Dainik Navajyoti Logo
Monday 21st of September 2020
 
स्वास्थ्य

ई-संजीवनी ओपीडी सेवा से मरीजों को कतारों से मिली मुक्ति, घर बैठे मिल रहा परामर्श

Thursday, May 21, 2020 12:05 PM
सांकेतिक तस्वीर।

जयपुर। कोरोना के चलते आमजन को घर बैठे परामर्श सेवाओं के लिए राज्य सरकार द्वारा ई-संजीवनी ओपीडी सेवा शुरू की गई है। जिससे अस्पतालों में भीड़ नियंत्रण कर संक्रमण को कम किया जा सके और आमजन को सरलता से परामर्श सेवा प्राप्त हो सके। इस सुविधा का आमजन लाभ भी उठा रहे हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जयपुर प्रथम डॉ. नरोत्तम शर्मा ने बताया कि प्रदेशभर में ई-संजीवनी ओपीडी सेवा शुरू की गई है, जिसमें विभिन्न अस्पतालों में चिकित्सक प्रात: 8.30 बजे से दोपहर 2 बजे तक निशुल्क परामर्श सेवा प्रदान कर रहे हैं।

यह सुविधा भी है उपलब्ध

सीएमएचओ प्रथम ने बताया कि ई-संजीवनी ओपीडी सेवा का लाभ ऑडियो के साथ वीडियो कॉल पर भी उपलब्ध है। इस सुविधा का लाभ मोबाइल के जरिए भी लिया जा सकता है। रोगी को पंजीयन के बाद जो टोकन नंबर मिलेगा, उसे लॉगइन करने के बाद डॉक्टर के परामर्श की प्रक्रिया शुरू होगी। यदि इस दौरान परामर्शदाता डॉक्टर को विशेषज्ञ सलाह की जरूरत होगी तो टेलीमेडिसन सुविधा का भी उपयोग किया जा सकता है।

जिले के चयनित अस्पताल
सीएमएचओ प्रथम ने बताया कि इस सेवा के अंतर्गत जयपुर प्रथम के क्षेत्र में आने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शाहपुरा, बीडीएम अस्पताल कोटपूतली और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जमवारामगढ़ का चयन किया गया है, जिसके चिकित्सकों द्वारा ऑनकॉल परामर्श सेवाएं दी जा रही हैं।

यहां करें रजिस्ट्रेशन
डॉ. शर्मा ने बताया कि बेव पोर्टल पर जाकर संजीवनी डॉट इन टाइप करना है, जिसके बाद रजिस्ट्रेशन पर क्लिक किया जाएगा। जहां मरीज को अपनी जानकारी और मोबाइल नंबर एंटर करने होंगे, जहां ओटीपी आएगा। जिसे सेव करना होगा। जिसके बाद बेव पोर्टल पर ही इस संजीवनी बेवसाइट पर मरीज अपने मोबाइल नंबर और पासवर्ड में उसे मिले टोकन नंबर डालकर लॉगइन करेगा, उसके बाद उसे जिस डॉक्टर से परामर्श लेना है उसकी जानकारी एंटर करनी पड़ेगी और लगभग 10-15 मिनट के अन्दर मरीज को परामर्श मिल जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रक्रिया को कोई भी कर सकता है और सीधे मरीज को चिकित्सक से परामर्श दिला सकता है।

यह भी पढ़ें:

वैज्ञानिकों का दावा, टी सेल थैरेपी से ठीक किया जा सकता है कैंसर

वैज्ञानिकों ने दावा किया कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी को बढ़ाकर हर तरह के कैंसर से लड़ सकते हैं।

22/01/2020

अस्थमा नहीं है लाइलाज, इनहेलेशन थैरेपी है कारगर

अस्थमा एक क्रोनिक (दीर्घावधि) बीमारी है जिसमें श्वास मार्ग में सूजन और श्वास मार्ग की संकीर्णता की समस्या होती है जो समय के साथ कम ज्यादा होती है।

03/05/2019

जिम में ट्रेनर की न करें अनदेखी

हर व्यक्ति,खासकर युवा पीढ़ी जिम में जाकर एक्सरसाइज के माध्यम से अपने शरीर को मजबूत बनाना चाहता है।

26/02/2020

कट्टरपंथी इस्लाम के प्रसार को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय बैठक बुलाउंगा : ट्रम्प

इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह और इस्लामिक कट्टरपंथियों से निपटने के लिए विदेश नीति के दृष्टिकोण को पेश करते हुए रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि राष्ट्र निर्माण का युग खत्म होना चाहिए.

16/08/2016

सवाई मानसिंह अस्पताल में हुआ हार्ट ट्रांसप्लांट, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताई खुशी

सवाई मानसिंह अस्पताल में गुरुवार अलसुबह हुआ प्रदेश का सरकारी स्तर का पहला हार्ट ट्रांसप्लांट हुआ।

16/01/2020

स्तन हटाए बिना लेजर से कैंसर का कारगर इलाज

देश में महिलाओं की मौत के सबसे बड़े कारण स्तन कैंसर से जंग में लेजर तकनीक काफी कारगर सिद्ध हो रही है। कैंसर सर्जरी के कुल मामलों में 80 प्रतिशत मुख तथा स्तन कैंसर के हैं ऐसे में इस नई तकनीक को सभी के लिए सुलभ बनाने की सख्त जरूरत है।

22/11/2019

कोरोना रोगियों के लिए संजीवनी बनी प्लाज्मा थेरेपी, महात्मा गांधी अस्पताल में वेबीनार में विशेषज्ञों ने दी जानकारी

प्लाज्मा थेरेपी इलाज के लिए पहले भी काम में ली जाती रही है इस समय प्रयोग के तौर पर कोरोना रोगियों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जा रहा है। इसमें काफी हद तक सफलता भी मिली है। यह जानकारी महात्मा गांधी अस्पताल के ब्लड बैंक एवं ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन के निदेशक डॉ. राम मोहन जायसवाल ने दी।

21/08/2020