Dainik Navajyoti Logo
Sunday 15th of December 2019
 
स्वास्थ्य

घिसा कूल्हे का जोड़, आयुर्वेद से हुआ ठीक, अब बॉडी बिल्डिंग में स्थापित किए नए आयाम

Tuesday, November 26, 2019 11:00 AM
प्रतिकात्मक तस्वीर।

जयपुर। शहर का एक 38 वर्षीय युवक जो कि कूल्हे के जोड़ खराब होने के कारण चलने फिरने में अक्षम हो गया था, लेकिन आयुर्वेदिक पद्धति ने उसे नया जीवन दिया। डेढ़ साल में ही युवक को इस लायक बना दिया कि अब वह जिला और राज्य स्तर तक की प्रतिष्ठित बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिताओं का विजेता तक बन चुका है। युवक का इलाज करने वाले के वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्सक डॉ. प्रदीप शर्मा ने बताया कि युवक मो. कलीम करीब डेढ़ साल पहले मेरे पास सुखायु में एवास्कुलर नेक्रोसिस की बीमारी से ग्रसित होकर आया था। इस बीमारी में उसके कूल्हे का जोड़ पूरी तरह से घिस चुका था। इसकी वजह से वह स्टिक के सहारे चलता था। एलोपैथी में इसका इलाज सिर्फ सर्जरी या जोड़ प्रत्यारोपण ही है पर मैनें डेढ़ साल तक युवक को आयुर्वेदिक दवाओं और पंचकर्म थैरेपी के जरिए इलाज किया। इसका नतीजा रहा कि युवक आज पूरी तरह से फिट है।

क्या है एवास्कुलर नेक्रोसिस
डॉ. शर्मा ने बताया कि इस बीमारी में हड्डियों की ब्लड सप्लाई रुक जाती है और हड्डी धीरे धीरे गल जाती है। अधिकांश मामलों में इस बीमारी का कारण एल्कोहल और स्टेरॉयड्स का अत्यधिक सेवन होता है लेकिन इस केस में कुदरती तौर पर ही युवक के कूल्हे का जोड़ घिस गया था।

यह भी पढ़ें:

इंसुलिनोमा टयूमर की हुई पहचान, मोलिक्यूर फंक्शनल इमेजिंग टेस्ट के जरिए कैंसर की जांच

शरीर में इंसुलिन की मात्रा को तेजी से बढ़ाने वाले कैंसर 'इंसुलिनोमा टयूमर' की पहचान राज्य में पहली बार हुई है। प्रदेश के भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के न्यूक्लियर मेडिसन विभाग में इस रेयर टयूमर को डायग्नोस किया गया है।

11/09/2019

ब्रेस्ट कैंसर के खतरे से बचाती है मैमोग्राफी स्क्रीनिंग

भारत में हर साल करीब डेढ़ लाख महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होता है। अगर एक उम्र के बाद रूटीन चेकअप कराया जाए तो ब्रेस्ट कैंसर के गंभीर परिणामों से बचा जा सकता है।

03/05/2019

नारायणा हॉस्पिटल में दुर्लभ केस की जटिल सर्जरी, डॉक्टर्स ने बचाई बच्ची की जान

जयपुर के नारायणा हॉस्पिटल में डॉक्टर्स को एक दुर्लभ केस में जटिल सर्जरी कर बच्ची की जान बचाई है। दो साल आठ महीने की काश्वी दिल में छेद, ब्लॉकेज के साथ अत्यंत दुर्लभ जन्मजात विकारों से पीड़ित थी, जिसमें हार्ट और लिवर जैसे महत्वपूर्ण अंग उल्टी दिशा में थे। मामला बेहद जटिल व जोखिम भरा था लेकिन अस्पताल की कार्डियक साइंसेज टीम ने चुनौती स्वीकारी और बच्ची की सफलतापूर्वक सर्जरी की।

03/10/2019

14 माह की बच्ची के लीवर कैंसर की सफल सर्जरी

सवाई मानसिंह अस्पताल के गेस्ट्रोसर्जरी एवं एनेस्थिसिया विभाग के चिकित्सकों ने महज 14 माह की बच्ची के लीवर कैंसर का आॅपरेशन करने में सफलता प्राप्त की है।

10/04/2019

एसएमएस अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में बनेगा स्पेशियलिटी क्लीनिक

सवाई मानसिंह अस्पताल में अब मिर्गी, लकवा, डिमेंशिया एवं मूवमेंट डिस ऑर्डर के मरीजों के लिए राहत की खबर है। इन मरीजों के लिए अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में जल्द ही स्पेशियलिटी क्लीनिक शुरू की जाएगी।

22/11/2019

भारतीयों में आंखों की बढ़ती बीमारी से चिंता

विश्व दृष्टि दिवस पर हाल में जारी एक शोध के नतीजे में कहा गया है कि भारतीयों में दृष्टि दोष या आंखों के कमजोर और बीमार होने के मामले हाल में बहुत बढ गए हैं।

12/10/2019

SMS अस्पताल में कैंसर रोगियों को मिलेंगी आधुनिक सुविधाएं

एसएमएस अस्पताल में अब कैंसर सर्जरी और मेडिसिन विभाग के भर्ती मरीजों को अत्याधुनिक वातानुकूलित वार्ड की सुविधा मिलना शुरू हो गई है।

13/04/2019