Dainik Navajyoti Logo
Saturday 17th of April 2021
 
स्वास्थ्य

कोरोना से अटकी 'रोशनी', संक्रमण के चलते दान नहीं हो सकी आंखें

Monday, January 04, 2021 11:55 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

जयपुर। राजस्थान में कोरोना महामारी के कारण अंधता से जूझ रहे हजारों लोगों के जीवन में रोशनी का इंतजार और लंबा हो गया है। संक्रमण के खतरे के चलते आंखें यानि कॉर्निया दान करने की रफ्तार पर ब्रेक से लग गए। प्रदेश में इस साल मार्च में कोरोना की दस्तक के बाद से कार्निया दान होने की प्रक्रिया एक तरह से थम सी गई। राजस्थान में पिछले साल जहां 1741 लोगों ने मरणोपरांत अपनी आंखें दान की थी, इनमें से 1293 अंधता पीड़ित लोगों को कार्निया ट्रांसप्लांट कर उनके जीवन को रोशन किया गया था। वहीं इस साल केवल 219 लोगों की मरणोपरांत कार्निया दान हो सकी है और केवल 187 लोगों को कार्निया ट्रांसप्लांट हुआ है।

13 साल में सबसे कम नेत्र दान
प्रदेश में वर्ष 2007 में 306 आंखें दान हुई थी। इसके बाद वर्ष 2012 के बाद से हर साल 1 हजार से ज्यादा ही आंखें दान हुर्इं हैं। कोरोना महामारी के कारण 13 साल बाद रिकॉर्ड कम आंखें दान हुई है। राजस्थान आई बैंक सोसायटी के अध्यक्ष बीएल शर्मा ने बताया कि तीन माह में आंखें दान कराने की प्रक्रिया को फिर से गति मिली है। इनमें से अस्सी फीसदी ट्रांसप्लांट की गई हैं।

क्यों थमा डोनेशन, कोविड जांच के बाद ही अब डोनेशन
कोरोना संक्रमण के चलते आंखों में भी वायरस का संक्रमण होने का खतरा रहता है। आई बैंक सोसायटी के वॉलेंटियर्स और कार्निया निकालने वाले टैक्नीशियन और डॉक्टरों को भी संक्रमण लगने का खतरा इससे हो सकता था। ऐसे में कार्निया का डोनेशन मार्च से जुलाई माह तक लगभग बंद सा हो गया था। आई बैंक सोसायटियों का काम ठप हो गया था। आंखें दान नहीं हो सकी थी। बाद में कोरोना गाइडलाइन का प्रोटोकॉल का कार्निया डोनेशन से पहले पालन कर जनस्वास्थ्य निदेशक डॉ. केके शर्मा ने डोनेशन की प्रक्रिया को रफ्तार देने की कोशिश की। इसके तहत अब मरणोपरांत परिजन व्यक्ति की आंखें दान करना चाहते हैं तो मृतक की पहले कोविड जांच कराई जाती है। रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही उसकी आंखें निकाल कर ट्रांसप्लांट में उपयोग की जा रही है।

किस साल में कितनी आंखें हुई दान
वर्ष       आंखें दान    ट्रांसप्लांट
2010       635         417
2011       953         465
2012      1023        603
2013      1168        801
2014      1070        638
2015      1001        683
2016      1254        904
2017      1289        777
2018      1221        876
2019      2179       1437
2020      1741       1293

यह भी पढ़ें:

स्तन हटाए बिना लेजर से कैंसर का कारगर इलाज

देश में महिलाओं की मौत के सबसे बड़े कारण स्तन कैंसर से जंग में लेजर तकनीक काफी कारगर सिद्ध हो रही है। कैंसर सर्जरी के कुल मामलों में 80 प्रतिशत मुख तथा स्तन कैंसर के हैं ऐसे में इस नई तकनीक को सभी के लिए सुलभ बनाने की सख्त जरूरत है।

22/11/2019

गतिहीन शुक्राणु लेकिन लेजर आईवीएफ पद्धति से पितृत्व सुख

उदयपुर। जयपुर के अविनाश कुमार के रूप में (बदला नाम) के शुक्राणु गतिहीन होने का एक अनूठा मामला सामने आया है।

23/09/2019

एंकालूजिंग स्पॉन्डिलाइटिस से पीड़ित मरीज की हिप जॉइंट सर्जरी, 3डी प्रिंटिंग तकनीक से राजस्थान में पहले ऑपरेशन का दावा

राजधानी के एचसीजी अस्पताल में 20 साल से एंकालूजिंग स्पॉन्डिलाइटिस बीमारी से पीड़ित मरीज की सफल सर्जरी की गई। इस बीमारी में कूल्हे के जोड़ के एक जगह जड़ हो गए। डॉक्टर्स ने इस जटिल केस को 3डी प्रिंटिंग तकनीक की सहायता से सफलतापूर्वक ठीक कर दिया। दावा है कि राजस्थान में इस तरह की सर्जरी का यह पहला मामला है।

03/12/2019

SMS अस्पताल के चिकित्सकों ने किया कमाल, हार्ट का ऑपरेशन कर जन्मजात विकृति की दूर

प्रदेश के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल के कार्डियो थोरेसिक विभाग ने एक जटिल ऑपरेशन कर 19 वर्षीय किशोरी के हृदय की जन्मजात विकृति को दूर करने में सफलता हासिल की है। इसमें चिकित्सकों ने यह ऑपरेशन बिना छाती की हड्डी कांटे एक छोटा सा चीरा लगाकर अंजाम दिया है।

17/11/2020

डेंगू होने से फेफड़ों ने काम करना बंद कर दिया, वेंटीलेटर भी फेल, डॉक्टर्स ने बचाया

डेंगू के गंभीर स्थिति में हो जाने के बाद प्रिंस के फेफड़ों ने काम करना बंद कर दिया था। कृत्रिम सांस देने के लिए लगाया गया वेंटीलेटर भी फेल हो गया था।

18/10/2019

कट्टरपंथी इस्लाम के प्रसार को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय बैठक बुलाउंगा : ट्रम्प

इस्लामिक स्टेट आतंकवादी समूह और इस्लामिक कट्टरपंथियों से निपटने के लिए विदेश नीति के दृष्टिकोण को पेश करते हुए रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि राष्ट्र निर्माण का युग खत्म होना चाहिए.

16/08/2016

दक्षिण कोरिया के नौसेना स्टेशन में विस्फोट के बाद एक की मौत, 3 घायल

दक्षिण कोरिया के दक्षिण पूर्व में एक नौसेना स्टेशन पर एक पनडुब्बी पर मरम्मत के काम के दौरान दुर्घटनावश विस्फोट होने के बाद एक सैनिक की मौत हो गई और अन्य लापता हैं.

16/08/2016