Dainik Navajyoti Logo
Monday 17th of May 2021
 
शिक्षा जगत

बेटियों के आगे बढ़ने से तरक्की कर रहा समाज: राज्यपाल कलराज मिश्र

Thursday, December 19, 2019 13:20 PM
आरयू के दीक्षांत समारोह में राज्यपाल कलराज मिश्र।

जयपुर। राज्यपाल एवं कुलाधिपति कलराज मिश्र ने कहा है कि विश्वविद्यालय अपनी अकादमिक श्रेष्ठता और अद्यतन शोध द्वारा ही राष्ट्र की प्रगति का मार्ग प्रशस्त कर सकते हैं। विद्यार्थी एवं शोधार्थी जिम्मेदार नागरिक बनें, सच्चाई एवं ईमानदारी से दायित्वों का निवर्हन करें। राज्यपाल गुरुवार को राजस्थान विश्वविद्यालय के 29वें दीक्षान्त समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने समारोह में छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक व उपाधियां प्रदान की। राज्यपाल मिश्र ने कहा उच्च शिक्षा का प्रयोजन यह भी है कि विद्यार्थी जाति, धर्म, समुदाय आदि की संकीर्णताओं से मुक्त हों तथा योग्यता एवं गुणवत्ता उनकी पहचान का आधार बने।

पढ़ाई की कोई उम्र नहीं
मिश्र ने कहा कि दीक्षांत का अर्थ शिक्षांत्य नहीं है। यानी दीक्षांत लेने का अर्थ यह नहीं है कि पढ़ाई खत्म हो गई है। दरअसल आरयू से गोल्ड मैडल हासिल करने वालों में 69 वर्षीय रिटायर्ड आईपीएस सीबी शर्मा भी शामिल थे। जब वे मैडल लेने पहुंचे तो राज्यपाल ने शर्मा का जिक्र करते हुए कहा कि पढ़ाई की कोई उम्र नहीं है। उन्होंने कहा कि अब तक वे जितने भी दीक्षांत समारोह में गए हैं, वहां पर बालिकाओं ने ज्यादा गोल्ड मैडल हासिल किए हैं। बेटियों का आगे बढ़ना एक अच्छा संकेत है, क्योंकि एक बेटी पढ़कर आगे बढ़ती है तो कई परिवार आगे बढ़ते हैं।

शिक्षा सांस्कृतिक प्रक्रिया
मिश्र ने कहा कि शिक्षा सांस्कृतिक प्रक्रिया है। शिक्षा का व्यक्ति और समाज के विकास से गहरा रिश्ता है। राजा राममोहन राय, स्वामी विवेकानन्द, रवीन्द्रनाथ टैगोर, महात्मा गांधी और आम्बेडकर के शिक्षा-दर्शन व संकल्पों को हमें आगे बढ़ाना है।

प्रगति के तीन आधार
उन्होंने कहा कि एक श्रेष्ठ विश्वविद्यालय की पहचान एवं प्रगति के तीन आधार हैं। पहला गुणवत्तापूर्ण, नवोन्मेशी एवं उपयोगी शोध कार्य, दूसरा नियमित, सार्थक एवं रुचिपूर्ण अध्यापन कार्य और तीसरा कुशल, त्वरित एवं उत्तरदायी प्रशासनिक तंत्र। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता और प्रतिस्पर्धा के इस दौर में वैश्विक चुनौतियों का सामना करने की क्षमता नई पीढ़ी में विकसित करनी होगी।

शिक्षक और छात्रों का जीवंत हो संबंध
मिश्र ने कहा कि शिक्षकों की भूमिका सारथी की भांति होती है। शिक्षक के आचरण व व्यवहार का प्रभाव विद्यार्थी पर पड़ता है। शिक्षकों का अपने विद्यार्थियों के साथ जीवंत सम्बन्ध होना चाहिए।
 
उच्च शिक्षा का सरकार कर रही विस्तार
उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि राज्य सरकार युवाओं के शिक्षा के सपनों को पूरा करने के लिए कृत संकल्प है। उन्होंने कहा कि सरकार उच्च शिक्षा का विस्तार कर रही है। स्वागत उद्बोधन कुलपति प्रोफेसर आर.के. कोठारी ने किया।

3.59 लाख को डिग्रियां
समारोह में वर्ष 2017 व 2018 की विभिन्न परीक्षाओं में कुल 255 गोल्ड मैडल में से समारोह में उपस्थित 120 गोल्ड मैडलधारी छात्रों को मैडल एवं प्रमाण पत्र प्रदान किए गए। साथ ही 3 छात्रों को डी-लिट् की उपाधियां भी प्रदान की गई। इस अवसर पर विभिन्न संकायों के 818 पीएचडी डिग्रीधारियों में से 270 उपस्थित डिग्रीधारियों को पीएचडी की डिग्रियां भी प्रदान की गई। समारोह में पी.जी एवं यू.जी की 3 लाख 59 हजार 940 उपाधियों का वितरण भी सबंधित महाविद्यालयों से प्रारम्भ किया गया।

यह भी पढ़ें:

केम्ब्रिजियन्स ने किया रिजल्ट पर धमाल

केम्ब्रिजकोर्ट हाईस्कूल मानसरोवर में सीबीएसई बोर्ड की दसवीं परीक्षा में अच्छे मॉर्क्स लेकर विद्यालय का नाम रोशन किया है।

09/05/2019

UPSC: 12वीं में 60 प्रतिशत लाने वाले जुनैद तीसरे स्थान पर

तीसरे स्थान पर रहने वाले जुनैद अहमद यूपी के नगीना कस्बे के नगीना बन गए हैं। जुनैद बताते हैं कि एक मध्यम वर्गीय मुस्लमि परिवार से हूं। शुरू से पढ़ाई में भी औसत छात्र ही रहा।

06/04/2019

कैट में पहली बार जयपुर के 2 छात्रों के 100 परसेंटाइल

भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) इंदौर द्वारा आयोजित कैट 2020 परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया। इसके पहले आईआईएम इंदौर द्वारा 8 दिसंबर को कैट 2020 की रेस्पोंस शीट जारी की गई तथा 30 दिसंबर को फाइनल आंसर की जारी की गई, जिसमें दूसरी पारी के 1 सवाल का जवाब रिवाइज किया गया।

03/01/2021

जयपुर के अठारह छात्रों को मिली टॉप एक हजार रैंक

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) अप्रैल परीक्षा के लिए देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन-2019 और उसकी रैंकिंग की घोषणा सोमवार देर शाम कर दी गई

01/05/2019

स्कूली बच्चों के पाठ्यक्रम पर फिर से चलेगी कैंची, मंथन में जुटी सरकार और शिक्षा विभाग

स्कूलों में दिसंबर महीने तक लगभग कोर्स पूरा कर अर्द्धवार्षिक परीक्षाएं भी आयोजित करवाई जा चुकी होती हैं, लेकिन इस साल कोरोना संक्रमण के चलते 31 दिसंबर तक प्रदेश में सभी स्कूलें बंद है। ऐसे में इस शैक्षणिक सत्र में बच्चों को पढ़ाने और परीक्षाओं में पास करने के साथ ही उनके भविष्य का सवाल खड़े हो रहा है, लेकिन शिक्षा विभाग की ओर से इसके लिए तैयारियां की जा रही है।

02/12/2020

सरकार का बड़ा फैसला: उच्च शिक्षा के प्रमोट छात्रों को अब मिलेगी छात्रवृत्ति, लाखों विद्यार्थियों को मिलेगा लाभ

प्रदेश सरकार ने उच्च शिक्षा की पढ़ाई कर रहे छात्रों को बड़ी राहत देते हुए प्रमोट छात्रों को छात्रवृत्ति देने का निर्णय लिया है। इससे पहले सरकार ने कोरोना काल में बिना अंक दिए अगली कक्षा में प्रमोट किए स्नातक प्रथम वर्ष, द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर प्रीवियस सहित अन्य छात्रों को यह छात्रवृत्ति नहीं देने का निर्णय लिया था।

25/03/2021

एनटीए ने जारी की जेईई मेन की आंसर की, आज रात तक कर सकेंगे चैलेंज

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से जेईई मेन-2020 की प्रोविजनल आंसर-की जारी कर दी गई है। कैंडिडेट्स ऑफिशियल वेबसाइट से आंसर-की डाउनलोड कर सकते हैं और बुधवार रात 11:50 बजे तक आंसर-की को चैलेंज कर सकेंगे।

15/01/2020