Dainik Navajyoti Logo
Saturday 18th of January 2020
 
स्वास्थ्य

बिना किसी सर्जिकल उपचार के झुर्रियों से छुटकारा, बोटोक्स ट्रीटमेंट से मिलेगा लाभ

Thursday, October 03, 2019 18:20 PM
कॉन्सेप्ट फोटो।

जयपुर। ढलती उम्र की निशानियां हमारे शरीर में भी देखने के मिलती है और इसका पहला आईना चेहरा होता है। चेहरे पर बढ़ती झुर्रियां और कसावट कमजोर होने जैसी समस्या एक दिन सभी को झेलनी पड़ती है। लेकिन वातावरण में मौजूद प्रदूषण, वंशानुगत असर और लाइफस्टाइल जैसे कई कारक हैं जो त्वचा को प्रभावित करते हैं और वक्त से पहले ही झुर्रियां आने लगती हैं। झुर्रियां देर से पड़ें इसलिए एंटी एजिंग उत्पादों का प्रयोग किया जाता है। इनमें सबसे आम इलाज बोटोक्स ट्रीटमेंट है। एक विशेषज्ञ कॉस्मेटोलॉजिस्ट से परामर्श लेकर बोटोक्स का सही उपयोग करने से आप अपने चेहरे की झुर्रियों ठीक कर सकते हैं। यह ट्रीटमेंट तीस वर्ष से अधिक की उम्र के लोगों के लिए ही है। इस ट्रीटमेंट का लाभ पुरुष और महिलाएं दोनों उठा सकते हैं।

क्या होता है बोटोक्स ट्रीटमेंट
नारायणा मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के सीनियर कॉस्मेटिक सर्जन डॉ. सुनीश गोयल ने बताया कि बोटोक्स यानी बोटयुलिनस टॉक्सिन न्यूरोटॉक्सिंस नामक रसायन होता है जो हमारी त्वचा के लिए जवानी देने का काम करता है। बोटोक्स इंजेक्शन के द्वारा स्किन के मांसपेशियों में दी जाती है। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है।

विशेषज्ञ से ही लें परामर्श
बोटोक्स के माध्यम से झुर्रियों का इलाज विश्व के कई देशों में किया जाता है लेकिन यह सर्जीकल उपचार की श्रेणी में नहीं आता। त्वचा में झुर्रियों की जांच करने के बाद ही उनमें बोटोक्स इंजेक्ट करने की मात्रा तय की जाती है। इसके लिए आपको एक अनुभवी विशेषज्ञ से ही झुर्रियों का उपचार कराना चाहिए। डॉ. गोयल ने बताया कि आमतौर पर एक से तीन इंजेक्शन हर मांसपेशी में लगाए जाते हैं, इंजेक्शन से होने वाले मामूली दर्द को डॉक्टर लोकल एनस्थीसिया देकर दूर करते हैं। इनके उपचार के 20 घंटे बाद ही सुइयों के निशान मिट जाते हैं।

यह भी पढ़ें:

900 मिलियन एंड्रॉयड डिवाइस में हैं ये खामियां

एंड्रॉयड यूजर्स एक बार फिर से खतरे में हैं. रिपोर्ट के मुताबिक क्वॉलकॉम के चिपसेट वाले स्मार्टफोन्स और टैबलेट में क्वॉड रूटर पाया गया है. यानी दुनिया भर के 900 मिलियन एंड्रॉयड स्मार्टफोन और टैबलेट में मैलवेयर अटैक हो सकता है.

16/08/2016

मरने के बाद तीन लोगों को नई जिंदगी दे गया हरीश, लीवर और किडनी की डोनेट

28 साल का हरीश मरने के बाद भी तीन लोगों को नई जिन्दगी दे गया। रोड एक्सीडेंट के बाद ब्रेन डेड हुए जयपुर के हरीश के परिजनों ने ब्रेन डैड के लिए बनी कमेटी और अस्पताल के चिकित्सकों की समझाइश के बाद उसकी दोनों किडनी और लिवर दान करने की रजामंदी दी।

20/12/2019

अस्थमा नहीं है लाइलाज, इनहेलेशन थैरेपी है कारगर

अस्थमा एक क्रोनिक (दीर्घावधि) बीमारी है जिसमें श्वास मार्ग में सूजन और श्वास मार्ग की संकीर्णता की समस्या होती है जो समय के साथ कम ज्यादा होती है।

03/05/2019

दक्षिण कोरिया के नौसेना स्टेशन में विस्फोट के बाद एक की मौत, 3 घायल

दक्षिण कोरिया के दक्षिण पूर्व में एक नौसेना स्टेशन पर एक पनडुब्बी पर मरम्मत के काम के दौरान दुर्घटनावश विस्फोट होने के बाद एक सैनिक की मौत हो गई और अन्य लापता हैं.

16/08/2016

एंकालूजिंग स्पॉन्डिलाइटिस से पीड़ित मरीज की हिप जॉइंट सर्जरी, 3डी प्रिंटिंग तकनीक से राजस्थान में पहले ऑपरेशन का दावा

राजधानी के एचसीजी अस्पताल में 20 साल से एंकालूजिंग स्पॉन्डिलाइटिस बीमारी से पीड़ित मरीज की सफल सर्जरी की गई। इस बीमारी में कूल्हे के जोड़ के एक जगह जड़ हो गए। डॉक्टर्स ने इस जटिल केस को 3डी प्रिंटिंग तकनीक की सहायता से सफलतापूर्वक ठीक कर दिया। दावा है कि राजस्थान में इस तरह की सर्जरी का यह पहला मामला है।

03/12/2019

लिगामेंट चोट में अब नई डबल बंडल तकनीक

एंटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट घुटनों की चोट में सर्वाधिक चोटिल होने वाला लिगामेंट है। लिगामेंट दो हड्डियों की संरचना को जोड़ने वाली इकाई है, जो हड्डियों की चाल को आसान बनाती है।

08/05/2019

एक्सप्रेस-वे पर दो दुर्घटनाओं में मां-बेटे सहित आठ लोगों की मौत, 15 घायल

मथुरा : दिल्ली-आगरा यमुना एक्सप्रेस-वे पर आज तड़के सड़क किनारे खड़ी बस को टैंकर ने पीछे से टक्कर मार दिया, जिसके कारण बस के बाहर खड़े लोगों में से छह की मौके पर ही मौत हो गयी.

16/08/2016