Dainik Navajyoti Logo
Thursday 22nd of April 2021
 
अजमेर

लॉकडाउन व धारा 144 की उड़ी धज्जियां

Wednesday, April 08, 2020 23:10 PM
logo

  अजमेर ।   रेलवे ने बुधवार को न केवल अजमेर में धारा 144 की धज्जियां उड़ा दी, बल्कि कोरोना संक्रमण के दौर में डेढ़ हजार से ज्यादा लोगों को एकत्र कर उनकी जान भी जोखिम में डाल दी। मौका था, रेलवे में पैरामेडिकल स्टाफ के 53 पदों पर संविदा के आधार भर्ती का। जिसमें इंटरव्यू देने के लिए राज्य के कई जिलों से महिला व पुरुष अभ्यर्थी अजमेर पहुंच गए।  मामला बढ़ने पर रेलवे ने भर्ती को अगले आदेशों तक के लिए स्थगित कर दिया है। इस बीच, जिला प्रशासन ने लॉकडाउन के दौरान अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाने पर रेल अधिकारियों को नोटिस दिए हैं। 

अजमेर मंडल की ओर से चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ के 53 पदों पर संविदा के आधार पर 3 माह के लिए अस्थाई भर्ती की जानी है। इसमें 4 चिकित्सक, 16 नर्सिंग अधीक्षक व 3 फार्मासिस्ट के पद शामिल हैं। बुधवार को रेलवे ने अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाया था। भर्ती के लिए डेढ़ हजार से ज्यादा अभ्यर्थी सुबह 11 बजे मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय पहुंच गए। रेलवे ने इन अभ्यर्थियों को जीएलओ ग्राउण्ड पर एकत्र किया। रेलवे का दावा है कि अभ्यर्थियों के बीच सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए रेलवे सुरक्षा बल के स्टाफ को लगाया गया था और इसकी पूरी पालना की गई। इसी तरह रेल अधिकारियों की तीन सदस्यीय समिति अभ्यर्थियों की दो स्तर पर स्क्रीनिंग कर रही थी। समिति में वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी आर.एस.परिहार, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक पी.सी.मीना, वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक विक्रम सैनी शामिल थे। अभ्यर्थियों के इंटरव्यू जारी थे, लेकिन बीच में ही जिला पुलिस ने इस पर पाबंदी लगा दी। इसके बाद रेलवे ने अभ्यर्थियों के दस्तावेज जमा कर उन्हें घरों को लौटा दिया है। 

अधिकारियों से मांगा स्पष्टीकरण
भर्ती के लिए बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों के एकत्र होने की सूचना पुलिस-प्रशासन तक पहुंची, तो पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्टÑदीप ने इसकी तस्दीक के लिए अधिकारियों को मौके पर भेजा। सूचना सही होने पर एसपी ने तुरंत इंटरव्यू प्रक्रिया को बंद कराने के निर्देश दिए। साथ ही इस संबंध में मंडल रेल प्रबंधक नवीन कुमार परसुरामका, वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी आर.एस.परिहार, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक पी.सी.मीना, वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक विक्रम सैनी को नोटिस जारी कर दिए गए। उनसे लॉकडाउन के आदेशों की अवहेलना करने पर जवाब-तलब किया गया है। इसके बाद रेल अधिकारियों ने गुरुवार को होने वाले इंटरव्यू को भी निरस्त कर पूरी भर्ती को अगले आदेशों तक के लिए स्थगित कर दिया है। 
 
परिचय पत्रों का लिया सहारा
सूत्रों के मुताबिक अजमेर आए सभी अभ्यर्थी चिकित्सा विभाग से जुड़े हुए हैं। इनके पास मेडिकल के परिचय पत्र बने हुए हैं। लॉकडाउन के दौरान मेडिकल सेवाआें से जुड़े व्यक्तियों व कर्मचारियों पर किसी तरह की कोई रोक नहीं है। यह अभ्यर्थी पुलिस द्वारा रोके जाने पर, यही परिचय पत्र दिखाकर मंडल कार्यालय तक पहुंंच गए। 
 
25 भीलवाड़ा से भी आए अभ्यर्थी
प्रदेश के विभिन्न जिलों से बड़ी संख्या में अभ्यर्थी जिलों की सीमा सील होने के बावजूद अजमेर पहुुंच गए। बताया जा रहा है कि इसमें 25 युवक भीलवाड़ा से भी आए थे। इस सूचना से जिला प्रशासन में हड़कम्प मचा हुआ है। फिलहाल इसकी पुष्टि नहीं हुई है। प्रशासन की ओर से अभ्यर्थियों की ओर से जमा कराए गए दस्तावेजों की जांच से इसकी सच्चाई पता चलेगी। 
 
कांग्रेस ने की जांच की मांग
शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय जैन ने लॉकडाउन के दौरान अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए बुलाने के मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। जैन ने रेल प्रशासन पर आरोप लगाया कि उसने धारा 144 की धज्जियां उड़ा दी और लॉकडाउन में डेढ़ हजार लोग एकत्र कर लिए। रेल प्रशासन का यह रवैया लोगों की जान को जोखिम में डालने वाला है। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार की भर्तियों को जयपुर व बीकानेर डिवीजन ने हालातों के मद्देनजर रद्द कर दिया था। फिर अजमेर डिवीजन में इसकी क्या जरूरत थी। जैन ने कहा कि इस संदर्भ में केन्द्र व राज्य सरकार को शिकायत कर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की जाएगी।
 
 
यह भी पढ़ें:

कोरोना वायरस: केकड़ी से राहत की खबर, 100 सैंपलों की रिपोर्ट आई नेगेटिव

अजमेर जिले के केकड़ी से बुधवार को एक बड़ी राहत की खबर आई है। केकड़ी के काजीपुरा में पहला पॉजिटिव मरीज सामने आने के बाद क्षेत्र में लगाए गए कर्फ्यू लगाया गया और सैंपल लिए गए, जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है।

13/05/2020

चोरी के आरोपी ने हवालात में लगाई फांसी

मंदिर में हुई चोरी के मामले में हिरासत में लिए गए एक आरोपी द्वारा पीसांगन थाने की हवालात में फांसी लगाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।

14/05/2019

महाराष्टÑ के कांग्रेसी विधायकों ने की दरगाह की जियारत,पुष्कर भी गए

महाराष्टÑ में सरकार के गठन को लेकर चल रही कशमकश के बीच जिन करीब 40 कांग्रेसी विधायकों की जयपुर में बाड़ेबंदी की गई है, उनमें से कुछ रविवार को पुष्कर गए और अजमेर में ख्वाजा मोइनुदीन चिश्ती की दरगाह की जियारत की।

10/11/2019

30 करोड़ की अघोषित सम्पत्ति व 17 करोड़ के जेवरात व नकदी मिली

आयकर विभाग ने अजमेर के दो कारोबारी परिवारों के खिलाफ चल रही जांच लगभग पूरी कर ली है। इनसे विभाग को 30 करोड़ की अघोषित सम्पत्ति और 17 करोड़ रुपये के जेवरात और नकदी मिली है। फिलहाल इनके पास से मिले दस्तावेजों और डिजिटल लेनदेन की जांच जारी रहेगी। अघोषित सम्पत्ति और नकदी पर व्यापारियों को नियमानुसार टैक्स देना होगा।

17/02/2020

जिससे राखी बंधवाता था, उस युवती को भगा ले गया संत ओम सांई

जिससे राखी बंधवाता था, उस युवती को भगा ले गया संत ओम सांई प्रेमप्रकाश आश्रम का था कर्ता-धर्ता, सिंधी समाज के लोगों को लगा धक्का

21/05/2019

कश्मीर के नारे और फायर कर फैलाई दहशत

मदनगंज-किशनगढ़ सिंधी कॉलोनी में चार बाइक सवार युवकों द्वारा सोमवार रात्रि लोहे के जुगाड़ से बनाए गए उपकरण से फायरिंग कर दहशत फैला दी। क्षेत्रवासियों के अनुसार युवक कश्मीर एवं फिर मिलेंगे के नारे लगाते हुए मौके से भाग खड़े हुए।

05/08/2019

अनाज मंडी में भीषण आग, चार गोदाम जलकर हुए खाक, करोड़ों का नुकसान

ब्यावर रोड स्थित कप्तान दुर्गाप्रसाद चौधरी कृषि उपज मंडी (अनाज) में शनिवार को एक तेल के गोदाम सहित चार गोदामों में भीषण आग लगने के कारण करोड़ों रुपए का नुकसान हो गया। गनीमत रही कि हादसे में कोई जनहानि नहीं हुई। फायर ब्रिगेड की करीब 9 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

01/06/2019