Dainik Navajyoti Logo
Sunday 20th of June 2021
 
शिक्षा जगत

यूजीसी की रिवाइज्ड गाइडलाइन्स जारी, सितंबर 2020 अंत तक होंगी फाइनल ईयर की परीक्षाएं

Tuesday, July 07, 2020 12:45 PM
सांकेतिक तस्वीर।

नई दिल्ली। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने विश्वविद्यालयों और शैक्षणिक संस्थाओं की परीक्षाओं और नए एकेडमिक सत्र को लेकर रिवाइज्ड गाइडलाइन्स जारी कर दी हैं। यूजीसी के इस फैसले की जानकारी केद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने दी। यूजीसी की नई गाइडलाइन्स के अनुसार विश्वविद्यालयों, शैक्षिक संस्थाओं में स्नातक और परास्नातक की फाइनल ईयर/सेमेस्टर की परीक्षाएं सितंबर 2020 अंत तक आयोजित की जाएंगी। लेकिन सभी संस्थाओं और छात्रों को कोरोना वायरस से बचाव के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइन्स का पालन करना होगा। कोरोना मामलों में वृद्धि के मद्देनजर जुलाई के लिए निर्धारित कार्यक्रम को टाल दिया गया है। यूजीसी की ओर से जारी संशोधित दिशा-निर्देशों के मुताबिक सिंतबर में अंतिम वर्ष की परीक्षाएं दे पाने में असमर्थ छात्रों को एक और मौका मिलेगा और विश्वविद्यालय जब उचित होगा तब विशेष परीक्षाएं आयोजित करेंगे।

एचआरडी मंत्रालय का यह निर्णय केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से हरी झंडी दिए जाने के बाद आया है जिसमें उसने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तय मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के तहत परीक्षाएं आयोजित करने की मंजूरी दी थी। इस घोषणा के बाद कोविड-19 हालात के मद्देनजर अंतिम वर्ष की परीक्षाएं रद्द होने की अटकलों पर विराम लग गया है। यूजीसी के दिशा-निर्देशों के मुताबिक विश्वविद्यालय अथवा संस्थान द्वारा अंतिम वर्ष की परीक्षाएं ऑनलाइन, ऑफलाइन या दोनों माध्यमों से सितंबर अंत तक आयोजित की जाएंगी।

एचआरडी मंत्री निशंक ने कहा कि यूजीसी ने विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं से संबंधित अपनी पहले की गाइडलाइन्स को रिवाइज्ड किया है। काफी सलाह मशविरा के बाद छात्रों के बड़े हितों जैसे छात्रों की सुरक्षा, प्लेसमेंट और उनके करियर को ध्यान में रखते हुए नई गाइडलाइन्स जारी की गई हैं। यूजीसी ने अपने प्रेस नोट में लिखा है कि अप्रैल 2020 में कोरोना संकट को देखते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने विशेषज्ञों की एक समिति का गठन किया था कि वह परीक्षाओं और नए एकेडमिक सत्र को लेकर अपनी रिपोर्ट दे। इसी समिति की रिपोर्ट/अनुशंसा के आधार पर यूजीसी ने 29 अप्रैल 2020 को विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं और एकेडमिक कैलेंडर को लेकर गाइडलाइन्स जारी की थीं।

यूजीसी ने एक बार फिर इसी एक्सपर्ट कमेटी से आग्रह किया था कि वह अप्रैल में जारी की गई गाइडलाइन्स पर पुनर्विचार करे और विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं व एकेडमिक सत्र के बारे में सुझाव दें, क्योंकि मौजूदा दौर में कोरोना वायरस महामारी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इस समिति ने 6 जुलाई को यूजीसी की एक आपात बैठक में अपने सुझाव रखें जिसे यूजीसी ने स्वीकार कर लिया।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

जेईई मेन का परिणाम घोषित, प्रदेश के साकेत सहित छह छात्रों को मिले 100 पर्सेंटाइल

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन (फरवरी सेशन) का रिजल्ट सोमवार को घोषित कर दिया गया है। इसमें प्रदेश के कोटा जिले के छात्र साकेत झा सहित देश के छह छात्रों ने सौ पर्सेंटाइल अंक प्राप्त किए है। ऐसे में साकेत ने देशभर में प्रदेश व कोटा शहर का नाम रोशन किया है। दिल्ली के प्रवीण कटारिया व रंजीम प्रबल दास, चंडीगढ़ के गुरमहत सिंह, महाराष्ट्र के सिद्धांत मुखर्जी और गुजरात के अनंत कृष्णा को मिली है।

09/03/2021

नीट रिजल्ट-2020 पर फिर विवाद, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एनटीए को भेजा नोटिस

नीट 2020 रिजल्ट का मामला एक बार फिर कोर्ट पहुंच चुका है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के लखनऊ बेंच ने इसपर नीट का आयोजन करने वाली एजेंसी एनटीए को नोटिस भेजा है।

20/11/2020

IIS विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह

आईआईएस विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह विश्वविद्यालय के कैंपस में आयोजित किया गया।

20/12/2019

चार साल बाद भी राजस्थान यूनिवर्सिटी में पूरा नहीं हुआ नई सेंट्रल लाइब्रेरी का काम

राजस्थान विश्वविद्यालय में चार साल पूरे होने के बाद भी काम पूरा नहीं हो पाया है। बीती 7 जुलाई 2016 को नई सेंट्रल लाइब्रेरी का जोर-शोर से शिलान्यास किया गया था। 11 करोड़ 87 लाख रुपए की लागत से बनने वाली इस लाइब्रेरी का काम 1 साल में पूरा होना था, लेकिन चार साल से ज्यादा का समय बीत जाने के बाद भी अभी तक लाइब्रेरी को पूरा नहीं बनाया जा सका है।

01/12/2020

कोरोना का असर: RBSE की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं स्थगित, 8वीं, 9वीं और 11वीं के स्टूडेंट होंगे प्रमोट

प्रदेश में तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर गहलोत सरकार ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर बड़ा फैसला किया है। सरकार ने 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी है। इसके साथ ही 8वीं, 9वीं और 11वीं कक्षा के छात्र भी बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रमोट होंगे।

14/04/2021

सीएस कोर्स करना होगा आसान, छात्र कभी भी दें सकेंगे ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा

प्रदेश के साथ ही देशभर के विद्यार्थियों को भारतीय कंपनी सचिव संस्थान में आसानी से प्रवेश मिल सकेगा। इसके लिए संस्थान सीएस की परीक्षा के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा आयोजित करेगा, जिसको छात्र कभी भी अपनी सुविधा के अनुसार दे सकेंगे।

18/11/2019

सरकारी स्कूल में दानदाताओं ने वितरित किए स्वेटर और जूते

राजकीय माध्यमिक विद्यालय में 150 छात्रों को स्वेटर और जूते वितरित किए। इसके अलावा स्पोर्ट्स एकेडमी के लिए 32000 रुपयों का दान दाताओं ने सहयोग किया।

24/12/2019