Dainik Navajyoti Logo
Friday 23rd of July 2021
 
बिज़नेस

सेंसेक्स 45 हजार अंक और निफ्टी 13400 अंक के होगा पार

Wednesday, December 25, 2019 17:20 PM
फाइल फोटो।

नई दिल्ली। कंपनी कर में कटौती किए जाने से मुनाफे में बढ़ोतरी होने के मद्देनजर अगले वर्ष भी शेयर बाजार में लिवाली बने रहने की संभावना है और इसके बल पर बीएसई के 30 शेयरों वाले संवेदी सूचकांक सेंसेक्स के बढ़कर 45,500 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी के 13,400 अंकों पर पहुंचने का अनुमान है।

बाजार अध्ययन और ब्रोकिंग सेवा प्रदान करने वाली कंपनी कोटक सिक्युरिटीज की एक रिपोर्ट के अनुसार चालू वर्ष में नवंबर महीने तक शेयर बाजार ने दो अंकों का रिटर्न दिया है और कंपनी कर में कमी किए जाने से कंपनियों के लाभ में बढ़ोतरी होने से अगले वर्ष लिवाली के जोर से बीएसई का सेंसेक्स 45,500 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 13,400 अंक पर पहुंच सकता है। बीते साल निफ्टी ने दो अंकों का रिटर्न दिया जिसमें असल योगदान केवल कुछ ही कंपनियों का था, जबकि व्यापक स्तर पर बाजार अभी भी दबाव में है। मिडकैप और स्मॉलकैप दोनों ही सूचकांक इस कैलेंडर वर्ष में नकारात्मक रिटर्न दे रहे हैं।

रिपोर्ट के अनुसार अर्थव्यवस्था में जो कुछ दिख रहा है उससे अलग मार्केट का मूड ज्यादा सकारात्मक है। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि कॉर्पोरेट टैक्स में कमी होने से कंपनियों की आमदनी में सुधार हुआ है तथा साथ ही एफपीआई और एसआईपी का प्रवाह भी मजबूत हुआ है। चालू वर्ष में अब तक एफपीआई एवं घरेलू संस्थागत निवेशक इक्विटी में 20 अरब डॉलर से अधिक का निवेश कर चुके हैं। म्यूचुअल फंड में औसत मासिक एसआईपी का प्रवाह  8230 करोड़ रुपए रहा है जिससे बाजार को बढ़ावा मिला है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण वर्ष 2020 में एक बड़ा मुद्दा बन सकता है। बीपीसीएल, कॉनकॉर तथा शिपिंग कॉर्पोरेशन की रणनीतिक बिक्री सरकार को 800 अरब रुपए से अधिक की राशि दे सकती है और इससे अन्य बड़े विनिवेश के लिए जमीन तैयार हो जाएगी। यदि सरकार को सभी गैर-रणनीतिक सूचीबद्ध सार्वजनिक उपक्रमों (जिनमें बैंक/वित्तीय उपक्रम शामिल नहीं होंगे) का निजीकरण करना है तथा 5 रणनीतिक सार्वजनिक उपक्रमों (यानी ओएनजीसी, कोल इंडिया, आईओसी, बीईएल तथा हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स) में 51 प्रतिशत अपने पास रखना है तो अगले कुछ वर्षों में इनसे 5 लाख करोड़ से अधिक की राशि प्राप्त हो सकती है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साल का लो बेस इफैक्ट भी कंपनियों को मदद दे सकता है कि वे वित्त वर्ष 2021 में अच्छा राजस्व तथा ऑपरेटिंग लाभ में वृद्धि दर्ज कर सके। निफ्टी 50 में शामिल कंपनियों की आय चालू वित्त वर्ष में 10 प्रतिशत तथा अगले वित्त वर्ष में 21 में 27 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान है। अगले तीन वर्षों के दौरान निफ्टी 50 की आय 18 प्रतिशत वार्षिक से बढ़ सकती है जो कि बीते तीन वर्षों में 8 प्रतिशत से बढ़ी है। रिपोर्ट में अगले वर्ष निफ्टी के 13,400 अंक पर तथा सेंसेक्स के 45,500 अंकों तक पहुंचने का अनुमान जताया गया है।

अगर आगामी केन्द्रीय बजट करदाताओं और निवेशकों को कुछ प्रोत्साहन देता है तो बाजार में व्यापक रैली देखी जा सकती है जिससे मिडकैप तथा स्मॉलकैप में दिलचस्पी को फिर से जगा सकती है। वित्त वर्ष 2021 में आय की उम्मीद मुख्य रूप से कुछ गिनेचुने स्टॉक से रहने का अनुमान जताया गया है। जिन कंपनियों को इस वर्ष कर में कटौती की वजह से लाभ हुआ है वे अगले वित्त वर्ष में बेहतर प्रदर्शन कर सकती है। वर्ष 2020 के लिए उन सेक्टरों को तरजीह दिए जाने की सलाह दी गई है जिनमें ज्यादा कमाई दिख रही है। इन पैरामीटरों के आधार पर कॉर्पोरेट बैंक, एनबीएफसी (मजबूत पेरेंटेज वाली बड़ी कंपनियां), तेल एवं गैस, पूंजीगत सामान, निर्माण, हेल्थकेयर तथा ऐग्रोकैमिकल जैसे सेक्टरों के स्टॉक पर फोकस करना लाभदायक हो सकता है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

बैंकों के पास पर्याप्त नकदी : सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बैंकों के पास पर्याप्त नकदी उपलब्ध है और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम को वित्त की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए बैंकों से बिल डिस्काउंटिंग सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए कहा गया है।

15/10/2019

देश की अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका, जीडीपी घटकर हुई 5 प्रतिशत

पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की विकास दर घटकर 5 प्रतिशत पर आ गई है। पहली तिमाही में देश की विकास दर 5.8 प्रतिशत से घटकर 5 प्रतिशत हो गई है।

30/08/2019

देशभर में बैंक कर्मचारियों की हड़ताल से कामकाज प्रभावित

देशभर में बैंकों के 10 लाख बैंक कर्मचारी और अधिकारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर दो दिवसीय हड़ताल पर चले गये।

31/01/2020

जेट के स्लॉट अस्थाई आधार पर दूसरी एयरलाइन कंपनियों को आवंटित होंगे

जेट एयरवेज के खाली स्लॉट को लेकर उठ रही आशंकाओं के बीच नागर विमानन मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि वह खाली स्लॉट को ‘अस्थायी तौर’ पर दूसरी एयरलाइन कंपनियों को आवंटित कर रहा है।

24/04/2019

कोरोना संकट: गूगल CEO सुंदर पिचाई ने गिव इंडिया को दान किए 5 करोड़ रुपए, गरीबों पर होंगे खर्च

दुनिया की दिग्गज आइटी कंपनी गूगल और उसकी पैरेंट कंपनी एल्फाबेट के भारतीय मूल के सीईओ सुंदर पिचाई ने गैर-लाभकारी संगठन गिव इंडिया (Give India) को पांच करोड़ रुपए का दान दिया है। यह डोनेशन कोविड-19 की वजह से लागू लॉकडाउन से प्रभावित गरीब लोगों की मदद के लिए किया गया है।

13/04/2020

सोने के गहनों पर हॉलमार्क अनिवार्य, 15 जनवरी 2020 को जारी होगी अधिसूचना, 1 साल बाद लागू

केन्द्र सरकार ने सोने के गहनों पर बीआईएस हॉलमार्क अनिवार्य कर दिया है। इसका उल्लंघन किया गया तो ज्वैलर्स को एक साल की सजा का प्रवाधान या एक लाख रुपए जुर्माना भी भुगतना पड़ सकता है। केन्द्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने बताया कि 2021 से देशभर में सोने के गहनों पर बीआईएस हॉलमार्क होने को अनिवार्य कर दिया जाएगा।

29/11/2019

संजीव रीट की सभी पुस्तकें बाजार में उपलब्ध, RBSE की ओर से जारी पाठ्यक्रम पर आधारित

आरईईटी (रीट) की विज्ञप्ति जारी कर दी गई है तथा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से आरईईटी के पाठ्क्रम में भारी बदलाव किया गया है। पिछले 45 वर्षों से विद्यार्थियों का सहयोगी रहा संजीव प्रकाशन अब आरईईटी संजीव की लेवल एक एवं लेवल दो की सभी पुस्तकें बाजार में उपलब्ध करवाई है। ये पुस्तकें 11 जनवरी, 2021 को माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर की ओर से जारी पाठ्क्रम पर आधारित है।

20/01/2021