Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 11th of May 2021
 
मूवी-मस्ती

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने सुपरवाइजर से की थी करियर की शुरुआत

Friday, October 11, 2019 11:35 AM
बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन (फाइल फोटो)

मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन पांच दशक से अपनी अपनी दमदार आवाज और अभिनय के दम पर दर्शकों के दिलों पर राज कर रहे हैं, लेकिन उन्हें करियर के शुरूआती दिनों में अपनी पहचान बनाने के लिये कड़ा संघर्ष करना पड़ा। आज यानि 11 अक्टूबर को अमिताभ का जन्मदिन हैं, इनके फैन्स व शुभचिंतक इन्हें सोशल मीडिया पर बधाई दे रहे हैं।

इलाहाबाद में 11 अक्टूबर 1942 को जन्मे अमिताभ ने अपने करियर की शुरूआत कोलकत्ता में बतौर सुपरवाइजर से की जहां उन्हें 800 रुपये मासिक वेतन मिला करता था। वर्ष 1968 में कलकत्ता की नौकरी छोड़ने के बाद मुंबई आ गये।  बचपन से ही अमिताभ का झुकाव अभिनय की ओर था और अभिनय सम्राट दिलीप कुमार से प्रभावित रहने के कारण वह उन्हीं की तरह अभिनेता बनना चाहते थे। वर्ष 1969 में अमिताभ को पहली बार ख्वाजा अहमद अब्बास की फिल्म सात हिन्दुस्तानी में काम करने का मौका मिला। लेकिन इस फिल्म के असफल होने के कारण वह दर्शकों के बीच कुछ खास पहचान नहीं बना पाये।

वर्ष 1971 मे अमिताभ को राजेश खन्ना के साथ फिल्म आनंद में काम करने का मौका मिला। राजेश खन्ना जैसे सुपरस्टार के रहते हुये भी अमिताभ दर्शकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में सफल रहे। इस फिल्म के लिये उन्हें सहायक अभिनेता का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया। निर्माता प्रकाश मेहरा की फिल्म जंजीर अमिताभ के सिने कैरियर की महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुई। फिल्म की सफलता के बाद बतौर अभिनेता अमिताभ फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गये। दिलचस्प तथ्य यह है कि फिल्म जंजीर में अमिताभ को काम करने का मौका सौभाग्य से ही मिला।

वर्ष 1973 में निर्माता-निर्देशक प्रकाश मेहरा अपनी जंजीर फिल्म के लिये अभिनेता की तलाश कर रहे थे। पहले तो उन्होंने इस फिल्म के लिये देवानंद से गुजारिश की और बाद में अभिनेता राजकुमार से काम करने की पेशकश की, लेकिन किसी कारणवश दोनों अभिनेताओं ने जंजीर में काम करने से इनकार कर दिया।

बाद में अभिनेता प्राण ने प्रकाश मेहरा को अमिताभ का नाम सुझाया और उनकी फिल्म बांबे टू गोवा देखने की सलाह दी। फिल्म को देखकर प्रकाश मेहरा काफी प्रभावित हुये और उन्होने अमिताभ को बतौर अभिनेता चुन लिया।

जंजीर के निर्माण के दौरान एक दिलचस्प वाकया हुआ (स्टूडियो में फिल्म की शूटिंग के दौरान राजकपूर भी अपनी फिल्म की शूटिंग में व्यस्त थे। उसी दौरान राजकपूर ने अमिताभ की आवाज सुनी लेकिन तब तक वह नहीं जानते थे कि यह किसकी आवाज है। उन्होंने कहा कि एक दिन इस दमदार आवाज का मालिक फिल्म इंडस्ट्री का बेताज बादशाह बनेगा..। फिल्म जंजीर की सफलता के बाद अमिताभ बच्चन की गिनती अच्छे अभिनेता के रूप में होने लगी और वह फिल्म उद्योग में एंग्री यंग मैन कहे जाने लगे।

वर्ष 1975 में यश चोपड़ा के निर्देशन मे बनी फिल्म दीवार ने अमिताभ की पिछली सभी फिल्मों के रिकार्ड तोड़ दिये और शोले की सफलता के बाद तो उनके सामने सारे कलाकार फीके पड़ने लगे और अमिताभ फिल्म इंडस्ट्री मे सुपर स्टार के सिंहासन पर जा बैठे। सुपर स्टार के रूप में अमिताभ नयी उंचाई पर पहंच चुके थे।

इसका सही अंदाज लोगों को तब लगा जब 1982 में निर्माता -निर्देशक मनमोहन देसाई की फिल्म कुली की शूटिंग के दौरान वह गंभीर रूप से घायल होने के बाद लगभग मौत के मुंह में पहुंच गये। इसके बाद देश के हर मंदिर, मस्जिद और गुरूदारे में हर जाति और धर्म के लोगों ने उनके ठीक होने की दुआएं मांगी मानो अमिताभ उनके ही अपने परिवार का कोई सदस्य हों। लोगो की दुआंए रंग लाई और अमिताभ जल्द ही ठीक को गये।

वर्ष 1984 में अपने मित्र राजीव गांधी के आग्रह पर उन्होंने राजनीति में प्रवेश किया और इलाहाबाद से सांसद का चुनाव लड़ा व सांसद के रूप में चुन लिये गये लेकिन अमिताभ को अधिक दिनों तक राजनीति रास नहीं आई और सांसद के रूप में तीन वर्ष तक काम करने के बाद उन्होंन सांसद के पद से इस्तीफा दे दिया। इसकी मुख्य वजह यह थी कि उनका नाम उस समय बोफोर्स घोटाले में खींचा जा रहा था। इसके बाद अमिताभ पुन: फिल्म इंडस्ट्री मे सक्रिय हो गये ओर उन्होंने फिल्मों में अभिनय करना जारी रखा। लेकिन 90 के दशक के आखिर में उनकी फिल्में असफल होने लगी जिसके बाद अमिताभ बच्चन ने 1997 तक अपने आप को अभिनय से अलग रखा।


वर्ष 1997 मे अमिताभ ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में कदम रखा और ए.बी.सी.एल . बैनर का निर्माण किया। इसके साथ ही अपने बैनर की निर्मित पहली फिल्म मृत्युदाता के जरिये अमिताभ ने एक बार फिर से अभिनय करना शुरू किया। इसके बाद वर्ष 2000 मे हीं टीवी प्रोग्राम कौन बनेगा करोड़पति में भी अमिताभ को काम करने का मौका मिला। कौन बनेगा करोड़पति की कामयाबी के बाद अमिताभ एक बार फिर से दर्शकों के चहेते कलाकार बन गये।

अमिताभ ने कई फिल्मों में गीत भी गाये हैं। उन्होंने  सबसे पहले वर्ष 1979 में प्रदर्शित फिल्म मिस्टर नटवर लाल में (मेरे पास आओ मेरे दोस्तों (गीत गाया  था। वर्ष 2016 में अमिताभ की  वजीर, तीन और पिंक जैसी फिल्में प्रदर्शित हुईं। फिल्म पिंक के लिये अमिताभ सर्वश्रेष्ठ अमिनेता के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किये गये। उन्हें 1984 में पद्मश्री और 2001 में पद्मभूषण तथा 2015 में पद्मविभूषण भी दिया जा चुका है।

वर्ष 2017 में अमिताभ की सरकार तीन और वर्ष 2018 में 102 नॉट आउट और ठग्स ऑफ हिन्दुस्तान प्रदर्शित हुयी। अमिताभ की इस वर्ष फिल्म बदला प्रदर्शित हुयी जो सुपरहिट साबित हुयी है। इन दिनों अमिताभ बच्चन न सिर्फ बड़े परदे पर ही नहीं बल्कि छोटे पर्दे पर भी जौहर दिखा रहे हैं। वह कौन बनेगा करोड़पति को होस्ट कर रहे हैं।  अमिताभ को हाल ही में फिल्म इंडस्ट्री के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार दिये जाने की घोषणा हुयी है। अमिताभ की आने वाली फिल्मों में ब्रह्मास्त्र और झुंड प्रमुख हैं।

यह भी पढ़ें:

अभिनेत्री कंगना रनौत को मिली 'Y' कैटेगरी की सुरक्षा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का जताया आभार

अभिनेत्री कंगना रनौत पर खतरे की स्थिति के आंकलन के बाद केंद्र ने सोमवार को उन्हें 'वाई' श्रेणी की सुरक्षा प्रदान करने का निर्णय लिया। 'वाई' श्रेणी की सुरक्षा के तहत कंगना मुंबई में रहने के दौरान दो कमांडो और 11 सुरक्षा कर्मियों के घेरे में रहेंगी।

07/09/2020

रामायण के 'सुग्रीव' का निधन, अरुण गोविल और सुनील लहरी ने जताया शोक

रामानंद सागर द्वारा निर्मित इस सीरियल में मुख्य किरदार निभाने वाले कलाकारों को लगभग सभी जानते हैं लेकिन कुछ कलाकार ऐसे हैं जो कुछ वक्त के लिए लाइमलाइट में आए और फिर लोग उन्हें भूल गए। ऐसे ही कलाकारों में से एक थे श्याम सुंदर, जिन्होंने सुग्रीव की भूमिका निभाई। श्याम सुंदर ने लॉकडाउन के इस माहौल में दुनिया को अलविदा कह दिया है।

09/04/2020

एक्टर आमिर खान हुए कोरोना संक्रमित, अभिनेता ने खुद को किया होम क्वारेंटाइन

बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान कोरोना संक्रमित हो गए हैं। आमिर की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आई है, जिसके बाद उन्होंने खुद को होम क्वारेंटाइन कर लिया है। आमिर ने अपने स्टाफ से भी टेस्ट कराने को कहा है।

24/03/2021

रवीना को किया गया था फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित

बॉलीवुड में रवीना टंडन को एक ऐसी अभिनेत्री के रूप में शुमार किया जाता है, जिन्होंने अपने बिंदास अभिनय से दर्शको को अपना दीवाना बनाया है।

26/10/2019

Video: जी टीवी के नए शो 'दिल ये ज़िद्दी है' का प्रोमो लॉन्च

इस दौरान शो के लीड स्टार रोहित सुख शांति और लीड एक्ट्रेस मेघारे सहित नेगेटिव किरदार निभा रहे शोएब अली ने अपने विचार दैनिक नवज्योति के संवाददाता के साथ साझा किए।

07/11/2019

फिल्म समीक्षा: साहो में एक्शन के ओवरडोज में कहानी गायब

बाहुबली के बाद प्रभास की फिल्म साहो का दो साल से लंबा इंतजार हो रहा था और उनकी इस फिल्म को हिन्दुस्तान की अब तक की सबसे हाई वोल्टेज एक्शन फिल्म करार देने से दर्शकों की जिज्ञासा बेहद बढ़ गई थी।

31/08/2019

रितिक बनाम टाइगर श्राफ का डबल एक्शन पंच

सुपर 30 जैसी यादगार फिल्म देने के बाद अभिनेता रितिक रोशन को उनके असल एक्शन अवतार में देखना फिल्म वॉर को यादगार बनाता है।

03/10/2019