Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 27th of January 2021
Dainik Navajyoti flag
 
शिक्षा जगत

राजस्थान: सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को गले में लटकाने होंगे परिचय-पत्र

Monday, January 20, 2020 01:10 AM
शिक्षा संकुल
अजमेर। सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को अब प्राइवेट स्कूलों के बच्चों व शिक्षकों की तरह गले में परिचय-पत्र लटकाने होंगे। केन्द्र सरकार द्वारा समग्र शिक्षा की वार्षिक कार्ययोजना एवं बजट सत्र 2019-20 में राजकीय विद्यालयों के शिक्षकों को परिचय-पत्र उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश में करीब 155 लाख रुपए का बजट जारी किया गया है। प्रति कार्ड पर अधिकतम 30 रुपए खर्च होंगे। 
 
राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की राज्य परियोजना निदेशक अभिषेक भगोतिया की ओर से जारी निर्देश के अनुसार शिक्षकों व संस्था प्रधानों के परिचय-पत्र जिला कार्यालय द्वारा तैयार कराकर उपलब्ध कराए जाएंगे। इस पर जिला परियोजना समन्वयक के हस्ताक्षर होंगे। पूरे प्रदेश में एकरूपता को ध्यान में रखते हुए परिचय-पत्र का प्रारूप, कार्ड, डोरी एवं होल्डर एक जैसे होंगे। कार्ड पर मुद्रित होने वाला विवरण पीईईओ तथा शहरी क्षेत्र में संस्था प्रधानों से प्रमाणित करना होगा। 
 
यह होगी जानकारी 
परिचय-पत्र के एक ओर शिक्षक की रंगीन फोटो, नाम, पद, जन्मतिथि व विद्यालय का नाम के साथ जिला, ब्लॉक, ग्राम व यू-डाइस कोड के साथ शिक्षक के पिता/पति का नाम, राजकीय सेवा में प्रथम नियुक्ति तिथि, कार्मिक आई.डी., ब्लड ग्रुप एवं मोबाइल नम्बर के साथ घर का स्थाई पता अंकित होगा। कार्ड पर परिचय पत्र जारी करने वाले अधिकारी के पदनाम सहित हस्ताक्षर होंगे। 
 
इनके जारी नहीं होंगे
सरकारी विद्यालयों में कार्यालयों में कार्यरत, प्रतिनियुक्ति पर अन्यत्र लगे शिक्षकों व मंत्रालयिक कर्मचारियों के साथ जिन शिक्षकों की सेवानिवृत्ति में एक वर्ष से कम का समय होने पर पहचान-पत्र जारी नहीं किए जाएंगे। शिक्षकों को तबादला, सेवानिवृत्त, सेवा परित्याग की स्थिति में पहचान-पत्र वापस जमा कराना होगा। 
 
यह भी पढ़ें:

एम्स का परिणाम घोषित, टॉप-10 में कोटा कोचिंग से जुड़े 9 छात्र

देश की सबसे प्रतिष्ठित मेडिकल प्रवेश परीक्षा एम्स के परिणाम में कोटा कोचिंग से जुड़े विद्यार्थियों ने अखिल भारतीय स्तर पर टॉप 10 में से 9 स्थानों पर कब्जा जमाया है।

13/06/2019

आकाश एजुकेशन के अध्यक्ष जेसी चौधरी को मिला ग्लोबल गांधी अवार्ड

आकाश एजुकेशनल सर्विसेज लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और अध्यक्ष जे.सी.चौधरी को शिक्षा के प्रति एक अलग दृष्टिकोण के साथ भारत में क्रांति लाने के लिए प्रतिष्ठित ग्लोबल अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

17/10/2019

'छात्रों में शोध के माध्यम से बढ़ेगी सृजनात्मकता'

जगन्नाथ विश्वविद्यालय के प्रबंध संकाय में दो दिवसीय शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में गणमान्य लोगों ने अपने विचार व्यक्त किए।

08/08/2019

BSDU ने विविध विषयों में बैचलर ऑफ वोकेशनल प्रोग्राम के लिए आवेदन आमंत्रित किए

बी.वोक. पाठ्यक्रम का 60 प्रतिशत हिस्सा कौशल आधारित और 40 प्रतिशत भाग सामान्य शिक्षा से संबंधित हैं।

26/11/2019

प्रत्येक जिले में KV की स्थापना पर विचार करे वित्त और HRD मंत्रालय : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने देश की प्रत्येक तहसील में एक केंद्रीय विद्यालय खोलने और प्राइमरी स्कूल के पाठ्यक्रम में भारतीय संविधान को शामिल करने की मांग वाली याचिका पर वित्त मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय को 3 महीने में निर्णय लेने का शुक्रवार को निर्देश दिया।

17/01/2020

स्कूली शिक्षा के प्रदर्शन में केरल प्रथम और राजस्थान दूसरे स्थान पर

देश में स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए सरकार ने बेहतर प्रदर्शन के आधार पर राज्यों की पहली बार रैंकिंग की है जिसमें केरल पहले स्थान पर है, राजस्थान दूसरे स्थान पर जबकि तीसरे स्थान पर कर्नाटक, गुजरात पांचवें तथा बिहार 17वें स्थान पर है।

30/09/2019

प्रदेश के 100 स्कूलों में स्थापित होंगे स्मार्ट क्लास रूम, 1.85 करोड़ की आएगी लागत

प्रदेश के 100 स्कूलों में राज्य सरकार की ओर से स्मार्ट क्लास रूम स्थापित किए जाएंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग ने राजकीय विद्यालयों का चयन कर लिया है, जिनमें 1.85 करोड़ की लागत से स्मार्ट क्लास रूम बनाए जांएगे। स्मार्ट क्लास रूम लगाने के साथ ही कक्षा 1 से 12वीं तक पाठ्यक्रम का ई-कन्टेन्ट भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

19/06/2020