Dainik Navajyoti Logo
Friday 17th of September 2021
 
अजमेर

अब OBC सर्टिफिकेट भी विवादों के घेरे में, डोटासरा के समधी पर क्रिमिलेयर में होने के बाद भी आरक्षण का लाभ लेने का आरोप

Friday, July 23, 2021 10:40 AM
राजस्थान लोकसेवा आयोग।

अजमेर। प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा की पुत्रवधू व पुत्रवधू के भाई-बहन के साक्षात्कार अंक समान होने के विवाद के बीच इनके ओबीसी सर्टिफिकेट भी संदेह के घेरे में हैं। राजस्थान हाईकोर्ट के एडवोकेट गोवर्धन सिंह सहित अन्य ने इस बारे में राजस्थान लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ. भूपेन्द्र यादव सहित अन्य सदस्यों को शिकायत भेजकर एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है। एडवोकेट गोवर्धन सिंह सहित अन्य ने शिकायत में बताया कि चुरू जिले में जिला शिक्षा अधिकारी के पद पर तैनात रमेशचन्द्र पूनिया की पुत्री प्रतिभा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा की पुत्रवधू है। प्रतिभा के भाई का नाम गौरव तथा बहन का नाम प्रभा है। तीनों ने आरएएस परीक्षा के साक्षात्कार में 80-80 अंक हासिल किए हैं। प्रतिभा ने आरएएस 2016 के साक्षात्कार और प्रभा व गौरव ने आरएएस 2018 के साक्षात्कार में एक समान अंक हासिल किए थे। जबकि आरएएस 2018 की टॉपर मुक्ता राव के साक्षात्कार में 77 अंक ही थे।

नियम विरुद्ध बनवाया सर्टिफिकेट
शिकायतकर्ता एडवोकेट गोवर्धन सिंह ने बताया कि प्रतिभा, प्रभा व गौरव के पिता रमेशचन्द्र पूनिया की जन्मतिथि 5 सितंबर, 1961 है। वे 8 दिसम्बर, 1993 को प्रधानाध्यापक बने। इन्हें प्रमोशन 32 वर्ष 3 माह 3 दिन की उम्र में मिल गया था। यानी 40 वर्ष की उम्र से पहले ये ‘वर्ग 1’ की सेवाओं में आ गए। इसलिए इनकी संतानें ओबीसी क्रिमिलेयर की श्रेणी में आएंगी और उन्हें ओबीसी आरक्षण का लाभ नहीं मिल सकेगा। गोवर्धन सिंह का आरोप है कि पूनिया ने तीनों संतानों का नियम विरुद्ध ओबीसी सर्टिफिकेट बनवाया। इसी सर्टिफिकेट के आधार पर तीनों का चयन आरएएस परीक्षा की अन्य पिछड़ा वर्ग की श्रेणी में हुआ, जबकि नियमानुसार तीनों सामान्य वर्ग में आते हैं। इन्होंने ओबीसी वर्ग के पात्र अभ्यर्थियों का हक मारा है। इसलिए इस प्रकरण में एफआईआर दर्ज कराई जानी चाहिए। शिकायतकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि यदि 24 घंटे के भीतर आरपीएससी ने एफआईआर दर्ज नहीं कराई तो वह नियम विरुद्ध ओबीसी सर्टिफिकेट बनवाने वालों के साथ-साथ ही आयोग अध्यक्ष के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराएंगे।

मुख्य परीक्षा के चौथे पेपर के अंक भी समान
गौरव तथा प्रतिभा के साक्षात्कार अंक ही नहीं, मुख्य परीक्षा के अंक भी समान हैं। दोनों ने ही मुख्य परीक्षा के चौथे प्रश्नपत्र जनरल हिन्दी व जनरल अंग्रेजी में 99.50-99.50 अंक हासिल किए हैं।

लगभग सौ लोगों के हैं 80 या अधिक अंक
आरएएस 2018 में लगभग 2023 अभ्यर्थियों के साक्षात्कार हुए थे। इनमें से लगभग सौ अभ्यर्थियों के साक्षात्कार अंक 80 या 80 से अधिक हैं। इसी तरह आरएएस 2016 में लगभग 150 अभ्यर्थियों के साक्षात्कार अंक 80 या 80 से अधिक थे। जबकि आयोग ने आरएएस 2018 के साक्षात्कार में तय कर लिया था कि 82 से अधिक अंक किसी भी अभ्यर्थी को नहीं दिए जाएंगे। आरएएस 2016 में यह सीमा 85 थी। डोटसरा की पुत्रवधू व पुत्रवधू के भाई-बहन ने अधिकतम सीमा तक अंक हासिल किए हैं।
 
कई नेताओं के बच्चों की मार्कशीट वायरल
डोटासरा के रिश्तेदारों के चयन पर हंगामा होने के बाद कई नेताओं के बच्चों की मार्कशीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिनका चयन आरएएस 2018 में हुआ है। इनमें कई नेता ऐसे भी हैं, जिनके एक से अधिक बच्चों का आरएएस 2018 में चयन हुआ है।

जाति प्रमाण की जांच करना आयोग का काम नहीं है। हम मैरिट बनाकर डीओपी को भेजते हैं। सलेक्शन लिस्ट डीओपी बनाता है। वहीं पर दस्तावेजों की जांच तथा मेडिकल इत्यादि कार्रवाई की जाती है।
-डॉ. भूपेन्द्र यादव, अध्यक्ष, आरपीएससी

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

लॉकडाउन 4.0: राज्य में उपखंड मुख्यालय स्तर पर जोन घोषित, पुष्कर का जोन स्पष्ट नहीं

अजमेर के निकटवर्ती उपखंड मुख्यालय पुष्कर को राजस्थान सरकार ने लॉकडाउन-4 के दौरान किस जोन में रखा है यह साफ नहीं है। खास बात यह है कि पिछले चौबीस घंटे में पुष्कर के निकटवर्ती क्षेत्रों से पॉजिटिव केस निकलकर सामने आ रहे है। बावजूद इसके सरकार का ध्यान पुष्कर पर नहीं गया है।

19/05/2020

चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा व पीसीसी महासचिव गहलोत ने किया नवीन भवन का लोकार्पण

नांद पीएससी को बनाएंगे आदर्श केन्द्र चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा व पीसीसी महासचिव गहलोत ने किया नवीन भवन का लोकार्पण

19/12/2019

अवकाश के दिनों में भी खुले रहेंगे पंजीयन कार्यालय

अवकाश के दिनों में भी खुले रहेंगे पंजीयन कार्यालय रजिस्ट्री समेत सभी होंगे कार्य

28/02/2020

ACB ने सब इंसपेक्टर से 11.36 लाख की नकदी और शराब पकड़ी, 2 मंजिला मकान सीज

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के दल ने पुलिस उपनिरीक्षक केसर सिंह नरूका से 11 लाख 36 हजार रुपए के साथ ही अंग्रेजी शराब की 21 बोतलें बरामद की हैं। एसीबी ने रिश्वत के आरोपी सब इन्सपेक्टर केशरसिंह के स्थानीय शास्त्रीनगर स्थित दो मंजिला आवास को सीज कर दिया।

12/08/2020

50 हजार की रिश्वत लेते कांस्टेबल गिरफ्तार

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो अजमेर की स्पेशल टीम ने बुधवार को डीडवाना में बड़ी कार्रवाई करते हुए 50 हजार की रिश्वत लेते एक कांस्टेबल को गिरफ्तार किया है।

27/02/2020

अजमेरः पटाखे की दुकान में लगी आग, दमकल की 10 गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत से पाया काबू

अजमेर शहर के क्लॉक टावर थाना क्षेत्र में शुक्रवार को पटाखों की एक दुकान में आग लगने से लाखों रुपए के पटाखे नष्ट हो गए जबकि आसपास की दुकानों को भी नुकसान पहुंचा है। आग की सूचना मिलने पर दमकल की 10 गाड़ियां मौके पर पहुंची और 2.30 घंटे तक कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

23/10/2020

बच्ची को बंद करने के मामले में कंपनी के 2 कर्मचारियों को किया गिरफ्तार

रूपनगढ़ कास्वां की ढाणी में एक वित्त कम्पनी द्वारा एक आवास की कुर्की की कार्रवाई के दौरान आवास में ही बंद कर दी गई मासूम बच्ची के मामले में पुलिस ने कंपनी के 5 कर्मियों को नामदर्ज करके 2 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है।

17/02/2020