करने और रोजी-रोटी के लिए इंसान के हाथ ही उसका सबसे बड़ा जरिया होते हैं, और जब वही शरीर से अलग हो जाएं तो जिंदगी थम सी जाती है। कुछ ऐसा ही 20 वर्ष के चेतन (परिवर्तित नाम) के साथ हुआ जब फैक्ट्री में काम करते हुए कटिंग मशीन से उसकी हथेली कट कर अलग हो गई।

01/06/2019

घुटने के टिश्यू निकालकर की कंधे की दुर्लभ सर्जरी

शहर के मानसरोवर स्थित इंडस हॉस्पिटल में झुंझुनूं निवासी 45 वर्षीय अमरचंद के घुटने के टिश्यू निकालकर कंधे की सफल सर्जरी की गई।

20/04/2019

फिट मूवमेंट के तहत प्रदेश के युवाओं को करेंगे अवेयर

फिट इंडिया मूवमेंट की तर्ज पर एक वेलफेयर सोसायटी की ओर से फिट राजस्थान मूवमेंट का आयोजन किया जाएगा।

03/12/2019

सोनोलोजिस्ट के राष्ट्रीय सेमिनार की हुई शुरुआत

फेडरेशन ऑफ क्लिनिकल सोनोलोजिस्ट की ओर से केके रॉयल एण्ड कन्वेशन सेंटर में तीन दिवसीय सोनोग्राफी पर राष्ट्रीय सेमिनार की शुरूआत हो गई।

10/01/2020

एक्सप्रेस-वे पर दो दुर्घटनाओं में मां-बेटे सहित आठ लोगों की मौत, 15 घायल

मथुरा : दिल्ली-आगरा यमुना एक्सप्रेस-वे पर आज तड़के सड़क किनारे खड़ी बस को टैंकर ने पीछे से टक्कर मार दिया, जिसके कारण बस के बाहर खड़े लोगों में से छह की मौके पर ही मौत हो गयी.

16/08/2016