Dainik Navajyoti Logo
Monday 2nd of August 2021
 
शिक्षा जगत

सीबीएसई 12वीं बोर्ड के परिणाम के लिए फार्मूला तय!, सुप्रीम कोर्ट को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी कमेटी

Thursday, June 17, 2021 10:55 AM
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड मुख्यालय।

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के लिए बिना परीक्षा लिए 12वीं का परिणाम जारी करना बड़ी चुनौती है। बोर्ड ने इसके लिए एक कमेटी भी बनाई है, जो गुरुवार को मूल्यांकन के लिए अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपेगी। मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार, 12वीं का परिणाम जारी करने से पहले 15 प्रतिशत अंकों के लिए एक और आंतरिक मूल्यांकन हो सकता है ताकि जो छात्र किसी कारणवश 12वीं की प्री-बोर्ड या मध्यावधि परीक्षाओं में बेहतर नहीं कर पाए हैं, लेकिन बोर्ड परीक्षाओं की बेहतर तैयारी कर रहे थे, उनको इसका लाभ मिल सके। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि इस मूल्यांकन का आधार क्या होगा?

बोर्ड को भेजे जाएंगे प्रायोगिक परीक्षा के अंक
कोरोना महामारी के चलते कई स्कूलों ने प्रायोगिक परीक्षाएं नहीं कराई थीं। ऐसे में उन्हें ऑनलाइन ही प्रायोगिक परीक्षा कराकर अंक 28 जून तक अपलोड करने को कहा गया है। इन अंकों को बोर्ड को भेजा जाएगा। सूत्रों के मुताबिक 12वीं के परिणाम में प्रायोगिक परीक्षा के अंक बहुत महत्वपूर्ण होंगे।

सभी राज्यों का देखा जाएगा औसत
कमेटी की कोशिश है कि सीबीएसई का परिणाम सभी मापदंडों पर खरा हो और छात्र भी इससे संतुष्ट हों। साथ ही, राज्यों के परिणाम में ज्यादा अंतर नहीं रहे। इसके लिए परिणाम जारी करने से पहले सभी राज्यों का औसत देखा जाएगा।

30-20-50 के फार्मूले के आधार पर मूल्यांकन
12वीं के परिणाम जारी करने के लिए सीबीएसई 30-20-50 के फार्मूले के आधार पर मूल्यांकन कर सकता है। इसमें 10वीं के 30% अंक, 11वीं के 20% अंक और 12वीं के 50% अंकों को शामिल किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक कमेटी 11वीं के 20% अंक को ही जोड़ने के पक्ष में है, क्योंकि 11वीं में छात्रों के सामने कई समस्याएं होती हैं। संकाय अलग-अलग होने के कारण काफी समय विषय को समझने में ही निकल जाता है। यह भी देखने में आया है कि 12वीं पर फोकस होने के कारण कई छात्र 11वीं में ज्यादा गंभीरता से परीक्षा नहीं देते।

12वीं के 50% अंकों को शामिल करने के पक्ष में मजबूत तर्क
मूल्यांकन में 12वीं के 50% अंकों को शामिल करने के पक्ष में मजबूत तर्क है। चूंकि 12वीं की साल भर की पढ़ाई के आधार पर ही बोर्ड की परीक्षा होती है, इसलिए इसके अंक सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। इन 50% अंकों में 35% अंक प्री-बोर्ड, मध्यावधि परीक्षा, आंतरिक मूल्यांकन और प्रायोगिक परीक्षा के हो सकते हैं।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

कोरोना वायरस के चलते स्कूलों में छुट्टियां, लेकिन शिक्षकों को अवकाश नहीं

रदेश में कोरोना वायरस को लेकर राज्य सरकार ने 14 विभागों को छोड़कर सभी विभागों में 50 फीसदी कर्मचारियों को रोटेशन के आधार पर अवकाश देने के आदेश जारी किए हैं, लेकिन शिक्षा विभाग के शिक्षकों को लेकर कोई कदम नहीं उठाए गए हैं।

21/03/2020

कोरोना इफेक्ट: राजस्थान यूनिवर्सिटी की सभी परीक्षाएं स्थगित

आरयू की 19 मार्च से 31 मार्च तक आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाएं (प्रायोगिक एवं सैद्धांतिक) कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्थगित कर दी गई है।

19/03/2020

कोरोना इफेक्ट: सुखाड़िया यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं 20 अप्रैल तक स्थगित

मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय प्रबंधन ने अब 20 अप्रैल तक विभिन्न सैद्धांतिक व प्रायोगिक परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं।

26/03/2020

बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी का चौथा दीक्षांत समारोह

हीरो ग्रुप की नॉट-फॉर-प्रॉफिट यूनिवर्सिटी बीएमएल मुंजाल यूनिवर्सिटी (बीएमयू) ने चौथे दीक्षांत समारोह के दौरान कैंपस में आयोजन किया।

03/09/2019

आरजेएस परीक्षा: विवादित प्रश्नों से जुड़े मामले में रजिस्ट्रार जनरल और रजिस्ट्रार परीक्षा को नोटिस जारी

आरजेएस परीक्षा- 2018 से जुड़े मामले में शुक्रवार को हाईकोर्ट में सुनवाई हुई।

31/05/2019

दिव्यांग बच्चों ने मनाया उत्सव

रिसर्च एजुकेशन एंड आॅडियोलॉजिकल डेवलपमेंट सोसायटी (रीड्स) की ओर से पिंकसिटी प्रेस क्लब में वार्षिकोत्सव मनाया गया।

01/03/2020

सीटेट के परीक्षा शुल्क में बढो़तरी, अभ्यर्थियों की जेब पर पड़ेगा आर्थिक भार

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से आगामी 5 जुलाई को देशभर में आयोजित होने वाली केन्द्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटेट) के लिए आवेदन करना अभ्यर्थियों की जेब पर भारी होगा।

12/02/2020