Dainik Navajyoti Logo
Saturday 25th of January 2020
 
स्वास्थ्य

सेरेब्रल मलेरिया की दस्तक, चपेट में आई बालिका

Friday, October 18, 2019 18:40 PM
फालस्पिैरम मलेरिया से ग्रसित बालिका को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जयपुर। डेंगू बुखार और सामान्य मलेरिया के बाद अब प्रदेश में सेरेब्रल मलेरिया ने भी दस्तक दे दी है। इस बीमारी को जानलेवा फालस्पिैरम मलेरिया के नाम से भी जाना जाता है। ऐसा ही एक मामला संभाग के नावां कस्बे में सामने आया है। कॉम्प्लीकेटेड वायवैक्स पॉजिटिव और फालस्पिैरम मलेरिया से ग्रसित बालिका को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हॉस्पिटल में विषेषज्ञ चिकित्सकों की देखरेख में उपचाराधीन बालिका की गहन चिकित्सा पद्धति से इलाज कर उसकी जान बचाई गई है। खंडाका अस्पताल के बाल और नवजात शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. शिव कुमावत ने बताया कि गत बालिका को अचेत अवस्था में भर्ती किया गया था। रोगी को मलेरिया के साथ पीलिया भी था।

एमआरआई और रक्त जांच की रिपोर्ट में बालिका को कॉप्लीकेटेड वायवैक्स पॉजिटिव व फालस्पिैरम मलेरिया था। इसमें सेरिब्रल मलेरिया होता है और साथ ही रोगी को हिमोलिसिस हो जाता है। ऐसी स्थिति में रोगी का लीवर काम करना बंद कर देता है। इससे प्लेटलेट्स कम हो जाते हैं। रोगी के प्लेटलेट्स भी 15 हजार से नीचे पहुंच गए थे। इसके साथ ही उसे हल्का ब्रेन हेमरेज भी था। उन्होंने बताया कि इस प्रकार के मरीज की बचने की संभावना ना के बराबर होती है। सीईओ डॉ. सुधीर व्यास ने बताया कि रोगी को आईसीयू में रखकर उसे सात यूनिट विभिन्न प्रकार के ब्लड कॅम्पोनेंट्स दिए गए। काफी उतार-चढ़ाव के बाद आखिरकार रोगी की जान बचाने में सफलता मिल गई। डॉ. मनीष व्यास ने बताया कि ऐसे रोगी का पता चलने के बाद चिकित्सा विभाग की टीम संबधित इलाके में लोगो के सैंपल्स लेती है। अस्पताल प्रशासन ने मामले की गंभीरता को देखते हुए चिकित्सा विभाग को भी इस मामले से अवगत कराया है।

 

यह भी पढ़ें:

सर्जरी में रखे ध्यान, बेहतर होंगे परिणाम

ज्वाइंट रिप्लेसमेंट का मतलब शरीर के किसी भी हिस्से का ज्वाइंट हो सकता है। इसमें घुटनों का बदलना भी शामिल है और हिप रिप्लेसमेंट भी।

14/05/2019

850 ग्राम की जन्मे शिशु ने जीती जिंदगी की जंग, डॉक्टरों की मेहनत लाई रंग

जहां 850 ग्राम की प्री-मैच्योर डिलीवरी हुई बच्ची को बचा लिया गया।

19/10/2019

युवा ले रहे अत्यधिक स्टेरोयड्स, हो रही ये बीमारी

आमतौर पर बुढ़ापे में सताने वाला आर्थराइटिस रोग अब युवाओं में भी देखने को मिल रहा है। बॉडी बनाने के लिए स्टेरोइड सेवन, स्पोर्ट्स इंजरी की अनदेखी, फिजिकल एक्टीविटी नहीं करने के कारण युवाओं में यह बीमारी सामने आ रही है।

12/10/2019

14 माह की बच्ची के लीवर कैंसर की सफल सर्जरी

सवाई मानसिंह अस्पताल के गेस्ट्रोसर्जरी एवं एनेस्थिसिया विभाग के चिकित्सकों ने महज 14 माह की बच्ची के लीवर कैंसर का आॅपरेशन करने में सफलता प्राप्त की है।

10/04/2019

Video: जानिए, अस्थमा के इलाज से जुड़ी इनहेलेशन थैरेपी के बारे में

जागरुकता का अभाव, बदलती जीवनशैली, अनुचित खानपान और उससे बढ़ता मोटापा सहित प्रदूषण से अस्थमा तेजी से बढ़ रहा है।

07/05/2019

डॉक्टर्स ने 75 दिन के अथक प्रयासों के बाद 670 ग्राम की बच्ची को दिया जीवनदान

इतने लंबे समय तक सरकारी अस्पताल में किसी नवजात को भर्ती रखने का संभवत: यह पहला मामला है।

08/01/2020

Video: गुर्दे का कैंसर पहुंचा हार्ट तक, 8 घंटे की सफल सर्जरी के बाद स्थापित किया कीर्तिमान

यह ट्यूमर किडनी की खून की नली के रास्ते होता हुआ ह्रद्य के निचले चैम्बर तक अपनी जडे जमा चुका था एवं विष्व में इस तरह का यह तीसरा सफल ऑपरेशन है।

06/01/2020