Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 28th of September 2021
 
शिक्षा जगत

शिक्षकों को ही अटपटी लग रही ऑनलाइन पढ़ाई, माना अव्यवहारिक

Saturday, April 11, 2020 16:25 PM
कॉन्सेप्ट फोटो।

जयपुर। कोरोना के कारण स्कूली बच्चों की एग्जाम और उसके बाद की पढ़ाई में परेशानी के बदले ऑनलाइन पढ़ाई की सरकारी मंशा में शिक्षकों की सहमति ही नहीं बन पा रही। अधिकांश शिक्षकों ने इसे अव्यवहारिक माना है। कुछ शिक्षक संगठनों का मानना है कि सरकार ने बच्चों और अभिभावकों को राहत देने के लिए ऐसा करने की बात कही है, लेकिन राजस्थान में पिछड़े जिलों और गांवों में यह व्यवस्था व्यवहारिक रूप नहीं ले पाएगी। शिक्षकों की माने तो शिक्षा विभाग बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन कराना चाहता है, लेकिन यह अव्यवहारिक है। ना तो सभी बच्चों के पेरेंट्स के पास एंड्रोयड मोबाइल (50 फीसदी से भी कम) है। वहीं प्रदेश के रिमोट एरियाज मे नेटवर्क की समस्या रहती है।

शिक्षकों ने कहा कि लॉकडाउन में मोबाइल रिचार्ज की समस्या आम है तथा यह भी जरूरी नहीं कि पेरेंट्स अपने बच्चों को नेट रिचार्ज करवाकर मोबाइल उपलब्ध करवा दें। शिक्षकों के अनुसार यह व्यवस्था बाध्यकारी नहीं होनी चाहिए। पहले स्कूलों और अभिभावकों में समन्वय बनाने के लिए कदम उठाने होंगे, उसके बाद ही व्यवस्था ढंग से लागू हो सकती है। लॉकडाउन में अभिभावकों को इस व्यवस्था के लिए मानसिक रूप से तैयार करना जरूरी है, नहीं तो यह व्यवस्था कागजों में ही सिमट कर रह जाएगी।

शिक्षकों का कहना है कि ऑनलाइन पढ़ाई के इंतजाम से पहले अनुभवी विशेषग्यों की राय लेकर प्लान बनाना चाहिए। शिक्षकों से भी व्यवस्था के लिए सुझाव लिए जाने चाहिए। दूरदराज इलाकों के शिक्षकों को अभी भी यह व्यवस्था अटपटी सी लग रही है, क्योंकि वे अपने क्षेत्र के स्कूलों की व्यवहारिकता से परिचित हैं। यदि सरकार बच्चों और अभिभावकों को ऑनलाइन पढ़ाई के लिए जरूरत अनुसार नेट और मोबाइल सुविधा उपलब्ध कराने के प्रयास करेगी तो ही पिछड़े जिलों और गांवों के बच्चे इसका लाभ ले सकेंगे।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

CBSE बोर्ड ने छात्रों के लिए जारी किए नए हेल्पलाइन नंबर

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई की ओर से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने में छात्रों की मदद और उन्हें जागरूक करने के लिए नए टेली हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं।

26/03/2020

इनक्यूबेशन सेंटर से विद्यार्थियों को रोजगार में मिलेगी मदद

जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी, सीतापुरा में चल रहे जेयू-रिदम के दूसरे दिन बच्चों में उत्साह है। मुख्य अतिथि अवनीश सभरवाल ने जेआईसी इनक्यूबेशन सेंटर का शुभारम्भ किया।

29/02/2020

शिक्षा विभाग ने तय किया 10वीं और 12वीं बोर्ड रिजल्ट का फॉर्मूला, 45 दिनों के अंदर जारी होंगे परीक्षा परिणाम

शिक्षा विभाग की ओर से कक्षा 10वीं व 12वीं के परिणाम तय करने के लिए गठित समिति की रिपोर्ट के आधार पर शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बुधवार को फॉर्मूला जारी कर दिया है। समिति की ओर से निर्धारित फॉर्मूले के अनुसार पिछले दो वर्षों की परीक्षाओं को आधार बनाया जाएगा।

24/06/2021

सेना भर्ती लिखित परीक्षा का परिणाम किया जाएगा घोषित

सेना भर्ती लिखित परीक्षा का परिणाम 13 नवंबर को सुबह 11 बजे अभ्यर्थी के संबंधित भर्ती कार्यालय, मुख्यालय भर्ती कार्यालय, जयपुर और आईवीआरएस, जयपुर में घोषित किया जाएगा।

12/11/2019

स्टूडेंट स्टार्टअप सेशन का आयोजन

जेईसीआरसी फाउंडेशन में स्थापित इन्क्यूबेशन सेंटर में रजिस्टर्ड कम्पनी के लिए स्टूडेंट स्टार्टअप सेशन का आयोजन किया गया।

23/01/2020

कोरोना इफेक्ट: राजस्थान यूनिवर्सिटी की सभी परीक्षाएं स्थगित

आरयू की 19 मार्च से 31 मार्च तक आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाएं (प्रायोगिक एवं सैद्धांतिक) कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्थगित कर दी गई है।

19/03/2020

जेईई मेन मई सेशन-2021 की परीक्षा स्थगित, कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते शिक्षा मंत्रालय ने लिया फैसला

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने मई सेशन 2021 में होने वाली चौथे फेज की संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन परीक्षा को स्थगित कर दिया है। यह परीक्षाएं 24, 25, 26, 27 और 28 मई को आयोजित की जानी थी।

04/05/2021