Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 21st of October 2020
 
स्वास्थ्य

भारतीयों में आंखों की बढ़ती बीमारी से चिंता

Saturday, October 12, 2019 10:55 AM
कॉन्सेप्ट फोटो

नई दिल्ली। विश्व दृष्टि दिवस पर हाल में जारी एक शोध के नतीजे में कहा गया है कि भारतीयों में दृष्टि दोष या आंखों के कमजोर और बीमार होने के मामले हाल में बहुत बढ गए हैं। यह शोध कार्य सिग्नीफाई ने जारी किया है। जो प्रकाश व्यवस्था के मामले में दुनिया में अव्वल है। इसे पहले फिलिप्स लाइटिंग के नाम से जाना जाता था। उपरोक्त शोधकार्य भारत के दस नगरों में  एक हजार वयस्क लोगों और 300 नेत्रविज्ञानियों से बातचीत के आधार पर तैयार किया गया है। इस शोध में कहा गया है कि दृष्टिदोष वाले भारतीयों की संख्या में हाल के वर्षों में भारी वृद्धि हुई है। यह आंकड़ा 65 प्रतिशत तक है, जबकि वयस्क भारतीयों का कहना है कि अच्छी नेत्रज्योति एक बेहतरीन जीवनयापन के लिए अनिवार्य है। फिर भी बहुतकम लोग आंखों को स्वस्थ रखने लिए सचेष्ट रहते हैं।

इस शोध से यह भी पता चला है कि अधिकतर भारतीय प्रतिदिन 14 घंटे से भी अधिकतर घरों या दफ्तरों के कमरे में रहते हैं। जहां कृत्रिम प्रकाश रहता है। अत: इस प्रकाश की गुणवत्ता अच्छी आंखों के लिए जरूरी है। नेत्र विज्ञानी कहते हैं कि 75 फीसदी भारतीय प्रतिदिन 10 घंटे कम्प्यूटर स्क्रीन पर देखते रहने के बाद आंखों में जलन की शिकायत करते हैं। बीस से 35 वर्ष  के युवक और युवती आंखों में जलन, तनाव और आंखों के लाल हो जाने की शिकायत करते हैं।  फिर भी अधिकतर भारतीय आंखों के प्रति लापरवाह बने रहते हैं।

बहुत कम भारतीय कराते हैं आंखों की जांच
पांच में से कोई एक भारतीय ही नियमित आंखों की जांच कराता है। करीब 84 प्रतिशत भारतीय स्वीकारल करते हैं कि आंखों के स्वास्थ्य के मामले में वे डॉक्टरों की सलाह पर ध्यान नहीं देते। नेत्रविज्ञानियों का कहना है कि खराब प्रकाश व्यवस्था और खराब जीवन शैली भारतीयों में आंखों की बीमारी उत्पन्न करती है।

 

यह भी पढ़ें:

Video: डॉक्टर्स ने पेट से निकाला बालों का बड़ा गुच्छा

सर्जन एवं विभागाध्यक्ष डॉ. अनिल त्रिपाठी ने बताया कि मरीज के पेट में दर्द, भूख ना लगना, उल्टी होना, वजन कम होना इत्यादि लक्षणों की शिकायत कुछ महीनों से थी।

23/12/2019

मंत्री रघु शर्मा और सुभाष गर्ग ने SMS अस्पताल को दी कई सौगातें

अस्थि रोग विभाग के नॉर्थ विंग-प्रथम वार्ड के नवीनीकरण का लोकार्पण और अस्पताल में ही स्थित डाटा सेंटर की आईटी सेल का शुभारंभ कर प्रदेशवासियों को सौगात दी।

30/11/2019

ईएसआई मॉडल हॉस्पिटल में मनाया गया विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस

अजमेर रोड स्थित ईएसआई हॉस्पिटल में मनोरोग विभाग की ओर से विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर चिकित्सकों के लिए अवसाद एवं आत्महत्या के उपचार और रोकथाम को लेकर सेमिनार एवं मानसिक स्वास्थ्य प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।

10/10/2019

नाइजीरियन युवक के खराब हो चुके कूल्हे के जोड़ों का प्रत्यारोपण

नाईजीरिया के अमादि ओजी कूल्हों के जोड़ों में असहनीय दर्द के चलते चलने-फिरने तक के लिए भी मोहताज हो गए। मरीज जब जयपुर आया तो यहां जटिल ऑपरेशन कर मरीज के दोनों कूल्हे के जोड़ प्रत्यारोपण किया गया।

11/09/2019

नई तकनीकों से संभव है ब्रेन ट्यूमर का इलाज

30 साल के हुलासमल और 50 साल की यशोदा को जब पता चला कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है तो मानों उनकी जिंदगी जैसे थम सी गई थी। जबकि नई तकनीकों से ब्रेन ट्यूमर का ईलाज संभव है और व्यक्ति जिंदगी पहले की तरह ही जी सकता है।

08/06/2019

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, खोजा ऐसा वायरस जो हर तरह के कैंसर का करेगा खात्मा

दुनियाभर के साथ ही भारत में भी कैंसर की बीमारी तेजी से फैल रही है। इस खतरनाक बीमारी की वजह से हर साल करीब 8 लाख लोगों की मौत हो जाती है। ऐसे में वैज्ञानिकों ने एक ऐसा वायरस खोजा है जो हर तरह के कैंसर को खत्म कर सकता है।

11/11/2019

सिर से आंखों की तरफ बढ़ा ट्यूमर, ऑपरेशन से निकाला

ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित एक महिला मरीज का निजी अस्पताल में ऑपरेशन कर नया जीवन दिया गया है। हरियाणा के सिरसा स्थित गांव डबवाली की निवासी 30 वर्षीय महिला मरीज वीरपाल कौर के सिर दर्द और आंखों के आसपास सूजन बढ़ रही थी। जिसके बाद मरीज की एमआरआई जांच कराई गई।

03/02/2020