Dainik Navajyoti Logo
Monday 20th of September 2021
 
शिक्षा जगत

विवि के सेमेस्टर छात्रों ने भेजा ज्ञापन, कहा- बिना प्रवेश और पढ़ाई कैसे देंगे परीक्षा

Tuesday, April 14, 2020 01:15 AM
फाइल फोटो।

जोधपुर। कोरोना महामारी के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन के बीच राज्य सरकार ने प्रदेश के विवि में 16 अप्रैल से 31 मई तक ग्रीष्मावकाश का आदेश जारी किया। इसके साथ ही जून माह से ही मुख्य और सेमेस्टर परीक्षा आयोजन को भी प्रस्तावित कर दिया गया। जबकि सेमेस्टर के कई पाठ्यक्रमों के परिणाम तक जारी नहीं होने और कक्षाएं तक नहीं लगने से छात्र सकते में आ गए है। छात्रों ने राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर सेमेस्टर छात्रों को राहत देने की मांग रखी है।

सरकार के ग्रीष्मावकाश के साथ प्रस्तावित परीक्षाओं को लेकर नवज्योति ने समाचार प्रकाशित कर खुलासा किया था। जिसमें उजागर किया कि विवि में सेमेस्टर सिस्टम कई सालों से अबतक पटरी पर नहीं आ पाया। वहीं अब जनवरी से कागजों में सेमेस्टर शुरू हो गए। कई सेमेस्टर परीक्षाओं के परिणाम अब तक नहीं आये है। अधिकतर संकायों में कक्षाएं नाम मात्र की ही लग पाई। इसके अलावा छात्रों को किताबें तक मुहैय्या नहीं हो पाई। लॉक डाउन के कारण किताबें खरीदना संभव नहीं हो सकता। उधर, यूजीसी और राजभवन के निर्देश के बाद भी विवि के कुलपति ने ई.लर्निंग और ई-लेक्चर में कोई रुचि ही नहीं ली। जिसके कारण सेमेस्टर छात्रों की जून में परीक्षा करवाने से छात्रों को बिना पढ़े और बिना किताब के ही परीक्षा देने को विवश होना पड़ेगा ।

छात्रों को भेजा ज्ञापन
सेमेस्टर छात्रों ने राज्यपाल को राज्यपाल को ज्ञापन मेल किया है। भूगोल विभाग के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष दुर्ग सिंह राजपुरोहित ने राज्यपाल कलराज मिश्र को पत्र लिख आग्रह किया कि जून में सेमेस्टर विषयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों की बिना किसी पाठ्यक्रम पूर्ण किए कैसे परीक्षा आयोजित होगी। साथ ही राजपुरोहित ने कहा कि अभी तक पूर्व के सेमेस्टरो का भी परिणाम जारी होना बाकी है। साथ ही परीक्षा के फोर्म तक नहीं भरवाए गए है।

ई-लर्निंग में अब भी फिसड्डी
गौरतलब है कि यूजीसी और राजभवन के पूर्व निर्देशों के बावजूद व्यास विवि ने ई-लर्निंग और ई-कंटेंट में कोई रुचि ही नहीं दिखाई। कुलपति प्रोफेसर पीसी त्रिवेदी के नवाचार अपनाने के सब दावे भी लगातार खोखले ही साबित हो रहे है। विवि में ई-लर्निंग और ई-कंटेंट पर कोई काम नहीं होने के बाद भी विवि के आलाधिकारी भ्रमित कर गफलत में जुटे हुए हैं।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

महिला शिक्षा के लिए कॉलेज

माहेश्वरी कॉलेज आफ कॉमर्स एण्ड आर्ट्स की प्रबन्ध समिति की सभा की बैठक आयोजित हुई, इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महिला सशक्तिकरण की योजनाओ को ध्यान में रखते

21/05/2019

ऑनलाइन पढ़ाई के लिए लॉन्च होगा PM ई-विद्या प्लेटफॉर्म, पहली से 12वीं के लिए शुरू होंगे चैनल

केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन से स्कूल एवं कॉलेजों के बन्द होने से पढ़ाई नहीं होने की वजह से अब ऑनलाइन तथा डिजिटल शिक्षा को बढ़ाने के लिए 'पीएम ई विद्या' की योजना बनाई है और इसके लिए देश के 100 विश्वविद्यालययों को शामिल किया है तथा हर क्लास के लिए एक चैनल शुरू करने का फैसला किया है।

17/05/2020

राजस्थान हाईकोर्ट की सख्ती के बाद तीन जिलों में होगी एएलओ परीक्षा

राजस्थान हाईकोर्ट की सख्ती के बाद आरपीएससी कनिष्ठ विधि अधिकारी भर्ती-2019 की परीक्षा जयपुर, जोधपुर और अजमेर में आयोजित करेगा। कोर्ट के आदेश की पालना में आरपीएससी सचिव ने पेश होकर इस संबंध में अपना शपथ पत्र पेश किया।

20/12/2019

CBSE 12 वीं के नतीजे घोषित, हंसिका और करिश्मा ने किया टॉप

CBSE 12 वीं नतीजे घोषित हो गए हैं। CBSE की वेबसाइट पर रिजल्ट देख सकते हैं।

02/05/2019

स्कूलों में बढ़ रही है काउंसलिंग की जरूरत

बदलते शिक्षा व्यवस्था के चलते बच्चों की सोच को और अधिक विकसित करने की जरूरत है। इसके लिए बच्चों को स्कूलों में पढ़ाई के साथ ही बेहतर परामर्श की आश्यकता पड़ती है, लेकिन अधिकांश निजी स्कूल प्रशासन इस तरफ कोई ध्यान नहीं देते है और स्कूलस्तर पर खानापूर्ति करते रहे है।

11/06/2019

कोरोना के कारण प्रश्नपत्र के पैटर्न में किया बदलाव, 3 में से 1 प्रश्न करने का होगा विकल्प

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा कोरोनाकाल में बंद चल रही स्कूलों और बोर्ड विद्यार्थियों को तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं मिलने के कारण इस बार दसवीं और बारहवीं कक्षाओं के प्रश्नपत्रों के पैटर्न में बदलाव किया गया है। परीक्षार्थियों को इस बार एक प्रश्न का चयन करने के लिए एक से अधिक यानी बहुविकल्प मिलेंगे। अब तक दो प्रश्नों में से एक का चयन करना होता था, लेकिन अब वे तीन प्रश्नों में से कोई एक कर सकेंगे।

14/01/2021

जेईई मेन परीक्षा: ऑरिजनल आईडी से मिलेगी एंट्री, आधा घंटा पहले एंट्री गेट होगा बंद

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन मंगलवार से बीआर्क और बी-प्लानिंग के साथ शुरू होगी। इस दौरान छात्रों को केन्द्र पर ऑरिजनल आईडी से ही प्रवेश दिया जाएगा। ये परीक्षा 26 फरवरी तक देश-विदेश के 331 परीक्षा केंद्रों में कराई जाएगी।

23/02/2021