Dainik Navajyoti Logo
Sunday 18th of April 2021
 
बिज़नेस

विश्व बैंक का अनुमान, अगले वित्त वर्ष में 7.5 से 12.5 फीसदी रह सकती है जीडीपी वृद्धि दर

Thursday, April 01, 2021 10:50 AM
विश्व बैंक।

नई दिल्ली। पिछले एक साल में कोरोना महामारी और देश भर में लगाए गए लॉकडाउन के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा था। विश्व बैंक के मुताबिक उम्मीद के विपरीत भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से पटरी पर लौटी है। लेकिन इसके बावजूद अभी तक स्थिति में पूरी तरह से सुधार नहीं है। विश्व बैंक ने अपनी हालिया रिपोर्ट में अनुमान लगाया है कि वित्त वर्ष 2021-22 में भारत की वास्तविक जीडीपी ग्रोथ 7.5-12.5 फीसदी के बीच रह सकती है। विश्व बैंक के मुताबिक पिछले दो वर्षों से भारत में कोई ग्रोथ नहीं दिखी है और प्रति व्यक्ति आय में भी गिरावट आई है। विश्व बैंक ने अपनी हालिया साउथ एशिया इकोनॉमिक फोकस रिपोर्ट को इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (आईएमएफ) से सालाना स्प्रिंग मीटिंग से पहले जारी किया है। रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना महामारी से पहले भी इकोनॉमी धीमी हो रही थी और वित्त वर्ष 2017 में यह 8.3 फीसदी पहुंच गई थी और इसके बाद वित्त वर्ष 2020 में यह 4 फीसदी तक गिर गई। स्लोडाउन की सबसे बड़ी वजह निजी खपत में गिरावट और एक बड़े नॉन-बैंक फाइनेंस इंस्टीट्यूशन के ढहने से वित्तीय सेक्टर को लगा झटका रहा।

इकोनॉमी के कुछ हिस्सों में रिकवरी नहीं
विश्व बैंक ने महामारी और पॉलिसी डेवलपमेंट्स के कारण अनिश्चितता के चलते वित्त वर्ष 2021-22 में वास्तविक रीयल जीडीपी ग्रोथ के 7.5-12.5 फीसदी के बीच रहने का अनुमान लगाया है। जीडीपी ग्रोथ इस पर निर्भर करेगी कि वैक्सीनेशन कार्यक्रम किस तरह आगे बढ़ता है। आवाजाही पर किस तरह से प्रतिबंध लगाए जाते हैं। इसके अलावा अगले वित्त वर्ष 2021-22 में जीडीपी ग्रोथ इस पर भी निर्भर करेगी कि वैश्विक अर्थव्यवस्था कितनी तेजी से रिकवर होती है। विश्व बैंक के चीफ इकोनॉमिस्ट (साउथ एशिया रीजन) हंस टिमर के मुताबिक पैंडेमिक साइड की बात करें तो भारत में हर किसी को वैक्सीन का डोज देना भी बहुत बड़ी चुनौती है। इकोनॉमिक साइड पर बात करें तो टिमर का कहना है कि पिछले दो वर्षों से भारत में कोई ग्रोथ नहीं दिखी है और पिछले दो वर्षों से प्रति व्यक्ति आय में भी गिरावट आई है। टिमर के मुताबिक महामारी न होती तो भी इकोनॉमी के कई हिस्सों में रिकवरी नहीं हुई है।

पॉवर्टी रेट में गिरावट का अनुमान
घरेलू और महत्वपूर्ण एक्सपोर्ट मार्केट्स में आर्थिक गतिविधियां धीरे-धीरे सामान्य हो रही हैं, 2022 और 2023 में चालू खाते का घाटा एक फीसदी रह सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक 2022 तक सरकारी घाटा जीडीपी के 10 फीसदी से अधिक बना रह सकता है। विश्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रोथ सामान्य होने और लेबर मार्केट में सुधार होने की उम्मीद के चलते गरीबी में कमी हो सकती है और कोरोना से पहले की स्थिति आ सकती है। वित्त वर्ष 2022 में पॉवर्टी रेट (1.90 अमेरिकी डॉलर लाइन) कोरोना महामारी से पहले की स्थिति में पहुंच सकती है और इसके 6.9 फीसदी के बीच रहने का अनुमान है। इसके बाद वित्त वर्ष 2024 तक यह कम होकर 4.7 फीसदी तक रह सकता है।

यह भी पढ़ें:

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार 11वें दिन बढ़ोतरी, दिल्ली में पेट्रोल 90 रुपए प्रति लीटर के पार

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में तेजी आने से शुक्रवार को घरेलू बाजार में लगातार 11वें दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी दर्ज की गई। राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 31 पैसे बढ़कर 90 रुपए प्रति लीटर के स्तर को पार 90.19 रुपए प्रति लीटर और डीजल 33 पैसे चढ़कर 80.60 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया।

19/02/2021

यात्री वाहनों की बिक्री में साढ़े सात साल की सबसे बड़ी गिरावट

कमजोर ग्राहक धारणा और आम चुनाव के मद्देनजर लोगों द्वारा खरीद टालने के कारण अप्रैल में यात्री वाहनों की घरेलू बिक्री 17.07 प्रतिशत घटकर 2,47,541 इकाई रह गयी।

13/05/2019

आज से 24 घंटे और सातों दिन कर सकेंगे एनईएफटी ट्रांजैक्शन

अगर आप ऑनलाइन ट्रांजैक्शन एनईएफटी के जरिए करते हैं तो आपके लिए बड़ी खुशखबरी है। 16 दिसंबर से यह सुविधा आपको सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे मिलने वाली है। पहले यह सुविधा 24 घंटे नहीं मिलती थी।

16/12/2019

RBI का नीतिगत दरें यथावत रखने का फैसला, ब्याज दरों में तत्काल कमी की उम्मीद खत्म

रिर्जव बैंक की मौद्रिक नीति समिति ने महंगाई बढ़ने की आशंका जताते हुए गुरूवार को नीतिगत दरों को यथावत बनाए रखने का निर्णय लिया, जिससे घर, कार और व्यक्तिगत ऋण पर ब्याज दरों में तत्काल कमी आने की उम्मीद समाप्त होने से लोगों को निराशा हाथ लगी है।

06/02/2020

देश में यात्री वाहनों की बिक्री बढ़ी, जनवरी में 11.14 फीसदी का इजाफा

इस वर्ष जनवरी में देश में कुल 276554 यात्री वाहनों की बिक्री हुई जो पिछले वर्ष इसी महीने में बेचे गए 248840 वाहनों की तुलना में 11.14 प्रतिशत अधिक है। भारतीय ऑटोमोबाइल कंपनियों के शीर्ष संगठन सियाम द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार इस महीने में दोपहिया वाहनों की बिक्री में 6.63 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

11/02/2021

ई-कॉमर्स में मिलेगा दस लाख लोगों को रोजगार

वित्त एवं कंपनी मामलों के केन्द्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने बुधवार को कहा कि देश में जिस तेजी से ई-कॉमर्स कारोबार बढ़ रहा है उसके वर्ष 2022 तक बढ़कर 100 अरब डॉलर पर पहुंचने और उस समय तक इसमें 10 लाख लोगों को रोजगार मिलने का अनुमान है।

01/08/2019

पीएनबी ने मदर्स डे मनाया

पंजाब नेशनल बैंक की ओर से मातृत्वृ दिवस (मदर्स डे) पर राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय, सांगानेर विभा एरन अंचल प्रबंधक राजस्थान की अध्य्क्षता में एक सादा समारोह आयोजित किया गया

11/05/2019