Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 1st of April 2020
 
बिज़नेस

बीएसएनएल का 3 हजार करोड़ से अधिक की वसूली पर जोर

Monday, August 12, 2019 12:00 PM
बीएसएनल का लोगो(फाइल फोटो)

नई दिल्ली। नकदी समस्या से जूझ रही सार्वजनिक क्षेत्र की बीएसएनएल ने अपने कंपनी ग्राहकों से बकाये की वसूली के लिए आक्रामक तरीके से कदम उठाने की योजना बनाई है। दूरसंचार कंपनी अगले दो-तीन माह में 3 हजार करोड़ रुपये से अधिक के बकाये में से बड़ी राशि की वसूली की उम्मीद कर रही है। भारत संचार निगम लिमिटेड यह कदम ऐसे समय उठा रही है, जब कंपनी वित्तीय स्थिति को लेकर खासा दबाव में है। इसके कारण उसे इस साल दूसरी बार कर्मचारियों के वेतन भुगतान में देरी की है। बीएसएनएल ने कर्मचारियों का जुलाई माह का वेतन पांच अगस्त को जारी किया था। बीएसएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पी के पुरवार ने कहा कि हमारा कंपनी ग्राहकों के ऊपर बकाया है जो 3 हजार करोड़ रुपये से अधिक है। हम इसकी वसूली के लिए आक्रामक तरीके से कदम उठा रहे हैं। इस दिशा में हमें सफलता भी मिल रही है।

पुरवार ने कहा कि पूरी बकाया राशि वसूली की समय सीमा बताना कठिन है, लेकिन बीएसएनएल को अगले दो-तीन माह में उसमें से बड़ी राशि की वसूली की उम्मीद है। कंपनी किराये से भी बढ़ी हुई आय प्राप्त करने की उम्मीद कर रही है। इस साल बीएसएनएल की किराये से करीब 1 हजार करोड़ रुपये की आय पर नजर है। पिछली बार यह 200 करोड़ रुपये थी। इस योजना के तहत मौजूदा इमारतों के अधिक से अधिक उपयोग और ज्यादा जगह को पट्टे पर देने की योजना है। इसके अलावा बीएसएनएल सालाना करीब 200 करोड़ रुपये तक बचाने को लेकर आउटसोर्स किए गए कार्यों को दुरुस्त करने पर भी काम कर रही है। कंपनी का मासिक आय और खर्च (परिचालन व्यय और वेतन) में 800 करोड़ रुपये का अंतर है। दूरसंचार विभाग पुनरुद्धार पैकेज के रूप में बीएसएनएल और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) के लिए राहत योजना तैयार कर रहा है। इस पैकेज में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना, संपत्ति को बाजार पर चढ़ाने और 4 जी स्पेक्ट्रम का आवंटन शामिल है। इसके अलावा विभाग दोनों सार्वजनिक उपक्रमों बीएसएनएल और एमटीएनएल को पटरी पर लाने के इरादे से संभवत: उनके विलय पर भी काम कर रहा है। बीएसएनएल को 2018-19 में करीब 14 हजार करोड़ रुपये के घाटे का अनुमान है। कंपनी को 2017-18 में 7,993 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।

यह भी पढ़ें:

निर्यातकों को चार फीसदी की दर पर मिलेगा कर्ज

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने निर्यात कर्ज में गिरावट पर चिंता जतायी है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि सरकार निर्यातकों को सस्ती दर पर विदेशी मुद्रा में कर्ज देने को लेकर दिशा निर्देश लाएगी।

13/09/2019

निर्यात को बढ़ावा दे रहा है जीजेईपीसी

भारत में रत्न एवं आभूषण उद्योग की शीर्ष संस्था जैम एंड ज्वैलरी प्रमोशन काउंसिल की ओर से जयपुर में 6वें इंडिया जेम स्टोन वीक का शानदार शुरुआत की गई।

12/04/2019

ओरिएंट इलेक्ट्रिक ने लांच की आईलव एलईडी लाइट्स

घरेलू इलेक्ट्रिक उपकरण बनाने वाली कंपनी ओरिएंट इलेक्ट्रिक लिमिटेड ने नई आईलव सीरी एलईडी लाइट्स की श्रृंखला के साथ अपने एलईडी लाइटिंग पोर्टफोलियो का विस्तार किया है।

02/07/2019

ओएलएक्स ने शुरू की उपभोक्ता सुरक्षा पहल

ऑनलाइन क्लासिफाइड मार्केटप्लेस ओएलएक्स ने अपनी उपभोक्ता सुरक्षा पहलों को शुरू करने की घोषणा की है जिसका उद्देश्य यूजरों को ऑनलाइन सुरक्षित लेनदेन सुनिश्चित करना और और इंटरनेट यूजरों को शिक्षित करना है।

19/06/2019

हुंडई मोटर इंडिया ने नयी कार ऑरा को भारतीय बाजार में लांन्च करने की घोषणा की

यात्री वाहन बनाने वाली प्रमुख कंपनी हुंडई मोटर इंडिया ने अपनी नयी कार आॅरा को भारतीय बाजार में लांच करने की घोषणा की है, जिसकी शुरूआती एक्स शोरूम कीमत 5,99900 रुपए है।

22/01/2020

थोक मुद्रास्फीति दर में कमी

थोक मूल्य पर आधारित मुद्रास्फीति की दर जून 2.02 प्रतिशत दर्ज की गई है जबकि जबकि इससे पिछले महीने यह 2.45 प्रतिशत रही थी।

16/07/2019

एसबीआई का आवास, एमएसएमई और वाहन ऋण होगा सस्ता

देश के सबसे बड़े वाणिज्यक बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने एक अक्टूबर से अपने एमएसएमई, आवास, वाहन तथा खुदरा ऋण की ब्याज दरों को रेपो दर से जोड़ने की घोषणा की है, जिससे ये ऋण सस्ते हो जाएंगे।

24/09/2019