Dainik Navajyoti Logo
Saturday 27th of February 2021
 
स्वास्थ्य

पेल्विक बोन ट्यूमर की जटिल सर्जरी, महात्मा गांधी अस्पताल में हुआ सफल ऑपरेशन

Sunday, January 31, 2021 10:40 AM
महात्मा गांधी अस्पताल में सफल सर्जरी।

जयपुर। महात्मा गांधी अस्पताल के चिकित्सकों ने झुंझुनूं जिले की 14 वर्षीय किशोरी के पेल्विक बोन ट्यूमर की सफल सर्जरी की है। किशोरी अपने बाएं कूल्हे (पेल्विक रीजन) में दर्द को लेकर अस्पताल भर्ती हुई। जांच में उसे इविंग्स सारकोमा नामक कैंसर की पुष्टि हुई। यह बीमारी लाखों में से किसी एक को होती है। एम्स नई दिल्ली व पीजीआई चंडीगढ़ से प्रशिक्षित जोड़ प्रत्यारोपण एवं हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. संदीप यादव ने बताया कि इविंग्स सारकोमा का उपचार करने के लिए पहले मेडिकल ऑन्कोलोजिस्ट डॉ. अजय यादव की मदद से नियो एडजुवेंट कीमो थैरेपी दी गई। इससे कैंसर का आकार कम करके उसे आगे फैलने से रोका गया। इसके बाद इंटरनल हेमीपेल्विक्टमी सर्जरी द्वारा बाएं कूल्हे की हड्डी (लेफ्ट हैमीपेल्विस) को निकाला गया और ईसीआरटी करके हाई रेडिएशन दिया गया। इस तरह कैंसर संक्रमण से मुक्त पेल्विक बोन को फिर से प्रत्यारोपित कर दिया गया।

यह भी पढ़ें:

850 ग्राम की जन्मे शिशु ने जीती जिंदगी की जंग, डॉक्टरों की मेहनत लाई रंग

जहां 850 ग्राम की प्री-मैच्योर डिलीवरी हुई बच्ची को बचा लिया गया।

19/10/2019

थ्रीडी टेक्नोलॉजी से दिया न्यूरो सर्जरी का लाइव डेमो, 12 साल की एकता का सफल ऑपरेशन

एसएमएस अस्पताल के न्यूरो सर्जरी विभाग में पहली बार एक्सप्लोर क्रेनिया वर्टिब्रल जंक्शन वर्कशॉप का आयोजन किया गया। एम्स नई दिल्ली सहित देश के नामचीन न्यूरो सर्जन्स ने तिरछी रीढ़ की हड्डी को सीधी करने तथा क्रिमियो वर्टिब्रल जंक्शन के फ्रैक्चर के थ्रीडी तकनीक से लाइव ऑपरेशन किए।

30/12/2019

मरने के बाद तीन लोगों को नई जिंदगी दे गया हरीश, लीवर और किडनी की डोनेट

28 साल का हरीश मरने के बाद भी तीन लोगों को नई जिन्दगी दे गया। रोड एक्सीडेंट के बाद ब्रेन डेड हुए जयपुर के हरीश के परिजनों ने ब्रेन डैड के लिए बनी कमेटी और अस्पताल के चिकित्सकों की समझाइश के बाद उसकी दोनों किडनी और लिवर दान करने की रजामंदी दी।

20/12/2019

हार्ट फेलियर इलाज के लिए नई दवा मंजूर, हृदय रोगियों को मिलेगी राहत

हाल ही में ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने हार्ट फेलियर विद रिड्यूज्ड इजेक्शन फ्रैक्शन (एचएफआरईएफ) से पीड़ित वयस्क मरीजों के इलाज के लिए डैपाग्लिफ्लोजिन नाम की दवा को मंजूरी दी है। इससे दिल की बीमारी और हार्ट फेलियर से होने वाली मरीजों की मौत का जोखिम कम होगा।

29/08/2020

जयपुर में जुटे देश-विदेश के नामचीन शिशु रोग विशेषज्ञ

बंदोपाध्याय ने कहा कि देश में शिशु मृत्युदर चिंता का विषय है, इसे कम करने के लिए हमें समाज की मानसिकता को बदलना होगा।

05/10/2019

सेरेब्रल मलेरिया की दस्तक, चपेट में आई बालिका

डेंगू बुखार और सामान्य मलेरिया के बाद अब प्रदेश में सेरेब्रल मलेरिया ने भी दस्तक दे दी है। इस बीमारी को जानलेवा फालस्पिैरम मलेरिया के नाम से भी जाना जाता है।

18/10/2019

इस खास तकनीक से बिना सीना चीरे बदला हार्ट वाल्व

कभी बुजुर्गों की मानी जाने वाले हृदय की बीमारियां अब युवा पीढ़ी को भी अपनी चपेट में ले रही है । यह समाज के लिए बड़ी चुनौती है।

07/11/2019