Dainik Navajyoti Logo
Monday 26th of October 2020
 
शिक्षा जगत

1 जुलाई से पहले नहीं खुलेंगे विश्वविद्यालय, अभिभावक तय करेंगे ‘एग्जाम या प्रमोट’ का फंडा

Saturday, May 30, 2020 23:15 PM
मोहनलाल सुखाड़िया यूनिवर्सिटी।

उदयपुर। प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा विभाग ने शनिवार को आदेश जारी कर आगामी 1 जुलाई से पहले विश्वविद्यालय नहीं खोलने की बात कही है। साथ ही प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय प्रबंधन को निर्देशित किया गया है कि वे स्टूडेंट्स के साथ साथ अब पैरेंट्स से भी यह पूछें कि वे अपने बच्चों के लिए किस तरह की व्यवस्था चाहते हैं।

यानी, वे बच्चों को कॉलेज भेजने या परीक्षा का आयोजन करवाने के इच्छुक हैं या नहीं। साथ ही इनके परिवार की हेल्थ हिस्ट्री का भी रिकॉर्ड संधारण करना होगा। इसकी रिपोर्ट उच्च शिक्षा विभाग को भेजनी है। इस रिपोर्ट के आधार पर तय किया जाएगा कि स्टूडेंट्स को प्रमोट करवाया जाए या परीक्षा का आयोजन करवाया जाए। एमएलएसयू व एमपीयूएटी के कुलपति प्रो. एनएस राठौड़ ने इस संबंध में दोनों ही विश्वविद्यालयों को निर्देशित कर दिया है। बातचीत में उन्होंने कहा कि 15 जून तक तो वैसे ही समर वेकेशन है।

शेष रहे 15 दिनों की अवधि में इस संबंध में सारी प्लानिंग तय कर ली जाएगी। इसमें हॉस्टल, कैंटीन, क्लास व एग्जाम रूम सहित विश्वविद्यालय में आने वाले विजिटर्स आदि के लिए नई प्लानिंग तैयार की जाएगी। प्रो. राठौड़ ने बताया कि वर्तमान में ऑनलाइन कक्षाएं जारी हैं, ऐसे में हमें हमारे विद्यार्थियों के अभिभावकों से संपर्क साधने में भी ज्यादा परेशानी नहीं होगी। कक्षा के आरंभ में ही बातचीत कर डेटा तैयार कर लिया जाएगा। जिसे उच्च शिक्षा विभाग को भेज दिया जाएगा। प्रो. राठौड़ ने कहा कि हमारी प्राथमिकता फिलहाल यह है कि हमें पाठ्यक्रम पूरा करवाना है ताकि जैसी भी स्थिति हो उससे निबटा जा सके।

सुविवि : सभी संकाय को जारी किए निर्देश
कुलपति प्रो. एनएस राठौड़ ने शनिवार को सुविवि के सभी संकायों से आॅनलाइन जुड़कर उन्हें सरकार से मिले निर्देशों की जानकारी दी है। साथ ही उनसे भी इस मामले में सुझाव लिए हैं। इनमें से अधिकांश सदस्यों का यही कहना था कि प्रोमोट करना अनुचित है, जबकि स्टूडेंट्स की परीक्षा करवाई जानी चाहिए। यदि प्रमोट ही करना था तो आॅनलाइन कक्षाओं का आयोजन क्यों करवाया गया। बातचीत में कुलपति ने कहा कि दोनों ही विश्वविद्यालयों के फैकल्टी सदस्यों का भी मोरल कमजोर हो चुका है, जिसे बूस्टअप करने की आवश्यकता है।

प्रमोट करने जैसा निर्णय नहीं : कुलपति
कुलपति प्रो. राठौड़ ने कहा कि विश्वविद्यालयों में प्रथम व द्वितीय वर्ष के स्टूडेंट्स को प्रमोट करने जैसे कोई आदेश नहीं है तथा अब तक हुई बैठकों में ऐसा कोई निर्णय भी नहीं लिया गया है। बताया गया कि प्रदेश सरकार एवं उच्च शिक्षा विभाग वर्तमान में सिर्फ आॅनलाइन पाठ्यक्रम पूरा करवाने तथा ऑनलाइन सॉफ्टवेयर जिससे परीक्षा करवाई जानी प्रस्तावित है, उसे लेकर ही दिशा निर्देश दे रहा है। साथ ही पाठ्यक्रम पूरा करवाने पर ही जोर है।

यह भी पढ़ें:

बेटियों के आगे बढ़ने से तरक्की कर रहा समाज: राज्यपाल कलराज मिश्र

राजस्थान यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह कन्वोकेशन सेंटर में आयोजित हुआ। राज्यपाल कलराज मिश्र ने समारोह की अध्यक्षता की।

19/12/2019

एसआई परीक्षा के परिणाम में 142 अभ्यर्थी और शामिल

राजस्थान लोक सेवा आयोग उप निरीक्षक, प्लाटून कमाण्डर संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा 2016 के 26 अगस्त को जारी परिणाम को विस्तारित करते हुए भूतपूर्व सैनिक श्रेणी के 142 अभ्यर्थियों को शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए उनकी पात्रता की शर्त पर अस्थाई रूप से सफल घोषित किया जाता है

29/08/2019

विवि के सेमेस्टर छात्रों ने भेजा ज्ञापन, कहा- बिना प्रवेश और पढ़ाई कैसे देंगे परीक्षा

कोरोना महामारी के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉक डाउन के बीच राज्य सरकार ने प्रदेश के विवि में 16 अप्रैल से 31 मई तक ग्रीष्मावकाश का आदेश जारी किया। इसके साथ ही जून माह से ही मुख्य और सेमेस्टर परीक्षा आयोजन को भी प्रस्तावित कर दिया गया।

14/04/2020

बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी का चौथा दीक्षांत समारोह

हीरो ग्रुप की नॉट-फॉर-प्रॉफिट यूनिवर्सिटी बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी (बीएमयू) ने चौथे दीक्षांत समारोह के दौरान कैंपस में आयोजन किया।

03/09/2019

प्रदेशभर के बीएड कॉलेजों को लेनी होगी एनओसी

प्रदेशभर के बीएड कॉलेजों को अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना होगा। इसको लेकर राज्य सरकार ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् के आदेश के तहत शैक्षणिक सत्र के लिए कार्यक्रम जारी कर दिया है।

17/10/2019

इग्नू ने की बीए पर्यटन प्रबंधन पर कोर्स की शुरुआत

वर्तमान में पर्यटन क्षेत्र की बढ़ती सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने बीए पर्यटन प्रबंधन पर कोर्स की शुरूआत की है, जिससे प्रदेश के साथ ही देशभर के युवा दूरस्थ शिक्षा से व्यावसायिक अध्ययन कर सकते है।

12/09/2019

मुख्यमंत्री गहलोत ने 75 हजार भर्तियों की प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य बजट में घोषित 75 हजार भर्तियों की प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

11/10/2019