Dainik Navajyoti Logo
Sunday 16th of May 2021
 
स्वास्थ्य

संक्रमण से बचाएगा देश का पहला 3D मास्क, SMS हॉस्पिटल एवं MNIT के सहयोग से किया तैयार

Tuesday, December 29, 2020 16:55 PM
जयपुर में बनाया गया देश का पहला 3डी मास्क।

जयपुर। कोरोना के बेहतरीन उपचार को लेकर देशभर में विख्यात जयपुर के सवाई मान सिंह अस्पताल के चिकित्सकों व एमएनआईटी जयपुर के सहयोग से कंपनी ने कोरोना से बचाव के लिए ऐसा मास्क बनाया है, जो संक्रमण से 99.9 फीसदी बचाएगा। अहा 3डी कंपनी ने हॉस्पिटल के न्यूरो सर्जरी विभाग के वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. विरेंद्र डी सिन्हा व एमएनआईटी के डायरेक्टर प्रो. यारागट्टी के सहयोग से 3डी तकनीक युक्त देश का पहला मास्क बनाया है। खास बात ये है कि इस मास्क का विकास एवं निर्माण पूर्णतया जयपुर में हुआ है।

कंपनी के निदेशक आकाश ने बताया कि 40 ग्राम वजनी यह मास्क पूर्णतया ट्रांसपेरेंट है, जो कि नरम व लचीला, मेडिकल कम्पाउड से बना है। दिखने में आकर्षक 3डी मास्क सांस लेने में आसान है। प्रीमियम री-यूजेबल रेसपिरेटर 3डी मास्क में रिप्लेसेबल फिल्टर कॉन्सेप्ट है। यह सर्जिकल मास्क जितना प्रभावशाली है। इस मास्क को गर्म पानी या भाप से सैनेटाइज करके इसका पुन: प्रयोग किया जा सकता है। एक फिल्टर 7 दिन तक इस्तेमाल किया जा सकता है। एक मास्क के साथ 11 फिल्टर उपलब्ध कराए गए हैं जो कि 3 से 4 महीने तक उपयोग में लिए जा सकते हैं। इसके बाद मार्केट से केवल फिल्टर खरीदकर इसमें इस्तेमाल किए जा सकते हैं यानी यह आपका मास्क सदा के लिए है। इसका इस्तेमाल महीनों नहीं बल्कि सालों तक किया जा सकता है।

एमएनआईटी जयपुर की एलुमनाई सारथी टैक्नोलॉजीज़ की ओर से सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों के लिए 500 मास्क कॉलेज प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी को सौंपे गए। इसके अलावा जयपुर ट्रैफिक पुलिस को भी 200 3डी मास्क एसोसिएशन की ओर से दिए गए हैं। सारथी टेक्नोलॉजीज एवं अहा 3डी एमएनआईटी के एलुमनाई एसोसिएशन का हिस्सा हैं। इस मौके पर एसोसिएशन के डीन प्रो. तरुषचंद्र व सारथी टैक्नोलॉजी के आयुष्मान गुप्ता भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें:

105 साल की महिला ने जीती कोविड-19 से जंग, डॉक्टर्स और मरीज के जज्बे ने मिलकर कोरोना को हराया

राजधानी जयपुर में 105 वर्ष की सूरज देवी चौधरी ने इस उम्र में भी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण को अपने जज्बे से मात दे दी। नारायणा मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की अनुभवी कोविड टीम ने सूरज देवी की उम्र को उनके इलाज के बीच नहीं आने दिया बल्कि उनका सफल उपचार कर एक तरह से नया जीवनदान दिया।

20/10/2020

हार्ट फेल और खराब फेफड़े होने पर एक्मो तकनीक से बच सकती है जान, वर्कशॉप में विशेषज्ञों ने दी ट्रेनिंग

कई बार मरीजों को गंभीर कार्डियक फेलियर, फेफड़े खराब होने के कारण सांस की तकलीफ के कारण अस्पताल में इमरजेंसी में लाया जाता है। मरीज का हृदय या फेफड़े सामान्य रूप से कार्य करने में सक्षम नहीं रहते और रोगी सांस लेने में असमर्थ हो जाता है। ऐसे मरीजों की जान उन्नत एक्मो तकनीक से बचाई जा सकती है।

20/01/2020

देश में 40 लाख से अधिक लोग अल्जाइमर से पीड़ित

अल्जाइमर एक तरह की भूलने की बीमारी है जो सामान्यतया बुजुर्गों में 60 वर्ष के बाद शुरू होती है। इससे पीड़ित सामान रखकर भूल जाते हैं।

21/09/2019

जानलेवा हो सकता है हीट स्ट्रोक

इन दिनों पड़ रही भीषण गर्मी से जनजीवन बुरी तरह त्रस्त है। इस मौसम में हीट स्ट्रोक का ज्यादा खतरा है, जो जानलेवा भी हो सकता है।

03/06/2019

सोनोलोजिस्ट के राष्ट्रीय सेमिनार की हुई शुरुआत

फेडरेशन ऑफ क्लिनिकल सोनोलोजिस्ट की ओर से केके रॉयल एण्ड कन्वेशन सेंटर में तीन दिवसीय सोनोग्राफी पर राष्ट्रीय सेमिनार की शुरूआत हो गई।

10/01/2020

घिसा कूल्हे का जोड़, आयुर्वेद से हुआ ठीक, अब बॉडी बिल्डिंग में स्थापित किए नए आयाम

जयपुर का एक युवक कूल्हे के जोड़ खराब होने के कारण चलने फिरने में अक्षम हो गया था, लेकिन आयुर्वेदिक पद्धति ने उसे नया जीवन दिया। डेढ़ साल में ही युवक को इस लायक बना दिया कि अब वह जिला और राज्य स्तर तक की प्रतिष्ठित बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिताओं का विजेता तक बन चुका है।

26/11/2019

वर्ल्ड ब्रेन ट्यूमर डे: बच्चों में इन लक्षणों को ना करें अनदेखा, हो सकता है ब्रेन कैंसर

बच्चों में ब्लड कैंसर के बाद सर्वाधिक होने वाला कैंसर ब्रेन ट्यूमर है। नेशनल हेल्थ प्रोग्राम की ओर से जारी एक रिपोर्ट के अनुसार बड़ों के मुकाबले बच्चों में यह बीमारी ज्यादा तेजी से बढ़ रही है। इसके लक्षणों को अनदेखा करना हजारों बच्चों के अकाल मौत का कारण बन रहा है।

08/06/2020