Dainik Navajyoti Logo
Monday 2nd of August 2021
 
बिज़नेस

GST मुआवजे की भरपाई के लिए केंद्र ने जारी किए 75000 करोड़ रुपए, राजस्थान को मिलेंगे 3428.39 करोड़

Friday, July 16, 2021 10:15 AM
कॉन्सेप्ट फोटो।

जयपुर। वित्त मंत्रालय ने जीएसटी मुआवजे की एवज में बैक-टू-बैक ऋण सुविधा के तहत गुरुवार को राज्यों और विधायिका वाले केंद्र शासित प्रदेशों को 75000 करोड़ रुपए जारी किए हैं। यह रिलीज सामान्य जीएसटी मुआवजे के अतिरिक्त है, जो वास्तविक उपकर संग्रह में से हर 2 महीने में जारी किया जाता है। जिन केन्द्र शासित प्रदेशों और राज्यों रुपए जारी किए गए हैं उनमें आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, मेघालय, उड़ीसा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, जम्मू और कश्मीर तथा पुड्डुचेरी शामिल है।

गत 28 मई को आयोजित 43वीं जीएसटी परिषद की बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया था, कि केंद्र सरकार 1.59 लाख करोड़ रुपए उधार लेगी और इसे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को बैक-टू-बैक आधार पर जारी करेगी ताकि संसाधनों की कमी को पूरा किया जा सके। मुआवजा निधि में अपर्याप्त राशि के कारण कम जारी हुए मुआवजे के कारण ऐसा निर्णय लिया गया। यह राशि वित्तीय वर्ष 2020-21 में इसी तरह की सुविधा के लिए अपनाए गए सिद्धांतों के अनुसार है, जहां इसी तरह की व्यवस्था के तहत राज्यों को 1.10 लाख करोड़ रुपए की राशि जारी की गई थी। यह 1.59 लाख करोड़ रुपए की राशि एक लाख करोड़ (उपकर संग्रह के आधार पर) से अधिक मुआवजे के अतिरिक्त होगी, जिसे इस वित्तीय वर्ष के दौरान राज्यों-संघ राज्य क्षेत्रों को जारी किए जाने का अनुमान है। वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल 2.59 लाख करोड़ रुपए की यह राशि जीएसटी मुआवजे की राशि से अधिक होने की उम्मीद है।

सभी पात्र राज्यों और विधानमंडल वाले केंद्र शासित प्रदेशों ने बैक-टू-बैक ऋण सुविधा के तहत मुआवजे की कमी के वित्तपोषण की व्यवस्था के लिए सहमति व्यक्त की है। कोविड-19 महामारी की प्रभावी नियंत्रण और प्रबंधन के लिए पूंजीगत व्यय में कदम उठाने के लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है। राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों को उनके प्रयासों में सहायता करने के लिएए वित्त मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान बैक-टू-बैक ऋण सुविधा के तहत सहायता जारी करने की शुरुआत की है, जिसके तहत 75000 करोड़ रुपए जारी किए हैं, जो पूरे वर्ष के लिए कुल कमी का लगभग 50 प्रतिशत है। यह राशि गुरुवार को एक ही किश्त में जारी कर दी गई। शेष राशि 2021-22 की दूसरी छमाही में किश्तों में जारी की जाएगी।

अब जारी किए जा रहे 75000 करोड़ रुपए का वित्त पोषण भारत सरकार ने चालू वर्ष में पांच साल की प्रतिभूतियों से कुल 68500 करोड़ रुपए और दो साल की प्रतिभूतियों से 6500 करोड़ रुपए उधार ले कर किया है जिन पर क्रमश: 5.60 और 4.25 प्रतिशत प्रतिवर्ष औसत प्रतिफल का भुगतान होगा। जारी की गई इस राशि से राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों को अन्य चीजों के साथ-साथ अपने सार्वजनिक व्यय की योजना बनाने, स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे में सुधार करने तथा बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को शुरू करने में मदद मिलेगी।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

लक्ष्मी विलास बैंक पर एक महीने की पाबंदी, एक दिन में 25000 रुपए निकाल सकेंगे ग्राहक

केंद्र सरकार ने तमिलनाडु के प्राइवेट सेक्टर के लक्ष्मी विलास बैंक पर एक महीने के लिए कई तरह की पाबंदियां लगा दी हैं। बैंक के बोर्ड को सुपरसीड कर दिया गया है और निकासी की सीमा तय कर दी है। ग्राहक अब 16 दिसंबर तक बैंक से अधिकतम 25 हजार रुपए की ही निकासी कर सकेंगे।

18/11/2020

कोरोना संकट के बीच कच्चे तेल की कीमतों में इतिहास की बड़ी गिरावट, शून्य से 37.68 डॉलर नीचे हुई दर्ज

कोरोना महामारी संकट के बीच कच्चे तेल की कीमत में इतिहास की सबसे बड़े गिरावट दर्ज की गई। अमेरिका में कच्चे तेल की कीमत बोतलबंद पानी से भी कम हो गई है। कच्चे तेल की कीमत शून्य डॉलर के नीचे -37.56 डॉलर प्रति बैरल दर्ज की गई। 1986 के बाद पहली बार कच्चे तेल की कीमत शून्य से नीचे गई है।

21/04/2020

बीएस-6 से पहले बढ़ी ऑटो कंपनियों की परेशानी

बीएस-6 लागू होने से पहले ऑटो कंपनियों के सामने अब इस बात की परेशानी खड़ी हो गई है कि मैन्युफैक्चर्ड गाड़ियों को कहां रखा जाए।

11/08/2019

केंट आरओ का नया प्रॉडक्ट कैम आई लांच, शाहरुख खान बने ब्रांड एंबेसडर

बच्चों और महिलाओं की सुरक्षा की चिंता दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैण् वाटर प्यूरीफायर बनाने वाली कंपनी केंट ने अब केंट कैम आई लांच किया है जो एक कार सिक्योरिटी कैमरा है।

14/04/2019

अमेजन के सीईओ की भारत यात्रा का विरोध करेंगे व्यापारी, हल्ला बोल रैली का होगा आयोजन

खुदरा व्यापारियों के संगठन 'कैट' ने कहा कि उसके तत्त्वावधान में 5 हजार से ज्यादा व्यापारी संगठन अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस की भारत यात्रा का विरोध करेंगे। कैट ने कहा कि बेजोस की भारत यात्रा के दिन 15 जनवरी को अलग-अलग शहरों में व्यापारियों द्वारा 'हल्ला बोल रैली' और धरनों का आयोजन किया जाएगा।

12/01/2020

5 राज्यों में चुनाव खत्म होते ही बढ़ गए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए कितनी बढ़ी कीमतें

पिछले दो महीने में देश के 4 राज्यों और 1 केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव के साथ ही कुछ राज्यों में उपचुनाव की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान जनता को पेट्रोल-डीजल के दाम में राहत मिलती रही, लेकिन अब चुनाव खत्म होते ही तेल कंपनियों ने फिर से तेल के दामों में इजाफा करना शुरू कर दिया है।

04/05/2021

बैंकों की तेजी के कारण हरे निशान में बंद हुआ शेयर बाजार

बैंकिंग तथा वित्तीय कंपनियों के साथ रियलिटी क्षेत्र में रही तेजी के कारण सोमवार को घरेलू शेयर बाजार मामूली तेजी में बंद हुआ।

11/11/2019