Dainik Navajyoti Logo
Thursday 20th of January 2022
 
स्वास्थ्य

78 वर्षीय बुजुर्ग को मिली राहत, हार्ट वॉल्व का बिना चीरफाड़ के किया प्रत्यारोपण

Friday, March 05, 2021 10:35 AM
सर्जरी करने वाली चिकित्सकों की टीम।

जयपुर। शहर के जगतपुरा स्थित एक निजी अस्पताल में 78 वर्षीय मरीज के हार्ट वॉल्व का बिना किसी चीरफाड़ के सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण किया गया है। अस्पताल के वरिष्ठ कार्डियक सर्जन डॉ. समीर शर्मा ने बताया कि मरीज को करीब पांच साल पहले हृदय की नसों में रुकावट के बाद दो स्टंट लगाए गए थे। उसके बाद कुछ सालों तक मरीज को कोई लक्षण नहीं थे। हाल ही में मरीज को कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ। इसके बाद उन्हें चलने फिरने में कठिनाई, छाती में दर्द और सांस फूलने की तकलीफ होने लगी। इस पर मरीज को जीवन रेखा हॉस्पिटल लाया गया।

यहां डॉ. समीर शर्मा ने मरीज की उम्र अधिक होने और फेफड़ों की स्थिति कमजोर होने के कारण उन्हें एंजियोप्लास्टी एवं ट्रांसकैथेटर ऑर्टिक वाल्व रिप्लेसमेंट की सलाह दी। सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. राम चितलांगिया ने मरीज की एंजियोग्राफी कर एफएफआर तकनीक से हृदय की नस के ब्लॉकेज का ऐस्टीमेशन किया और एफएफआर पॉजिटिव आने के बाद उनके हृदय के मुख्य धमनी में दो स्टंट इंट्रावस्कुलर अल्ट्रासाउंड आईवीयूएस गाइडेंस में प्रत्यारोपित किया। अगले दिन मरीज को ट्रांसकैथेटर ऑर्टिक वॉल्व रिप्लेसमेंट के तहत अत्याधुनिक सेल्फ एक्सपेंडिंग एऑरटिक वॉल्व पैर की नस के जरिए डाला गया।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

क्रिटीकल केयर वेंटीलेशन वर्कशॉप संपन्न, वेंटीलेटर पर बदलेगा सांस लेने का पैटर्न, बचेगी जान

खासाकोठी सर्किल स्थित एक होटल में संपन्न हुई दो दिवसीय इंटरनेशनल क्रिटीकल केयर वेंटीलेशन वर्कशॉप में विशेषज्ञों ने गंभीर मरीजों को बचाने की नई तकनीकों पर चर्चा की।

18/11/2019

तनावयुक्त जीवनशैली, अनियमित दिनचर्या से होती हैं ये बीमारियां

विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर राजस्थान स्वास्थ्य योग परिषद ट्रस्ट, योग भवन, शास्त्री नगर में न्यूरो केयर, जागरण शिविर का आयोजन हुआ, जिसमें संतोकबा दुर्लभजी अस्पताल के न्यूरो फि जिशियन डॉ. नीरज भूटानी और न्यूरो सर्जन डॉ. डीपी शर्मा ने व्याख्यान दिया।

08/04/2019

मांझे ने गहराई तक काटा टखना, डॉक्टरों ने सर्जरी कर बचाया

पतंगबाजी के जुनून में मांझा हर किसी के लिए आफत बना हुआ है। ऐसे ही आशिदा के पैर में मांझा फंसने से उनका टखना बुरी तरह से कट गया, खून इतना बह गया कि बीपी तक रिकॉर्ड नहीं हो पा रहा था।

17/01/2020

एसएमएस अस्पताल में दूसरा हार्ट ट्रांसप्लांट

सवाईमानसिंह (एसएमएस) अस्पताल के चिकित्सकों ने एक महीने के भीतर दो हार्ट ट्रांसप्लांट कर इतिहास रच दिया है।

13/02/2020

चिकित्सकों ने सीखी स्पाइन सर्जरी की बारीकियां

महात्मा गांधी अस्पताल में आयोजित कार्यशाला में 50 से अधिक चिकित्सकों ने लिया हिस्सा

24/11/2021

भारतीयों में आंखों की बढ़ती बीमारी से चिंता

विश्व दृष्टि दिवस पर हाल में जारी एक शोध के नतीजे में कहा गया है कि भारतीयों में दृष्टि दोष या आंखों के कमजोर और बीमार होने के मामले हाल में बहुत बढ गए हैं।

12/10/2019

हीमोफीलिया के इलाज में मददगार है ये थैरेपी

हीमोफीलिया से पीड़ित लोगों को सामान्य जीवन जीने में मदद करने में जल्दी जांच, उपचार तक पहुंच और फिजियोथेरेपी का अहम योगदान है।

17/04/2019