Dainik Navajyoti Logo
Monday 19th of April 2021
 
स्वास्थ्य

थ्रीडी टेक्नोलॉजी से दिया न्यूरो सर्जरी का लाइव डेमो, 12 साल की एकता का सफल ऑपरेशन

Monday, December 30, 2019 11:50 AM
वर्कशॉप में शामिल हुए विशेषज्ञ डॉक्टर।

जयपुर। सवाई मानसिंह अस्पताल के न्यूरो सर्जरी विभाग में पहली बार एक्सप्लोर क्रेनिया वर्टिब्रल जंक्शन वर्कशॉप का आयोजन किया गया। एम्स नई दिल्ली सहित देश के नामचीन न्यूरो सर्जन्स ने तिरछी रीढ़ की हड्डी को सीधी करने (थोरको लेम्सा खिपोप्लिओस) तथा क्रिमियो वर्टिब्रल जंक्शन के फ्रैक्चर के थ्रीडी तकनीक से लाइव ऑपरेशन किए। इसके बाद इस तकनीक के बारे में विशेषज्ञों ने व्याख्यान देकर समझाया।

वर्कशॉप संयोजक व एसएमएस अस्पताल के न्यूरो सर्जन डॉ. जितेन्द्र शेखावत ने बताया कि न्यूरो सर्जरी विभाग के ऑपरेशन थियेटर में दो सर्जरी का लाइव डेमो दिया गया। पहली सर्जरी लखनऊ के एसजीपीजीआई के न्यूरो सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. संजय बिहारी, सवाई मानसिंह अस्पताल जयपुर के न्यूरो सर्जन डॉ. उगन, महात्मा गांधी हॉस्पिटल जयपुर के न्यूरो सर्जन डॉ. पंकज गुप्ता ने की। इन चिकित्सकों ने आगरा निवासी देवेश की क्रेनियो वर्टिब्रल जंक्शन के फ्रेक्चर का करीब पांच घंटे में थ्रीडी तकनीक से ऑपरेशन किया।

दूसरा ऑपरेशन एम्स नई दिल्ली के न्यूरो सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. सुशांत काले, एसएमएस की एनीसथीसिया डॉ. शोभा पुरोहित, न्यूरो सर्जन डॉ. गौरव जैन ने सिरसा निवासी 12 साल की बालिका एकता की रीढ़ की तिरछी हड्डी का करीब सात घंटे चले इस ऑपरेशन का लाइव दिल्ली, जोधपुर, बीकानेर, लखनऊ सहित देश के विभिन्न अस्पतालों में देखा गया। इस दौरान एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी, न्यूरो सर्जन डॉ. वीडी सिन्हा, एसएमएस न्यूरो सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. एसके जैन ने भी ऑपरेशन की वर्कशॉप में लाइव डेमो देखा।
 

यह भी पढ़ें:

लॉकडाउन में 10 हजार से ज्यादा कैंसर मरीजों का किया इलाज, WHO के सुरक्षा नियमों को अपनाते हुए उपचार

कैंसर रोगियों को समय पर उपचार मिले और उनकी बीमारी को फैलने से रोका जा सके इसके लिए लॉकडाउन के समय में भी भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर जयपुर की ओर से 10 हजार से ज्यादा कैंसर रोगियों को उपचार सुविधाएं उपलब्ध कराई गई।

15/06/2020

Video: डॉक्टर्स ने पेट से निकाला बालों का बड़ा गुच्छा

सर्जन एवं विभागाध्यक्ष डॉ. अनिल त्रिपाठी ने बताया कि मरीज के पेट में दर्द, भूख ना लगना, उल्टी होना, वजन कम होना इत्यादि लक्षणों की शिकायत कुछ महीनों से थी।

23/12/2019

एसएमएस अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में बनेगा स्पेशियलिटी क्लीनिक

सवाई मानसिंह अस्पताल में अब मिर्गी, लकवा, डिमेंशिया एवं मूवमेंट डिस ऑर्डर के मरीजों के लिए राहत की खबर है। इन मरीजों के लिए अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में जल्द ही स्पेशियलिटी क्लीनिक शुरू की जाएगी।

22/11/2019

प्रदेश में खुलेगा पहला सरकारी होम्योपैथी कॉलेज, चिकित्सा मंत्री ने की घोषणा

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि अन्य चिकित्सा पद्धतियों के साथ लोगों में होम्योपैथी के प्रति भी विश्वास बढ़ रहा है। यही वजह है कि सरकार ने 24 तरह की होम्योपैथी दवाओं को ‘ट्रिपल ए’ यानी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी और एएनएम के जरिए आमजन तक पहुंचाने की योजना बनाई है।

05/12/2019

जयपुर के डॉक्टर्स ने की सफल दुर्लभ सर्जरी, कूल्हे और घुटने के जोड़ समेत पूरी हड्डी बदली

बोन कैंसर से जूझ रहे मरीज के कूल्हे और घुटने के जोड़ को स्थिरता देने वाली शरीर की सबसे मजबूत हड्डी फीमोरल बोन की दुर्लभ टोटल फीमोरल रिप्लेसमेंट सर्जरी, जयपुर के डॉक्टर्स ने सफलतापूर्वक कर दिखाई। 75 वर्षीय मरीज की जांघ की हड्डी बोन कैंसर के कारण तेजी से गलने लगी थी, ऐसे में डॉक्टर्स ने कूल्हे व घुटने के जोड़ तक फैली पूरी हड्डी को बदल दिया।

20/11/2020

भारतीयों में आंखों की बढ़ती बीमारी से चिंता

विश्व दृष्टि दिवस पर हाल में जारी एक शोध के नतीजे में कहा गया है कि भारतीयों में दृष्टि दोष या आंखों के कमजोर और बीमार होने के मामले हाल में बहुत बढ गए हैं।

12/10/2019

मोबाइल का हद से ज्यादा उपयोग करने वालों को टेनिस एल्बो का खतरा

यह खबर हर घर हर अभिभावकों के लिए जरूरी है। मोबाइल का हद से ज्यादा उपयोग करने वाले लोग टेनिस एल्बो से पीड़ित होने लगे हैं। इतना ही नहीं वे बच्चे जो आउटडोर गेम की बजाय दिनभर वीडियो गेम या मोबाइल में गेम खेलते रहते हैं, उन्हें भी टेनिस एल्बो का असहनीय दर्द हो सकता है।

15/01/2020