Dainik Navajyoti Logo
Thursday 21st of January 2021
 
स्वास्थ्य

उत्तर भारत में पहली बार कैडवरिक गुर्दा प्रत्यारोपण, SMS अस्पताल में हुआ सफल लीवर और किडनी ट्रांसप्लांट

Friday, November 13, 2020 10:10 AM
सवाई मानसिंह अस्पताल।

जयपुर। सवाई मानसिंह अस्पताल (एसएमएस अस्पताल) के चिकित्सकों ने एक बार फिर अंग प्रत्यारोपण के क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित किया है। यहां चिकित्सकों ने पहली बार स्वयं के स्तर पर लीवर का ट्रांसप्लांट किया है। इससे पहले दिल्ली स्थित आईएलबीएस अस्पताल के चिकित्सकों के साथ एमओयू के तहत अस्पताल में लीवर ट्रांसप्लांट किए गए, लेकिन पिछले दो साल से अस्पताल के चिकित्सकों के बीच अंदरूनी खींचतान के चलते लीवर ट्रांसप्लांट नहीं हो पाया था, लेकिन अब बुधवार देर रात को एक जरूरतमंद मरीज को लीवर का प्रत्यारोपण किया गया है। वहीं ब्रेन डेथ होने के बाद 16 वर्षीय बच्चे के परिजनों द्वारा हार्ट, लीवर व दोनों किडनी का दान किया गया था। बाद में एसएमएस डॉक्टर्स की टीम ने लीवर व दो गुर्दों का सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण किया गया। इस सफलता पर चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने भी उत्तर भारत में पहली बार सफलतापूर्वक कैडवरिक गुर्दा प्रत्यारोपण करने पर एसएमएस प्रबंधन एवं डॉक्टर्स की टीम को बधाई दी है।

हार्ट को भेजा दिल्ली के निजी अस्पताल
एसएमएस अस्पताल के अधीक्षक डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि 11 नवंबर को यूरोलॉजी व गैस्ट्रो सर्जरी विभाग की टीम द्वारा 2 मरीजों को गुर्दा व लीवर प्रत्यारोपण किया गया। उन्होंने बताया कि यह देश में संभवतया पहला मामला है जब एक साथ  कैडवरिक गुर्दा प्रत्यारोपण किया गया। इसमें एक महिला की उम्र करीब 63 वर्ष थी। दोनों गुर्दे सफलतापूर्वक कार्य कर रहे हैं। गुर्दा प्रत्यारोपण यूरोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष व वरिष्ठ आचार्य डॉ. एस एस यादव के नेतृत्व में किया गया। गैस्ट्रो सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ. राम डागा के अनुसार लीवर प्रत्यारोपण प्रक्रिया का संचालन डॉ. आर के जैनव ने किया।

यह भी पढ़ें:

इम्यूनिटी और वैक्सीन के बाद हारेगा कोरोना, संक्रमण के फैलाव के साथ लोगों में विकसित हो रही इम्यूनिटी

कोरोना का समय जैसे-जैसे बढ़ता जा रहा है, इसके इलाज और इम्यूनिटी पावर से संबंधित सवालों के जवाब मिल रहे हैं। कुछ देशों से कोरोना की वैक्सीन तैयार करने का दावा भी किया है लेकिन उसके बारे में कुछ स्पष्ट स्थिति सामने नहीं आ रही है। वहीं कोरोना केसों में हो रही वृद्धि के कारण आमजन में हर्ड इम्यूनिटी बढ़ने की चर्चा भी चल रही है।

09/09/2020

17 वर्षीय हार्ट रिसिपिएंट अस्पताल से डिस्चार्ज, कुछ दिनों तक रहेगा चिकित्सकों की निगरानी में

प्रदेश के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल से 17 वर्षीय हार्ट रिसिपिएंट को डिस्चार्ज कर दिया गया। वह अब पूरी तरह से स्वस्थ्य है और अपने रोजमर्रा के जरूरी काम करने में सक्षम है। लेकिन उअस्पताल प्रशासन की ओर से उसे एतिहात के लिए बनीपार्क जयसिंह हाइवे स्थित माधव आश्रम में रखा गया।

07/02/2020

भारतीयों में आंखों की बढ़ती बीमारी से चिंता

विश्व दृष्टि दिवस पर हाल में जारी एक शोध के नतीजे में कहा गया है कि भारतीयों में दृष्टि दोष या आंखों के कमजोर और बीमार होने के मामले हाल में बहुत बढ गए हैं।

12/10/2019

एसएमएस अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में बनेगा स्पेशियलिटी क्लीनिक

सवाई मानसिंह अस्पताल में अब मिर्गी, लकवा, डिमेंशिया एवं मूवमेंट डिस ऑर्डर के मरीजों के लिए राहत की खबर है। इन मरीजों के लिए अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में जल्द ही स्पेशियलिटी क्लीनिक शुरू की जाएगी।

22/11/2019

पत्नी ने किडनी डोनेट कर बचाया सुहाग, डॉक्टर्स डे पर किडनी रोगी को मिला जीवनदान

महात्मा गांधी अस्पताल के नेफ्रोलॉजी विभाग के चिकित्सकों की टीम ने 18 साल से किडनी रोग से पीड़ित युवक की किडनी प्रत्यारोपण कर जान बचाने में सफलता अर्जित की है। डॉ. गोदारा ने बताया कि कोरोना काल में किसी रोगी का किडनी ट्रांसप्लांट बहुत अधिक चुनौती भरा होता है। चिकित्सकों ने यह चुनौती स्वीकार कर आखिरकार राजेश को किडनी ट्रांसप्लांट किया। राजेश को किडनी उसकी धर्मपत्नी वर्षा ने दी।

01/07/2020

900 मिलियन एंड्रॉयड डिवाइस में हैं ये खामियां

एंड्रॉयड यूजर्स एक बार फिर से खतरे में हैं. रिपोर्ट के मुताबिक क्वॉलकॉम के चिपसेट वाले स्मार्टफोन्स और टैबलेट में क्वॉड रूटर पाया गया है. यानी दुनिया भर के 900 मिलियन एंड्रॉयड स्मार्टफोन और टैबलेट में मैलवेयर अटैक हो सकता है.

16/08/2016

नाइजीरियन युवक के खराब हो चुके कूल्हे के जोड़ों का प्रत्यारोपण

नाईजीरिया के अमादि ओजी कूल्हों के जोड़ों में असहनीय दर्द के चलते चलने-फिरने तक के लिए भी मोहताज हो गए। मरीज जब जयपुर आया तो यहां जटिल ऑपरेशन कर मरीज के दोनों कूल्हे के जोड़ प्रत्यारोपण किया गया।

11/09/2019