Dainik Navajyoti Logo
Saturday 15th of May 2021
 
बिज़नेस

लगातार दूसरे दिन लुढ़का शेयर बाजार, सेंसेक्स 335 अंक टूटकर 38 हजार के स्तर से नीचे

Thursday, July 30, 2020 18:40 PM
फाइल फोटो।

मुंबई। वैश्विक स्तर से मिले नकारात्मक संकेतों के साथ ही घरेलू स्तर पर दूरसंचार, तेल एवं गैस, वित्त और बैंकिंग समूहों की कंपनियों में बिकवाली के दबाव में घरेलू शेयर बाजार गुरुवार को लाल निशान में रहे। बीएसई का सेंसेक्स 335.06 अंक टूटकर 38 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 37,736.07 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 100.70 अंक गिरकर 11,102.15 अंक पर रहा। बीएसई में स्वास्थ्य समूह में 2.01 प्रतिशत, आईटी में 0.64 प्रतिशत और टेक में 0.07 प्रतिशत की तेजी को छोड़कर शेष सभी समूह गिरावट में रहे। बीएसई में कुल 2,812 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 1,585 के शेयर लाल निशान और 1,061 के हरे निशान में रहे, जबकि 165 में कोई बदलाव नहीं हुआ।

वैश्विक स्तर पर लगभग सभी प्रमुख सूचकांक गिरावट में रहे। जर्मनी का डैक्स 2.16 प्रतिशत, ब्रिटेन का एफटीएसई 1.36 प्रतिशत, जापान का निक्केई 0.26 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.69 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.23 प्रतिशत फिसल गया। गुरुवार को बीएसई का सेंसेक्स 189 अंकों की तेजी के साथ 38,272.83 अंक पर खुला। कारोबार के पहले चरण में यह 38,413.81 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा, लेकिन इसके बाद शुरू हुई बिकवाली के दबाव में सत्र के अंतिम चरण तक 37,678.42 अंक के निचले स्तर तक फिसला। अंत में यह पिछले दिवस के 38,071.13 अंक की तुलना में 335.06 अंक अर्थात 0.88 प्रतिशत गिरकर 37,736.07 अंक पर रहा।

एनएसई का निफ्टी 52 अंकों की बढ़त के साथ 11,254.30 अंक पर खुला। सत्र के दौरान यह 11,299.95 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा लेकिन बिकवाली के कारण 11,084.94 अंक के निचले स्तर तक उतरा। अंत में निफ्टी पिछले सत्र के 11,202.85 अंक की तुलना में 0.91 प्रतिशत अर्थात 100.70 अंक फिसलकर 11,102.15 अंक पर रहा। निफ्टी में शामिल कंपनियों में से 37 गिरावट में जबकि 13 बढ़त में रहीं। सेंसेक्स में सन फार्मा 3.44 प्रतिशत, मारुति सुजुकी 1.29 प्रतिशत, इंफोसिस 0.84 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज 0.61 प्रतिशत, एचसीएल टेक 0.30 प्रतिशत, टाइटन 0.21 प्रतिशत, एशियन पेंट्स 0.19 प्रतिशत और टीसीएएस 0.13 प्रतिशत की बढ़त में रहे।

यह भी पढ़ें:

थोक मुद्रास्फीति 8 वर्ष के उच्चतम स्तर पर पहुंची, मार्च में महंगाई दर रही 7.39 प्रतिशत

पेट्रोलियम पदार्थों और खनिजों की कीमतों में भारी वृद्धि होने से मार्च 2021 में थोक मूल्यों पर आधारित थोक मुद्रास्फीति की दर 8 वर्ष के उच्चतम स्तर 7.39 प्रतिशत पर पहुंच गई है। सरकार की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों में बताया गया है कि मार्च 2020 में थोक मूल्य थोक मुद्रास्फीति की दर 0.42 प्रतिशत रही थी।

15/04/2021

वैश्विक संकेतों से शेयर बाजार में मजबूती, सेंसेक्स में 1628 अंक और निफ्टी में 482 अंक की बढ़त

विदेशों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजारों में भी निवेश धारणा मजबूत रही और बीएसई का सेंसेक्स 1,627.73 अंक यानी 5.74 प्रतिशत चढ़कर 29,915.96 अंक पर तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 482 अंक यानी 5.83 प्रतिशत की बढ़त में 8,745.45 अंक पर बंद हुआ।

20/03/2020

SBI के 44 करोड़ खाताधारकों के लिए खुशखबरी, अब मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने का झंझट खत्म

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने अपने खाताधारकों को राहत देते हुए मिनि‍मम बैलेंस चार्ज का झंझट खत्‍म कर दिया है। एसबीआई के सेविंग्स अकाउंट के लिए एक औसत मासिक न्यूनतम राशि रखने की अनिवार्यता समाप्त करने की घोषणा से अब बैंक के सभी बचत खाताधारकों को जीरो बैलेंस खाते की सुविधा मिलने लगेगी।

11/03/2020

Video: स्कोडा का रिटेल आउटलेट्स की संख्या 2022 तक बढ़ाकर दोगुना करने का लक्ष्य

स्कोडा डायरेक्टर सेल्स सर्विस जाक होलिस ने कहा कि 95 परसेंट कार इंडियन रोड के अनुसार तैयार की गई हैं और 2020 में नए मॉडल लांच करेंगे।

13/06/2019

शेयर बाजार में तेजी जारी, 380 अंकों के उछाल के साथ सेंसेक्स 47 हजार के पार, निफ्टी भी 13873 पर बंद

कोविड-19 का टीका जल्द आने की उम्मीद में घरेलू शेयर बाजारों में लगातार चौथे दिन बहार रही और बीएसई का सेंसेक्स 380.21 अंक यानी 0.81 प्रतिशत की छलांग लगाकर 47,353.75 अंक के नए रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। सेसेक्स 4 दिन में 1,800 अंक उछल चुका है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 123.95 अंक यानी 0.90 प्रतिशत की तेजी के साथ 13,873.20 अंक के ऐतिहासिक स्तर पर पहुंच गया।

28/12/2020

कच्चे स्टील का घरेलू उत्पादन घटा

चीन और अमेरिका में बढ़ते उत्पादन के बीच भारत में बीते वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में कच्चे स्टील का उत्पादन दो महीने घटा है।

05/05/2019

स्वच्छता बाजार 60 अरब डॉलर का

सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वपूर्ण ‘स्वच्छ भारत अभियान’ में निजी क्षेत्र की भागीदारी का आह्वान करते हुए आज कहा कि वर्ष 2021 तक स्वच्छता से जुड़े उत्पादों का

26/04/2019