Dainik Navajyoti Logo
Thursday 20th of January 2022
 
स्वास्थ्य

स्ट्रोक का सही समय पर इलाज कर 34 वर्षीय महिला मरीज की बचाई जान

Sunday, January 24, 2021 10:40 AM
महिला मरीज और डॉक्टर डीपी शर्मा।

जयपुर। शहर के एक निजी अस्पताल के चिकित्सकों ने मैकेनिकल थ्रोम्बेक्टमी तकनीक से स्ट्रोक से पीड़ित एक 34 वर्षीय महिला मरीज की जान बचाने में सफलता प्राप्त की है। दरअसल मरीज को हाल ही में जब दुर्लभजी अस्पताल की इमरजेंसी में लाया गया था तब उसे अचेतन अवस्था के साथ ही शरीर के बाएं हिस्से में लकवे की शिकायत थी। ऐसे में अस्पताल के सीनियर न्यूरोसर्जन एंड एचओडी डॉ. डीपी शर्मा को देखा। डॉ. डीपी शर्मा ने बताया कि मरीज को सही समय पर अस्पताल लाया गया और ऐसे में मरीज को मैकेनिकल थ्रोम्बेक्टमी तकनीक की सलाह दी गई। परिजनों की सहमति से तुरंत मरीज को कैथ लैब में लिया गया और खून के थक्के को बाहर निकाला गया। ऑपरेशन के बाद मरीज को गहन चिकित्सा इकाई में रखा गया है और पोस्ट ऑपरेटिव पीरियड के बाद अब मरीज को लकवे और आवाज दोनों में फायदा हो गया है।

ये है तकनीक
डॉ. डीपी शर्मा ने बताया कि मेकेनिकल थ्रोम्बेक्टमी ऐसी प्रक्रिया है जिसमें स्ट्रोक की शुरुआत के 24 घंटे के अंदर तक की जा सकती है। इसमें मस्तिष्क में धमनी से थक्के को हटाने और रक्त बहाव बहाल करने के लिए एक स्टेंट का प्रयोग किया जाता है। यह प्रक्रिया उन रोगियों के एक विकल्प है जो ड्रग थैरेपी नहीं ले सकते या इसमें विफल रहे हैं। डॉ. शर्मा ने बताया कि जितना तेजी से स्ट्रोक का इलाज किया जाता है फायदा उतना ही अधिक और जल्दी होता है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

ब्लैक फंगस पर विशेषज्ञों की राय, मास्क में नमी के कारण हो सकता है फंगल इंफेक्शन

देश में कोविड 19 के मरीजों में म्यूकोरमायकोसिस (ब्लैक फंगस) के मामलों वृद्धि को मास्क में नमी होना माना जा रहा है।

21/05/2021

सवाई मानसिंह अस्पताल में हुआ हार्ट ट्रांसप्लांट, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताई खुशी

सवाई मानसिंह अस्पताल में गुरुवार अलसुबह हुआ प्रदेश का सरकारी स्तर का पहला हार्ट ट्रांसप्लांट हुआ।

16/01/2020

बच्चों पर शोध: खांसी-जुकाम नहीं बल्कि बुखार के साथ उल्टी दस्त, पेट दर्द होने पर भी हो सकता है कोरोना

अब तक खांसी जुकाम या बुखार के लक्षण होने पर ही कोरोना वायरस की पुष्टि होना माना जा रहा था। लेकिन बच्चों में बुखार के साथ उल्टी दस्त होने पर भी कोरोना वायरस होना पाया गया है। सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज जयपुर में बच्चों पर हुए एक शोध में इसकी पुष्टि हुई है।

03/06/2020

रेजीडेंट डॉक्टर्स की हड़ताल जारी : मरीजों पर बुरा असर, ओपीडी से लेकर ऑपरेशन तक प्रभावित

कुछ मांगों पर नहीं बनी सहमति रेजीडेंट डॉक्टर्स की हड़ताल जारी

08/12/2021

CBSE की 10वीं-12वीं की परीक्षा के नतीजे जल्द, 9वीं, 11वीं के छात्रों को फेल होने पर मिलेगा एक और मौका

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन जारी है और 50 दिन के भीतर यह काम पूरा हो जाएगा तथा जल्दी ही परीक्षा के नतीजे आ जाएंगे।

14/05/2020

जयपुर में डेंगू के बीच दबे पांव कोरोना फिर दे रहा दस्तक

तीन दिन में 16 पॉजिटिव मिले एक्टिव केस बढ़कर 27 हुए : त्योहारी सीजन में बरती गई लापरवाही अब पड़ रही भारी, 54 दिन बाद जयपुर में एक दिन में आठ पॉजिटिव मिले

10/11/2021

SMS में हुआ प्रदेश का 41वां अंगदान, 14 वर्षीय विशाल ने ब्रेन डैड होने के बाद 4 लोगों को दिया जीवनदान

सवाई मानसिंह अस्पताल में 41वां अंगदान किया गया है। प्राचार्य एसएमएस मेडिकल कॉलेज डॉ. सुधीर भंडारी ने बताया कि देर रात तक अंगों का प्रत्यारोपण किया गया। दोनों किडनीयों को सवाई मानसिंह चिकित्सालय, लिवर को महात्मा गांधी अस्पताल, जयपुर में प्रत्यारोपित किया गया।

02/02/2021