Dainik Navajyoti Logo
Sunday 17th of January 2021
 
बिज़नेस

दूसरी तिमाही में जीडीपी दर रही -7.50 फीसदी, आकलन से कम रही गिरावट

Saturday, November 28, 2020 12:50 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) के सकल घरेलू उत्पाद जीडीपी की ग्रोथ में 7.5 फीसदी नीचे गिर गई है। यह गिरावट अब तक के सभी विश्लेषकों के अनुमानों से काफी कम है। सभी विश्लेषकों ने 8 फीसदी से 12 फीसदी तक की गिरावट का अनुमान जताया था। सबसे कम अनुमान भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई का था। इसने 8.6 फीसदी की गिरावट का अनुमान जताया था। पहली तिमाही में 23.9 फीसदी की गिरावट आई थी। यह आंकड़ा एनएसओ ने जारी किया।

सितंबर की तिमाही में स्थिर प्राइस (2011-12) पर जीडीपी का अनुमान 33.14 लाख करोड़ रुपए आंका गया है। एक साल पहले इसी अवधि में यह 35.84 लाख करोड़ रुपए था। यानी 7.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। 2019-20 की दूसरी तिमाही में 4.4 फीसदी की ग्रोथ थी।

दूसरी तिमाही में 47.22 लाख करोड़ का अनुमान
सरकार के राष्ट्रीय सांख्यिकीय कार्यालय (एनएसओ) से जारी आंकड़ों के मुताबिक दूसरी तिमाही के वर्तमान मूल्य पर जीडीपी 47.22 लाख करोड़ रुपए आंका गया है। एक साल पहल इसी अवधि में 49.21 लाख करोड़ रुपए था। इसमें 4 फीसदी की गिरावट आई है, जबकि एक साल पहले इसमें 5.9 फीसदी की ग्रोथ थी।

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था पहली बार आधिकारिक रूप से मंदी के दौर में आई है। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि 3 करोड़ लोग मनरेगा के तहत रोजगार की तलाश में है। अर्थव्यवस्था को तानाशाही के जरिए आगे नहीं बढ़ाया जा सकता। प्रधानमंत्री को पहले इस बुनियादी बात को समझने की जरूरत है।
- राहुल गांधी, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष

 

यह भी पढ़ें:

एसबीआई ने ग्राहकों के लिए शुरू की नई सेवा, अब बिना एटीएम निकाल सकेंगे कैश

एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए एक सर्विस शुरू की है। इस सर्विस के तहत ग्राहक बिना एटीएम कार्ड के एटीएम से पैसे निकाल सकते है।

21/06/2019

बड़े लोन डिफॉल्टरों के नाम का खुलासा करे आरबीआई: सीआईसी

केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से कर्ज लौटाने में असफल बड़े कर्जदारों के नाम का खुलासा करने को कहा है।

28/05/2019

वित्तीय घोषणाओं से बाजार में लौटी रौनक, सेंसेक्स 793 अंक उछला

केंद्र सरकार द्वारा घरेलू और विदेशी निवेशों को बढ़ावा देने के उपायों की पिछले सप्ताह की गयी घोषणाओं के कारण सोमवार को शेयर बाजारों में जबरदस्त तेजी देखी गयी। चौतरफा लिवाली के बीच बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी दो प्रतिशत से अधिक की तेजी में रहे।

26/08/2019

बढ़ी महंगाई ‘सीजनल’, जल्द होगी कम: अनुराग ठाकुर

उदयपुर। यूपीए सरकार के काल में महंगाई दर 12 फीसदी तक थी जबकि मोदी सरकार में यह 4 प्रतिशत से कम रही। हां,गत दो माह में महंगाई दर में इजाफा हुआ है लेकिन यह ‘सीजनल’ है जो जल्द ही कम हो जाएगी।

21/02/2020

बुनकरों के आर्थिक उत्थान के लिए प्रदेश की औद्योगिक संस्थाएं आगे आएं: पाठक

उद्योग आयुक्त डॉ. कृष्णाकांत पाठक ने बुनकरों के आर्थिक उत्थान के लिए प्रदेश की औद्योगिक संस्थाओं से आगे आने की आवष्यकता प्रतिपादित की है।

28/05/2019

एसबीआई से मिलेगा सस्ता लोन

एसबीआई में एक मई से आपको कुछ बातों पर ध्यान देना होगा। एसबीआई पहला ऐसा बैंक बन गया है जिसने अपने लोन और डिपॉजिट रेट को सीधे आरबीआई

30/04/2019

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्विटर पर कारोबारी मिली की शिकायत पर की कार्रवाई

बैंक से परेशान कारोबारी की ट्विटर पर शिकायत मिलने के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण दिक्कत को दूर करने के लिए आगे आई है। कारोबारी की व्यथा पर सीतारमण ने ट्विटर पर लिखा कि यह जानकर दुख हुआ। वित्त मंत्रालय इस मामले में आपसे संपर्क करेगा।

14/02/2020