Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of June 2021
 
बिज़नेस

गूगल सीईओ सुंदर पिचाई की घोषणा, अगले 5 सालों में भारत में 75 हजार करोड़ रुपए निवेश करेगी कंपनी

Monday, July 13, 2020 17:55 PM
गूगल सीईओ सुंदर पिचाई (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। गूगल ने भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने में मदद के उद्देश्य से 10 अरब डॉलर (75 हजार करोड़ रुपए) के गूगल डिजिटिजेशन फंड की घोषणा की है। गूगल एवं अल्फाबेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुदंर पिचाई ने सोमवार को गुगल फोर इंडिया कार्यक्रम के दौरान यह घोषणा करते हुए कहा कि अगले 5 से 7 वर्षों में यह निवेश किया जाएगा। उनकी कंपनी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल इंडिया दॉष्टिकोण में सहयोग कर बहुत गौरवान्वित महसूस कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी का ध्यान अधिक से अधिक भारतीयों को आगे बढ़ने और सफल होने में इंटरनेट के उपयोग करने में सक्षम बनाने पर है। अभी देश का अधिकांश कारोबार डिजिटल बन रहा है। उन्होंने देश में छोटे कारोबारियों को सफल बनाने के लिए गूगल द्वारा किए गये प्रयासों का उल्लेख करते हुये कहा कि उनकी कंपनी तीन करोड़ महिलाओं को डिजिटली साक्षर बनाने की दिशा में काम कर रही है।

पिचाई ने कहा कि 20 लाख से अधिक उपभोकर्ताओं ने आवश्यक वस्तुओं की खरीद के लिए गूगल पे का उपयोग किया है और 30 लाख से अधिक कारोबारी गूगल पे से भुगतान स्वीकार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रसार भारती के साथ मिलकर एक डजुटेनमेंट सीरीज शुरू करने की तैयारी चल रही है जिसमें छोटे कारोबारियों को वर्तमान स्थिति में डिजिटल टूल को अपनाने के बारे में बताया जाएगा। पिचाई की इस घोषणा का स्वागत करते हुए केंद्रीय संचार, सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रानिक्स मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वह इससे बहुत खुश हैं कि गूगल ने भारत के डिजिटल इवाचार को स्वीकारा है और इसमें आगे संभावनाएं सृजित करने की आवश्यकता पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि देश में डिजिटल अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है और गूगल के इस फंड से इसमें तेजी आएगी।

मोदी ने प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को लेकर सुंदर पिचाई से की बातचीत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को अमेरिका की प्रौद्योगिकी क्षेत्र की महारथी एल्फाबेट इंक एवं गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सुंदर पिचाई से भारत में किसानों और युवाओं तथा उद्यमियों के जीवन में बदलाव के परिप्रेक्ष्य में प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को लेकर बातचीत की। मोदी ने पिचाई के साथ हुई बातचीत की जानकारी ट्विटर पर दी। मोदी ने लिखा कि आज सुबह सुंदर पिचाई के साथ बेहद सार्थक (एजेंसी)लाप हुआ। हमने विभिन्न संदर्भों , विशेषकर किसानों, युवाओं और उद्यमियों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कैसे हो, इस पर बातचीत की।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

रिलाइंस जिओ की गीगा फाइबर सर्विस लांच

रिलाइंस जिओ की गीगा फाइबर सर्विस आधिकारिक तौर पर लांच हो गई है। इस सर्विस के तहत ब्रॉडबैंड प्लान्स में यूजर्स को 100 एबीपीएस से लेकर एक जीबीपीएस तक की इंटरनेट स्पीड मिलेगी।

05/09/2019

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में फिर लगी आग, दिल्ली में पेट्रोल के दाम 85 रुपए लीटर के पार

देश में पेट्रोल और डीजल के दाम मंगलवार को लगातार दूसरे दिन बढ़े और दिल्ली में इसकी कीमत पहली बार 85 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गई। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार मुंबई में यह 24 पैसे महंगा होकर 91.80 रुपए प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया।

19/01/2021

पचास हजार कामगारों के रोजगार पर संकट

प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान योजना में राजस्थान के एमएसएमई को दरकिनार करने के लिए नियम और शर्तों में कई जटिलताएं और पेचिदगियां केन्द्र सरकार ने डाल दी हैं।

05/09/2019

नीता अंबानी न्यूयॉर्क मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट के ट्रस्ट में शामिल

रिलायंस फाउंडेशन की अध्यक्ष नीता अंबानी को दुनिया के सबसे बड़े न्यूयॉर्क स्थित मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम आॅफ आर्ट के ट्रस्ट के लिए चुना गया है।

14/11/2019

बजट में कृषि एवं ग्रामीण विकास के लिए 2.83 लाख करोड़, किसान रेल सेवा भी होगी शुरू

केन्द्र सरकार ने कृषि एवं ग्रामीण विकास के लिए वर्ष 2020- 21 में 2.83 लाख करोड़ का आवंटन करने की घोषणा की है।

01/02/2020

वैश्विक कारकों से प्रभावित हो रहा भारत का विकास : विश्व बैंक

विश्व बैंक के अध्यक्ष डेविड मालपास ने यहां कहा कि वैश्विक कारकों से भारतीय अर्थव्यवस्था प्रभावित हो रही है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा निर्धारित पांच लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य बहुत ही शक्तिशाली दृष्टिकोण है।

30/10/2019

दिसंबर में जीएसटी कलेक्शन का रिकॉर्ड, पहली बार 1.15 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंचा कलेक्शन

देश में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था लागू किए जाने के बाद दिसंबर 2020 में अब तक सबसे अधिक 115174 करोड़ रुपए का जीएसटी राजस्व संग्रहित हुआ है, जो दिसंबर 2019 में संग्रहित 103184 करोड़ रुपए की तुलना में 12 फीसदी अधिक है। इससे पिछले महीने नवंबर 2020 में यह राशि 104963 करोड़ रुपए रही थी।

01/01/2021