Dainik Navajyoti Logo
Sunday 20th of June 2021
 
शिक्षा जगत

कोरोना काल में स्कूल फीस को लेकर बढ़ता विवाद, प्रदेश के निजी स्कूल अनिश्चितकाल के लिए बंद

Friday, November 06, 2020 09:55 AM
निजी स्कूल संचालकों ने अनिश्चितकाल के लिए बंद किए स्कूल।

जयपुर। कोरोना काल में निजी स्कूलों की फीस को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है, जिससे प्रदेशभर के लाखों बच्चों का भविष्य दांव पर लग गया है। दरअसल प्रदेशभर के 50 हजार से अधिक प्राइवेट स्कूलों ने ऑनलाइन पढ़ाई बंद करने के साथ स्कूलों को भी अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया। इस दौरान जिन बच्चों की फीस आएगी, उनका ही केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) और राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (आरबीएसई) के परीक्षा आवेदन भरवाएं जाएंगे। ऐसे में आरबीएसई के 20.50 लाख और सीबीएसई के 50 हजार से अधिक छात्रों का भविष्य दांव पर लग गया है तथा यह सब फीस वसूलने को लेकर हो रहा है।

प्रदेश के निजी स्कूलों में लगे ताले
राजस्थान की करीब 50 हजार निजी स्कूलों ने गुरुवार को अनिश्चितकालीन बंद की शुरुआत कर दी है। अपने आंदोलन की शुरुआत के पहले दिन निजी स्कूल संचालकों ने कलेक्ट्रेट सर्किल पर सांकेतिक धरना देते हुए कलेक्ट्रेट सर्किल पर मानव श्रृंखला बनाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। प्राइवेट स्कूल संचालक अब हर दिन शिक्षकों, स्टॉफ सहित अन्य परिजनों के साथ हर जिले में प्रदर्शन करेंगे। वहीं 9 नवंबर को विधानसभा पर विरोध किया जाएगा।

आर्थिक संकट खड़ा हुआ
स्कूल शिक्षा परिवार राजस्थान के अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कहा कि पिछले 7 महीनों से निजी स्कूलों को फीस का भुगतान नहीं हुआ है। इसके चलते निजी स्कूलों के सामने बड़ा आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। सभी निजी स्कूलों के करीब 11 लाख स्टाफ को वेतन का भुगतान नहीं हो पाया है। सरकार या तो वेतन का भुगतान कराए या फिर निजी स्कूलों को स्कूल खुलने तक राहत फंड की घोषणा करें। वहीं शिक्षा बचाओ संघर्ष समिति की अध्यक्षा हेमलता शर्मा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों की स्कूलों की हालत खराब हो गई है। इसी आर्थिक संकट के चलते अब तक 16 निजी स्कूल संचालक आत्महत्या कर चुके हैं।

कोरोना अनलॉक के साथ ही विरोध
कोरोना संक्रमण के लॉकडाउन के अनलॉक होने के बाद जून-2020 से ही निजी स्कूलों की फीस को लेकर अभिभावकों का विरोध शुरू हो गया था। जबकि 20 मार्च से अभी तक प्रदेश के स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में कक्षाओं में पढ़ाई शुरू नहीं हुई है। जून से अब तक यह विवाद बढ़ता ही जा रहा है और अभिभावक व स्कूल संचालक आमने-सामने आ गए हैं।

यह है आंकड़ों की गणित
आरबीएसी की आवेदन प्रक्रिया 26 अक्टूबर से शुरू हो गई है, जो 30 नवंबर तक चलेगी। इस दौरान दसवीं बोर्ड परीक्षा के लिए करीब 12 लाख और 12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए करीब 8.50 लाख छात्रों के आवेदन होने है। सीबीएसई दसवीं व 12वीं बोर्ड की आवेदन प्रक्रिया 7 सिंतबर से 31 अक्टूबर तक हुई। इसके बाद लेट फीस के साथ 7 नवंबर तक आवेदन लिए जाएंगे। इसमें प्रदेश से करीब 2 लाख से अधिक छात्रों के आवेदन होंगे और अधिकांश आवेदन हो भी गए है। ऐसे में लाखों छात्र परेशान हो रहे है। प्रदेश के पांचवीं व आठवीं बोर्ड परीक्षा की आवेदन प्रक्रिया होनी है। इसमें भी 13 लाख बच्चे शामिल होंगे। उधर माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने कहा कि हमने न्यायालय के निर्देशों के अनुसार निजी स्कूलों की फीस निर्धारित की है। इसमें 9 से 12वीं तक के सीबीएसई सहित अन्य केन्द्रीय बोर्ड के स्कूल 70 फीसदी व आरबीएसई के स्कूल 60 फीसदी फीस विद्यालय खुलने पर ले सकेंगे।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

राजस्थान बोर्ड किताबों की खामियां दूर करेंगे विशेषज्ञ

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने नया शैक्षणिक सत्र शुरू होने से पहले की पाठयक्रम की गलतियों को दूर करने की तैयारी कर ली हैं।

20/09/2019

पांचवीं बोर्ड की उत्तर कुंजी में खामी, छात्रों पर पड़ेगा असर

प्रदेश की पांचवीं बोर्ड की परीक्षा शुरू होने से ही विवादों के घेरे में रही। कभी रोल नम्बरों तो कभी विषयों को लेकर।

11/04/2019

जेईई मेन मार्च सेशन का रिजल्ट जारी, प्रदेश के तीन छात्रों के साथ 13 को मिले 100 पर्सेंटाइल

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने मार्च 2021 सेशन के जेईई मेन एग्जाम का रिजल्ट घोषित कर दिया है। बुधवार रात को जारी रिजल्ट के मुताबिक 13 स्टूडेंट्स ने परीक्षा में 100 पर्सेंटाइल स्कोर किए हैं। इसमें तीन छात्र राजस्थान से है। साथ ही तेलंगाना के 3 स्टूडेंट, दिल्ली और महाराष्ट्र के 2-2। जबकि पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और बिहार से एक-एक स्टूडेंट शामिल हैं।

26/03/2021

कोरोना काल में अच्छी खबर, परीक्षा नहीं देने वाले छात्रों को मिलेगा एक और मौका

राजस्थान विश्वविद्यालय में यदि कोई छात्र परीक्षा नहीं दे पाता है तो उसको घबराने की जरूरत नहीं है, उनको बाद में एक और मौका मिलेगा। इसको लेकर राज्य सरकार के आदेश के बाद आरयू प्रशासन ने भी निर्देश जारी कर दिए है।

20/09/2020

जयश्री पेड़ीवाल स्कूल के बाहर फीस वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन

वैशाली नगर के जयश्री पेड़ीवाल ग्रुप ऑफ स्कूल के बाहर अभिभावक फीस वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।

22/04/2019

418 शहरों में होगी एलन टैलेंटेक्स परीक्षा, प्रतिभावान विद्यार्थियों को मिलेंगे 1.25 करोड़ रुपए के पुरस्कार

देश के प्रतिभावान विद्यार्थियों को प्रोत्साहन देने के लिए एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा टैलेंटेक्स 2020 के आयोजन की घोषणा की है, जिसके पोस्टर व ब्रोशर का विमोचन पार्श्व गायिका पलक मुच्छल, संगीत निर्देशक पलाश मुच्छल, एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के निदेशक गोविन्द माहेश्वरी, राजेश माहेश्वरी, नवीन माहेश्वरी एवं बृजेश माहेश्वरी ने टैलेटेक्स-2020 के किया।

20/05/2019

कोरोना का असर: RBSE की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं स्थगित, 8वीं, 9वीं और 11वीं के स्टूडेंट होंगे प्रमोट

प्रदेश में तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर गहलोत सरकार ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर बड़ा फैसला किया है। सरकार ने 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी है। इसके साथ ही 8वीं, 9वीं और 11वीं कक्षा के छात्र भी बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रमोट होंगे।

14/04/2021