Dainik Navajyoti Logo
Thursday 4th of June 2020
 
बिज़नेस

कोरोना के कहर के चलते शेयर बाजार में लोअर सर्किट, सेंसेक्स और निफ्टी में बड़ी गिरावट

Monday, March 23, 2020 14:15 PM
फाइल फोटो।

मुंबई। दुनियाभर में कोरोना वायरस ने कहर मचा रखा है। इस जानलेवा वायरस ने ग्लोबल मार्केट में भी कोहराम मचा रखा है। कोरोना के असर के चलते सोमवार को भारतीय शेयर बाजार में भारी गिरावट देखी गई। सुबह कोरोबार की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 10 फीसदी यानी 2991 अंक टूटकर 26,924 तक पहुंच गया। इसके बाद एनएसई और बीएसई दोनों में ट्रेडिंग रोक दी गई। लोअर सर्किट लगाकर कारोबार 1 घंटे के लिए रोक दिया गया। हालांकि एक घंटे बाद जब सेंसेक्स फिर खुला तो इसमें और गिरावट देखी गई। सुबह 11.30 बजे तक सेंसेक्स 3585 अंक टूटकर 26,331 तक पहुंच गया।

कोरोबार की शुरुआत में सेंसेक्स 2307 अंकों की भारी गिरावट के साथ 27608 अंक पर खुला, वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी करीब 800 अंकों की गिरावट के साथ 7945 पर खुला। सुबह 9.40 बजे तक सेंसेक्स 2775 अंक टूटकर 27,140 अंक के स्तर पर पहुंच गया। इसी तरह निफ़्टी भी थोड़ी ही देर में 7,941 अंक के स्तर पर पहुंच गया। इस दौरान करीब 860 शेयरों में गिरावट और सिर्फ 90 शेयरों में तेजी देखी गई। सेंसेक्स के सभी शेयर लाल निशान में रहे। शेयर बाजार में 10 फीसदी से ज्यादा गिरावट होने के बाद शेयर बाजार में लोअर सर्किट लगा और कारोबार 45 मिनट तक बंद रहा।

कब लगता है लोअर सर्किट, कितनी देर रुकता है कारोबार
शेयर बाजार में लगाए जाने वाले सर्किट फिल्टर तीन तरह के होते हैं। पहला 10 फीसदी, दूसरा 15 फीसदी और तीसरा 20 फीसदी का होता है। यदि 10 फीसदी की गिरावट 1 बजे से पहले आती है, तो बाजार में एक घंटे के लिए कारोबार को रोक दिया जाता है। इसमें शुरुआती 45 मिनट तक कारोबार पूरी तरह रुका रहता है और 15 मिनट का प्री ओपन सेशन होता है। यदि सर्किट 1 बजे के बाद लगता है तो कारोबार 30 मिनट के लिए रुकता है। शुरुआती 15 मिनट तक कारोबार पूरी तरह बंद रहता है और 15 मिनट का प्री ओपन सेशन होता है। यदि सर्किट 2 के बाद लगता है तो दिन के बाकी बचे समय तक कारोबार रोक दिया जाता है।

पूरे एशियाई बाजार डूबे
कोरोना के कहर की वजह से सोमवार को समूचे एशियाई शेयर बाजारों में भारी गिरावट देखी गई। दुनिया के कई देशों द्वारा दिए गए राहत पैकेज से बाजारों को कोई सहारा नहीं मिला है और निवेशकों की बेचैनी बरकरार है। निवेशकों का नेगेटिव मूड इस वजह से और हावी हो गया, क्योंकि 1 लाख करोड़ डॉलर के इमरजेंसी आ​​र्थिक पैकेज पर अमेरिकी सांसदों में सहमति नहीं बन पाई है।

बाजार में गिरावट की 3 वजह
कोरोनावायरस का संक्रमण फैलने की वजह से देश के कई राज्यों में 31 मार्च तक लॉकडाउन और विदेशी निवेशक भारतीय बाजार से करीब दो हफ्ते में वे 50,000 करोड़ रुपए के शेयर बेच चुके हैं। वहीं कोरोनावायरस का संक्रमण फैलने के डर से दुनियाभर के बाजारों में गिरावट आ रही है।

रुपया में रिकॉर्ड गिरावट
सोमवार यानी 23 मार्च 2020 को डॉलर के मुकाबले रुपया भारी कमजोरी के साथ खुला। शुरुआती कारोबार में रुपया 95 पैसे टूट चुका है और अब डॉलर 76.15 रुपए का हो गया है। वहीं, शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 10 पैसे की कमजोरी के साथ 75.18 रुपए के स्तर पर बंद हुआ था।

इस साल की 10वीं बड़ी गिरावट
शेयर बाजार इस साल की 10वीं बड़ी गिरावट की ओर देख लिया। सेंसेक्स ने 2800 अंक टूट कर इस साल की सबसे बड़ी गिरावट जो 12 मार्च को 2919 अंकों की हुई थी उसके करीब है।

क्या होता है लोअर सर्किट
शेयर बाजार में दो सर्किट ब्रेकर होते हैं- लोअर और अपर जब शेयर बाजार एक निर्धारित सीमा से ज्यादा गिरने लगे, तो लोअर सर्किट लगाया जाता है। इसके लिए भी सेबी की ओर से 10 फीसदी, 15 फीसदी और 20 फीसदी की सीमा निर्धारित की गई है। वहीं अपर सर्किट शेयर बाजार में तब लगाया जाता है, जब यह एक तय सीमा से ज्यादा बढ़ जाता है। सेबी की ओर से अपर सर्किट के लिए तीन स्थितियां- 10 फीसदी, 15 फीसदी और 20 फीसदी की निर्धारित की गई है।

यह भी पढ़ें:

खाते से पैसा कट जाए, लेकिन एटीएम से ना निकले तो आपको मिलेगा मुआवजा

आपके साथ भी, कभी ना कभी यह हुआ होगा कि एटीएम से पैसा नहीं निकला, लेकिन अकाउंट से बैलेंस कट गया। वित्त वर्ष 2018 में बैंकिंग लोकपाल कार्यालय को ऐसी 16,000 शिकायतें मिलीं।

03/05/2019

हिन्दुस्तान कॉपर का मुनाफा 83 फीसदी उछला

हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड के 2018-19 के वित्तीय परिणाम बोर्ड आफ डायरेक्टर्स की मीटिंग में अनुमोदित किए गए।

30/05/2019

मंगलम आनंदा की हाइराइज बिल्डिंग में प्रथम टावर का पजेशन दिया

मंगलम आनंदा प्रोजेक्ट की हाइराइज बिल्डिंग में प्रथम टावर का पजेशन दिया। जल्द ही अन्य टावरों को भी पजेशन दिया जाएगा।

04/05/2019

सबसे अमीर ब्रिटिश का ताज फिर हिंदुजा बंधुओं के नाम

वाहन और तेल एवं गैस सहित कई क्षेत्रों में कारोबार करने वाले हिंदुजा समूह के मालिक एवं हिंदुजा बंधु के नाम से मशहूर गोपीचंद और श्रीचंद ने एक बार फिर सबसे अमीर ब्रिटिश का ताज अपने नाम कर लिया है।

13/05/2019

फ्यूल क्रेडिट कार्ड लांच

एचडीएफसी बैंक लिमिटेड एवं इंडियन आॅईल ने नॉन-मेट्रो शहरों व कस्बों के ग्राहकों के लिए को-ब्रांडेड फ्यूल क्रेडिट कार्ड लांच किया।

26/09/2019

कोरोना का कहर जारी, 811 अंक लुढ़का सेंसेक्स

वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के संक्रमण के तेजी से फैलने की वजह से मंगलवार को घरेलू शेयर बाजार बढ़त को खोकर गिरावट लेकर बंद हुआ, जिससे बीएसई का सेंसेक्स 810.98 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 230.35 अंक गिरकर बंद हुआ तथा निवेशकों के 2.11 लाख करोड़ रुपये से अधिक डूब गये।

17/03/2020

होण्डा # एक्टिवा इंडिया को 26 लाख से अधिक मतदाताओं ने समर्थन किया

सबसे भरोसे मंद दोपहिया ब्राण्ड होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इण्डिया का सबसे बड़ा सामाजिक सक्रियता अभियान #एक्टिवा इंडिया 26 लाख से अधिक भारतीयों के सपोर्ट के साथ देशभर में विस्तारित हो गया है।

03/05/2019