Dainik Navajyoti Logo
Thursday 23rd of January 2020
 
शिक्षा जगत

बच्चों की नींव मजबूत करने के लिए प्राइमरी शिक्षा को बेहतर बनाने की जरूरत: डॉ. साहनी

Friday, January 10, 2020 16:30 PM
डॉ. संजीव साहनी

जयपुर। जिंदल इंस्टीट्यूट ऑफ बिहेवियरल साइंस की ओर से एक मोटिवेशनल लेक्चर का आयोजिन किया गया, जिसमें इंस्टीट्यूट के प्रिंसिपल डॉ. संजीव साहनी ने कहा कि बच्चों को जो उनके माता-पिता सिखाते हैं। वह वही सीखते हैं। इसलिए बच्चों को इस उम्र में सकारात्मक सोच और बेहतर मानसिकता के बारे में विस्तार से जानकारी दी जानी चाहिए।

इसके साथ ही बच्चों की नींव मजबूत करने के लिए प्राइमरी शिक्षा को बेहतर बनाने की दरकार है। साहनी ने कहा कि बच्चे तनाव और डिप्रेशन सहित अन्य कई परेशानियों के कारण बेहतर पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। इनमें सबसे अधिक जिम्मेदार उनके माता-पिता है जो उन पर पढ़ाई का जोर देते हैं।

यह भी पढ़ें:

सीए छात्र ले सकेंगे नई टेक्नोलॉजी की जानकारी

डिजिटल इण्डिया के अन्तर्गत जिटलीकरण पर जोर दिया जा रहा है, जिसके तहत कई ई-गवर्नेंस परियोजानाएं चालू भी की गई है।

10/10/2019

एमजीपीएस की छात्राओं का परचम

माहेश्वरी गर्ल्स पब्लिक स्कूल विद्याधर नगर की छात्राओं ने सीबीएसई की दसवीं बोेर्ड परीक्षा में परचम लहराया है। प्रिन्सिपल ओ.पी.गुप्ता ने बताया कि श्रेया खाण्डल ने 99.16 प्रतिशत

09/05/2019

एमएनआईटी के दीक्षांत समारोह का होगा आयोजन, आएंगे राज्यपाल और केन्द्रीय मंत्री

मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के दीक्षांत समारोह का आयोजन संस्थान परिसर में होगा, जिसमें मुख्य अतिथि राज्यपाल कलराज मिश्र और विशिष्ट अतिथि केंद्रीय रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी होंगे।

17/01/2020

25 और 26 मई को देशभर के कई शहरों में होगी एम्स की परीक्षा

एम्स की परीक्षा साढ़े तीन घंटे की होगी, 25 और 26 मई को मिलाकर चार शिफ्टों में परीक्षा आयोजित हो रही हैं। हर दिन दो शिफ्टों में परीक्षा ली जायेगी।

25/05/2019

सरकार के इस फैसले से राजस्थान में लाखों रुपये की किताबें हो जाएंगी रद्दी

हजारों की संख्या में पिछले सत्र में प्रकाशित ये किताबें रद्दी हो जाएंगी।

13/05/2019

50 हजार से 2 लाख तक की फीस वहन करेगी सरकार, महिला शोधार्थियों को टिस्क से मिलेंगी सुविधाएं

राज्य सरकार प्रदेश की महिला शोधार्थियों को टेक्नोलॉजी एण्ड इनोवेशन सपोर्ट सेन्टर (टिस्क) से जोड़ेंगी, ताकि उनको अपने उत्पाद के पेटेंट करने के दौरान ड्राफ्टिंग, ट्रैड मार्क एवं डिजाइन की नि:शुल्क सुविधा मिल सकें। इससे शोधार्थी की व्यय होने वाली 50 हजार से 2 लाख रुपए तक की फीस सरकार ही वहन करेगी।

30/11/2019

अपनी गर्लफ्रेंड को लेकर IAS टॉपर कनिष्क कटारिया ने कहीं ये चौंकाने वाली बातें

संघ लोक सेवा आयोग की ओर से शुक्रवार को घोषित सिविल सर्विस 2018 के नतीजों में देशभर में टॉपर रहे जयपुर निवासी कनिष्क कटारिया ने अपने इंटरव्यू में इसका श्रेय अपनी गर्ल फ्रेण्ड को भी दिया है।

07/04/2019