Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 4th of August 2021
 
बिज़नेस

आम आदमी को महंगाई से राहत नहीं, घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में फिर 25 रुपए का इजाफा

Monday, March 01, 2021 12:05 PM
फाइल फोटो>

नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने मार्च महीने के पहले दिन गैस सिलेंडर की कीमतों में बढ़ोतरी की है। पिछले 1 महीने में 4 बार रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़ चुके हैं। राजधानी दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम में 25 रुपए का इजाफा किया गया है, जिसके बाद यहां बिना सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर 819 रुपए हो गया है, पहले ये 794 रुपए था। पिछले महीने तीन बार में रसोई गैस की कीमत 100 रुपए तक बढ़ चुकी थी। पहले 4 फरवरी को घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम में 25 रुपए, फिर 14 फरवरी को 50 रुपए और फिर 25 फरवरी को 25 रुपए बढ़ाए गए थे यानि जनवरी से अब तक रसोई गैस की कीमत में 125 रुपए की बढ़त हो चुकी है। 1 जनवरी को इसकी कीमत 694 रुपए थी जो अब 819 रुपए है।

सरकार 12 गैस सिलेंडर पर सब्सिडी देती है
सरकार एक साल में प्रत्येक गैस कनेक्शन के लिए 14.2 किलोग्राम के 12 सिलेंडरों पर सब्सिडी देती है। ग्राहक को हर सिलेंडर पर सब्सिडी समेत कीमत चुकानी होती है। बाद में सब्सिडी का पैसा खाते में वापस आ जाता है। अगर ग्राहक इससे ज्यादा सिलेंडर लेना चाहते हैं तो उन्हें बाजार मूल्य पर खरीदना होता है। तेल कंपनियां हर महीने एलपीजी सिलेंडर की कीमतों की समीक्षा करती हैं। इनमें बढ़ोतरी या कमी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत और अमेरिकी डॉलर के एक्सचेंज रेट पर निर्भर करती है।

कमर्शियल गैस सिलेंडर भी महंगा
19 किलोग्राम वाले कमर्शियल गैस सिलेंडर 90.50 रुपए महंगा हुआ है। अब दिल्ली में इस सिलेंडर की कीमत 1614 रुपए हो गई है। इसी तरह मुंबई में रेट अब 1563.50 रुपए प्रति सिलिंडर हो गया है।

जयपुर में 823 रुपए में मिलेगा घरेलू गैस सिलेंडर
लोगों की रसोई में चूल्हा एक बार फिर से महंगा हो गया है। सोमवार को घरेलू गैस सिलेंडर की कीमतों में 25 रुपए व कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमतों में 95 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में 25 रुपए बढ़ोतरी होने के बाद अब घरेलू गैस सिलेंडर जयपुर में 823 रुपए का मिलेगा। वहीं कमर्शियल गैस सिलेंडर 95 रुपए की बढ़ोतरी होने के बाद 1625 रुपए में मिलेगा। गौरतलब है कि पिछले 9 महीने से घरेलू गैस सिलेंडरों पर उपभोक्ताओं को सब्सिडी भी नहीं मिल रही है। राजस्थान में घरेलू गैस के करीब 1 करोड़ 60 लाख उपभोक्ता है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

एक्सप्रेस-वे पर दो दुर्घटनाओं में मां-बेटे सहित आठ लोगों की मौत, 15 घायल

मथुरा : दिल्ली-आगरा यमुना एक्सप्रेस-वे पर आज तड़के सड़क किनारे खड़ी बस को टैंकर ने पीछे से टक्कर मार दिया, जिसके कारण बस के बाहर खड़े लोगों में से छह की मौके पर ही मौत हो गयी.

16/08/2016

सेंसेक्स 164 अंक चढ़कर 37 हजार के पार, निफ्टी में 57 अंकों की बढ़त

बैंकिंग और ऑटो के साथ ही अन्य सेक्टरों में लौटी तेजी के कारण बीएसई का सेंसेक्स लगातार दूसरे दिन चढ़ता हुआ सोमवार को एक बार फिर 37 हजार के पार और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 11 हजार के पार पहुंच गया।

09/09/2019

मारुति सुजुकी की नई ऑल्टो 800 नए बीएस6 इंजन के साथ लाँच

मारुति सुजुकी ने अपनी हैचबैक कार ऑल्टो 800 के नए संस्करण को लाँच किया। नई ऑल्टो 800 को नए सुरक्षा मापदंडों के अनुरूप विकसित नए बीएस6 इंजन के साथ प्रस्तुत किया गया हैं

27/04/2019

#Budget2019: आरबीआई की निगरानी में होगी हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में आम बजट पेश कर रही हैं। बजट के दौरान उन्होंने एनपीएफ पर ऐलान किया।

05/07/2019

वाहन उद्योग में सुस्ती जारी, जनवरी में 14 फीसदी घटी बिक्री

घरेलू वाहन उद्योग में गिरावट का रुख साल के पहले महीने में भी जारी रहा और सभी श्रेणी के वाहनों की कुल बिक्री 13.83 प्रतिशत घटकर 17,39,975 इकाई रह गई। यात्री वाहनों की बिक्री भी 6.20 प्रतिशत की गिरावट के साथ 2,62,714 इकाई रही।

10/02/2020

लगातार दूसरे दिन लुढ़का शेयर बाजार, सेंसेक्स 190 अंक और निफ्टी 74 अंक टूटा

नोवेल कोरोना वायरस की चिंता के कारण विदेशों से मिले नकारात्मक संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार लगातार दूसरे दिन गिरावट में रहे। अंतिम समय में हुई तेज बिकवाली से बीएसई का सेंसेक्स 190.33 अंक टूटकर 40,723.49 अंक पर आ गया। यह 6 जनवरी के बाद का निचला स्तर है।

31/01/2020

चार वर्ष के निचले स्तर पर शेयर बाजार, सेंसेक्स 581 अंक और निफ्टी 205 अंक टूटा

कोरोना वायरस के संक्रमण के भारत सहित दुनिया के अधिकांश देशों में संक्रमण के फैलने से अर्थव्यवस्था के प्रभावित होने के दबाव में शेयर बाजार में गुरूवार को भी बिकवाली जारी रही, जिससे यह करीब चार के निचले स्तर पर आ गया और निवेशकों के 3.76 लाख करोड़ रुपए डूब गए।

19/03/2020