Dainik Navajyoti Logo
Thursday 12th of December 2019
 
शिक्षा जगत

हौसलों की उड़ान के आगे कोई बाधा बड़ी नहीं

Friday, May 10, 2019 11:00 AM
ईशान जैन (फाइल फोटो)

जयपुर। जब हौसले उडान भरते हैं तो कोई बाधा बड़ी नहीं होती है और कुछ ऐसे ही हौसलों की उड़ान भरी है। दौसा के रहने वाले ईशान जैन ने सीबीएसई 12वीं में 87 फीसदी अंक प्राप्त कर प्रदेश के ऐसे विद्यार्थियों के लिए एक मिसाल पेश की है, वे शारीरिक रूप से कमजोर है और ऐसा इसलिए क्यूंकि ईशान जैन को बचपन से ही दिखाई नहीं देता है, लेकिन अपनी कमजोरी को ईशान ने अपने हौसलों पर कभी हावी नहीं होने दिया। सिविल सेवा में जाकर देश की सेवा करने का सपना देखने वाले ईशान आज हर दिव्यांग के लिए एक प्रेरणा स्त्रोत बन चुके हैं और उनकी इस उपलब्धी पर उनके परिजनों के साथ ही उनके शिक्षकों को भी गर्व है।

दौसा की फ्रेम इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले ईशान जैन को ही बचपन से ही दिखाई नहीं देता था, लेकिन ईशान बचपन से ही काफी हौशियार थे और उनकी इस प्रतिभा को खोजा उनकी मां ने की। जब कुछ सिखने की बात आती थी तो ईशान की तत्परता काफी बढ़ जाती थी और उसकी इस प्रतिभा को देखकर ईशान की मां ने उसको पढ़ाने का फैसला किया।

मां बनी आंखें

ईशान जैन की आंखे नहीं थी। ऐसे में उनकी आंखें बनी उसकी मां ईशान की माता श्वेता जैन पहले शिक्षकों से पढ़कर ईशान को पढ़ाया करती थी। श्वेता जैन ने बताया कि ईशान बचपन से ही काफी इंटेलिजेंट था और उसे जो पढ़ाया जाता था, वो जल्दी से सिख लेता था, लेकिन वो मेरे द्वारा ही पढ़ाए हुए को जल्दी सिखता था। इसलिए मैं खूद स्कूल में जाकर पहले खुद सिखती थी और फिर ईशान को  सिखाती थी।

पिता बने सीढ़ी

परिवार में ईशान के आने की खुशियों का कोई ठिकाना नहीं था, लेकिन जब ईशान के नेत्रहीन होने का पता चला तो मानो माता-पिता के पैरों के नीचे से जमीन ही खीसक गई है। आंखों के आगे अंधेरा था और ईशान के भविष्य को लेकर चिंता भी थी, लेकिन ईशान जैसे-जैसे बड़ा होता गया। उसकी प्रतिभा भी निखरती गई और ऐसे में ईशान के पिता ज्ञानचंद जैन उसकी सफलता की सीढ़ी बने। अपने बेटे की प्रतिभा को लेकर भावुक हुए ज्ञानचंद जैन ने बताया की ईशान बचपन से ही पढाई में काफी अच्छा था। ज्ञानचंद जैन ने बताया कि ईशान ने उनसे सिर्फ एक ही चीज की मांग की थी और वो था साथ, क्यूंकि ईशान अपने नाम सिर्फ भारत में ही नहीं पूरे विश्व में रोशन करना चाहता है।

ऑडियो की सहायता से की पढ़ाई
ईशान ने ऑडियो की सहायता से पढ़ाई करते हुए अंग्रेजी में 90, भूगोल और मनोविज्ञान में 94 अंक प्राप्त किए। इसके साथ ही ईशान ने सीबीएसई 10वीं की परीक्षा में भी 81 फीसदी अंक प्राप्त किए थे।

 

यह भी पढ़ें:

Job Alert: ग्रेजुएट्स के लिए क्लर्क की कई पदों पर भर्तियां

द हरियाणा स्टेट को. आॅपरेटिव एपेक्स बैंक लिमिटेड ने 978 पदों को भरने के लिए आवेदन पत्र आमंत्रित किए हैं। इसके तहत क्लर्क, जूनियर अकाउंटेंट, सीनियर अकाउंटेंट और असिस्टेंट मैनेजर, डेवलपमेंट आॅफिसर के पदों पर भर्तियां की जाएंगी।

26/08/2019

रावत को मिला इंटरनेशनल स्कूल अवार्ड

रावत पब्लिक स्कूल प्रताप नगर को वर्ष 2019-22 के लिए ब्रिटिश कॉउन्सिल की ओर से आयोजित इंटरनेशनल स्कूल अवार्ड मिला।

08/12/2019

स्कूलों में बढ़ रही है काउंसलिंग की जरूरत

बदलते शिक्षा व्यवस्था के चलते बच्चों की सोच को और अधिक विकसित करने की जरूरत है। इसके लिए बच्चों को स्कूलों में पढ़ाई के साथ ही बेहतर परामर्श की आश्यकता पड़ती है, लेकिन अधिकांश निजी स्कूल प्रशासन इस तरफ कोई ध्यान नहीं देते है और स्कूलस्तर पर खानापूर्ति करते रहे है।

11/06/2019

भारत के 155 शहरों और दुनिया के 6 देशों में आयोजित हो रही जेईई-एडवांस परीक्षा

देश की सबसे प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई एडवांस्ड आज पूर्णतः ऑनलाईन देश के 155 शहरों एवं छह अन्य देशों इथोपिया, नेपाल, सिंगापुर, बांग्लादेश, दुबई व श्रीलंका में आयोजित हो रही हैं।

27/05/2019

शिक्षा गोविंद सिंह डोटासरा ने पोद्दार विद्यालय में कम्प्यूटर लैब का किया उद्घाटन

राजकीय पोद्दार उच्च माध्यमिक विद्यालय में शिक्षा गोविंद सिंह डोटासरा ने मंगलवार को कम्प्यूटर लैब का उद्घाटन किया

15/10/2019

भू प्रबन्ध विभाग में पटवारी और नायब तहसीलदार के पदों पर होगी भर्ती, मुख्यमंत्री ने दी मंजूरी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भू-प्रबन्ध विभाग में पटवारी के 470 पदों, तहसील राजस्व लेखाकार के 124 तथा नायब तहसीलदार के 101 पदों पर भर्ती के प्रस्ताव को स्वीकृति दी है।

07/12/2019

जयश्री पेड़ीवाल स्कूल के बाहर फीस वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन

वैशाली नगर के जयश्री पेड़ीवाल ग्रुप ऑफ स्कूल के बाहर अभिभावक फीस वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।

22/04/2019