Dainik Navajyoti Logo
Saturday 6th of March 2021
 
स्वास्थ्य

लॉकडाउन में 10 हजार से ज्यादा कैंसर मरीजों का किया इलाज, WHO के सुरक्षा नियमों को अपनाते हुए उपचार

Monday, June 15, 2020 14:40 PM
लॉकडाउन में 10 हजार से ज्यादा कैंसर मरीजों का किया इलाज।

जयपुर। कैंसर रोगियों को समय पर उपचार मिले और उनकी बीमारी को फैलने से रोका जा सके इसके लिए लॉकडाउन के समय में भी भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर जयपुर की ओर से 10 हजार से ज्यादा कैंसर रोगियों को उपचार सुविधाएं उपलब्ध कराई गई। कैंसर विशेषज्ञों की ओर से उपचार की आवश्यकता को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन के सुरक्षा नियमों के साथ रोगियों को उपचार देना जारी रखा गया है। कैंसर रोगियों में उपचार को बीच में बंद करने से रोग की स्थिति बढ़ सकती है। ऐसे में अधिक सुरक्षा इंतजाम के साथ लॉकडाउन के दौरान 884 रोगियों को कीमोथैरेपी और 530 रोगियों को रेडिएशन थैरेपी दी गई। इसके साथ ही 201 रोगियों की सर्जरी भी की गई है। सर्जरी में 6 से 8 घंटे तक चलने वाली कई जटिल सर्जरीयां भी की गई है।

कोरोना संक्रमण से रोगियों और चिकित्साकर्मी दोनों को बचाने के लिए चिकित्सालय की ओर से अहम सुरक्षा इंतजाम अपनाए गए है। इसके लिए चिकित्सा परिसर में एक अलग ब्लॉक तैयार किया गया है। रेड जोन से आने वाले रोगी और जिन्हें कोरोना के लक्षण है उन रोगियों को इस ब्लॉक में चिकित्सा सुविधाएं दी जा रही है। यहां रोगियों का कोरोना टेस्ट करवाने के बाद कैंसर का उपचार उपलब्ध कराया जा रहा है। चिकित्सालय में आने वाले सभी रोगियों की थर्मल स्क्रीनिंग करने के साथ ही एक्टिव ट्रीटमेंट ले रहे रोगियों का अनिवार्य रूप से कोरोना टेस्ट करवाया जाता है।
 

यह भी पढ़ें:

गर्दन के ट्यूमर की जटिल सर्जरी कर दिया नया जीवन, मरीज अब पूरी तरह से स्वस्थ

जयपुर के एक निजी अस्पताल के चिकित्सकों ने एक मरीज के गर्दन के ट्यूमर की जटिल सर्जरी कर उसे नया जीवन दिया है। ऑपरेशन में ट्यूमर को पूरी तरह निकाल दिया गया है। मरीज अब पूरी तरह से स्वस्थ है और खाना-पीना कर रहा है। इसके बाद अब मरीज की अस्पताल से छुट्टी कर दी गई है।

19/08/2020

17 वर्षीय हार्ट रिसिपिएंट अस्पताल से डिस्चार्ज, कुछ दिनों तक रहेगा चिकित्सकों की निगरानी में

प्रदेश के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल से 17 वर्षीय हार्ट रिसिपिएंट को डिस्चार्ज कर दिया गया। वह अब पूरी तरह से स्वस्थ्य है और अपने रोजमर्रा के जरूरी काम करने में सक्षम है। लेकिन उअस्पताल प्रशासन की ओर से उसे एतिहात के लिए बनीपार्क जयसिंह हाइवे स्थित माधव आश्रम में रखा गया।

07/02/2020

सेरेब्रल मलेरिया की दस्तक, चपेट में आई बालिका

डेंगू बुखार और सामान्य मलेरिया के बाद अब प्रदेश में सेरेब्रल मलेरिया ने भी दस्तक दे दी है। इस बीमारी को जानलेवा फालस्पिैरम मलेरिया के नाम से भी जाना जाता है।

18/10/2019

मोबाइल का हद से ज्यादा उपयोग करने वालों को टेनिस एल्बो का खतरा

यह खबर हर घर हर अभिभावकों के लिए जरूरी है। मोबाइल का हद से ज्यादा उपयोग करने वाले लोग टेनिस एल्बो से पीड़ित होने लगे हैं। इतना ही नहीं वे बच्चे जो आउटडोर गेम की बजाय दिनभर वीडियो गेम या मोबाइल में गेम खेलते रहते हैं, उन्हें भी टेनिस एल्बो का असहनीय दर्द हो सकता है।

15/01/2020

SMS में हुआ प्रदेश का 41वां अंगदान, 14 वर्षीय विशाल ने ब्रेन डैड होने के बाद 4 लोगों को दिया जीवनदान

सवाई मानसिंह अस्पताल में 41वां अंगदान किया गया है। प्राचार्य एसएमएस मेडिकल कॉलेज डॉ. सुधीर भंडारी ने बताया कि देर रात तक अंगों का प्रत्यारोपण किया गया। दोनों किडनीयों को सवाई मानसिंह चिकित्सालय, लिवर को महात्मा गांधी अस्पताल, जयपुर में प्रत्यारोपित किया गया।

02/02/2021

इंसुलिनोमा टयूमर की हुई पहचान, मोलिक्यूर फंक्शनल इमेजिंग टेस्ट के जरिए कैंसर की जांच

शरीर में इंसुलिन की मात्रा को तेजी से बढ़ाने वाले कैंसर 'इंसुलिनोमा टयूमर' की पहचान राज्य में पहली बार हुई है। प्रदेश के भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के न्यूक्लियर मेडिसन विभाग में इस रेयर टयूमर को डायग्नोस किया गया है।

11/09/2019

गंभीर कैंसर रोगियों का दर्द कम करती है पैलिएटिव थैरेपी

कैंसर एक घातक व दिल दहला देने वाली जानलेवा बीमारी है। दुनिया भर में होने वाली छह में से एक व्यक्ति की मौत का कारण कैंसर है।

18/04/2019