Dainik Navajyoti Logo
Saturday 15th of May 2021
 
शिक्षा जगत

MNIT का 14वां दीक्षांत समारोह, राज्यपाल ने संविधान की उद्देशिका और मूल कर्तव्यों का कराया वाचन

Monday, January 20, 2020 11:20 AM
छात्रा को डिग्री प्रदान करते हुए राज्यपाल कलराज मिश्र।

जयपुर। राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि शिक्षा का उद्देश्य राष्ट्र की प्रगति, संस्कृति, समावेशी नागरिकता और राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देना है। मिश्र रविवार को मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के 14वें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षा का उद्देश्य ज्ञान प्राप्त करना ही नहीं है, बल्कि यह हमें समाज के अनुसार रहना भी सिखाता है। शिक्षा छात्र के मन में साझा सांस्कृतिक विरासत, समतावाद, गणतंत्र, धर्मनिरपेक्षता, लैंगिक समरसता, पर्यावरण संरक्षण एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण जैसे मूल्यों का विकास करती है। उन्होंने छात्र-छात्राओं का आह्रान किया कि वे नया इंडिया बनाने में अग्रणी भूमिका निभाए।

उन्होंने दीक्षांत समारोह में उपस्थित छात्र-छात्राओं और प्राध्यापकों को संविधान की उद्देशिका और मूल कर्तव्यों का वाचन करवाया। उन्होंने कहा कि भारत सदियों तक ज्ञानार्जन, सांस्कृतिक, वैज्ञानिक विकास तथा व्यापार में अग्रणी रहा है। राष्ट्र के विकास में गति लाने के लिए जो कार्यक्रम प्रारंभ किए गए हैं, जैसे कि डिजिटल इंडिया, मेक इन इंडिया एवं स्किलिंग इंडिया, इन सभी की सफलता इस पर निर्भर है कि आप तकनीकी क्षेत्र में कितना शोध करते हैं। राष्ट्र के नव निर्माण के लिए इस प्रतिष्ठित संस्थान के छात्रों के कंधों पर शोध की महती जिम्मेदारी है। रेल राज्य मंत्री सुरेश सी अंगड़ी ने कहा कि यह संस्थान देश के प्रमुख संस्थानों में एक हैं। देश के भावी इंजीनियर्स को भारत के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए। संस्थान के निदेशक प्रो. उदयकुमार यारागत्ती ने स्वागत भाषण दिया।

मदनमोहन मालवीय की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण
राज्यपाल ने संस्थान के परिसर में स्थित महामना मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धाजंलि दी। मिश्र ने इस अवसर पर उत्कृष्ट छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक दिए।

यह भी पढ़ें:

कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते यूजीसी का बड़ा फैसला, मई में नहीं होगी कोई भी ऑफलाइन परीक्षा

देश में बढ़ते कोरोना के मामलों के चलते मई माह में यूनिवर्सिटी और कॉलेजों की ऑफलाइन परीक्षाएं आयोजित नहीं करवाई जाएगी। यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) ने विश्वविद्यालयों से कहा है कि वे मई में ऑफलाइन परीक्षा न कराएं और स्थानीय परिस्थितियों का आकलन करने के बाद ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लें।

08/05/2021

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाएं शुरू, दूसरे बैच में होगी अनुपस्थित परीक्षार्थियों की परीक्षा

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सीनियर सेकेंडरी के नियमित परीक्षार्थियों की प्रायोगिक परीक्षाएं आज से शुरू हो गई है। प्रायोगिक परीक्षाएं 14 फरवरी तक चलेंगी। स्वयंपाठी परीक्षार्थियों की प्रायोगिक परीक्षाएं 11 से 14 फरवरी के मध्य होंगी।

15/01/2020

प्रतिभाओं को मिले बेहतर अंक

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की बारहवीं कला, विज्ञान और कॉमर्स की परीक्षा के परिणाम गुरुवार दोपहर को घोषित कर दिए गए

03/05/2019

आरजेएस परीक्षा: विवादित प्रश्नों से जुड़े मामले में रजिस्ट्रार जनरल और रजिस्ट्रार परीक्षा को नोटिस जारी

आरजेएस परीक्षा- 2018 से जुड़े मामले में शुक्रवार को हाईकोर्ट में सुनवाई हुई।

31/05/2019

जेईई मेन-2021: 16 से 18 मार्च तक होगी मार्च सेशन की परीक्षा, नहीं होगा बी-आर्क का एग्जाम

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन-2021 का मार्च सेशन (दूसरा चरण) की परीक्षा 16 से 18 मार्च के बीच होगी। पहले यह परीक्षा 15 से 18 मार्च के बीच प्रस्तावित थी, लेकिन बीआर्क की परीक्षा केवल फरवरी व मई माह के सेशन में कराने का निर्णय लेने के बाद अब मार्च में सिर्फ बीई-बीटेक कोर्स के लिए ही परीक्षा होगी।

12/03/2021

UPSC: महिलाओं में 23 साल की सृष्टि ने किया टॉप

यूपीएससी टॉपर लिस्ट में पांचवें स्थान पर आर्इं महिला अभ्यर्थी भोपाल की सृष्टि जयंत देशमुख पेशे से केमिकल इंजीनियर हैं।

06/04/2019

AICTE के सभी कॉलेजों को निर्देश, कोरोना से निपटने के बाद ही करनी होगी समर इंटर्नशिप

देशभर के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को कोरोना वायरस से निपटने के बाद ही समर इंटर्नशिप करनी होगी। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नीकल एजुकेशन की ओर से कॉलेजों को इंटर्नशिप के संबंध में निर्देश दिए गए हैं।

30/03/2020