Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of June 2021
 
अजमेर

जिला कलक्टर एक्शन मोड में

Friday, December 06, 2019 23:05 PM
जिला कलक्टर विश्व मोहन शर्मा ने शुक्रवार को मय टीम के साथ जवाहर लाल नेहरू अस्पताल का औचक निरीक्षण किया
अजमेर।  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा एक दिन पूर्व पहली बार ली गई जिला कलक्टरों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और उसमे ंदी गई नसीहत के बाद जिला प्रशासन एक्शन मोड में आ गया है। इसी के तहत जिला कलक्टर विश्व मोहन शर्मा ने शुक्रवार को मय टीम के साथ जवाहर लाल नेहरू अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान 58 कार्मिक ड्यूटी से गैर हाजिर मिले। इनमें अकेले 47 चिकित्सक थे। 
 
संभाग स्तरीय अस्पताल होने के बावजूद भी इतनी बड़ी संख्या में चिकित्सकों की गैरमौजूदगी ने अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज प्रशासन की पोल खोलकर रख दी। इस पर कलक्टर ने अस्पताल प्रशासन को मॉनिटरिंग में लापरवाही पर कड़ी फटकार लगाई। साथ ही सभी अनुपस्थित कार्मिकों की सूची जिले की वेबसाइट पर अपलोड करने के निर्देश भी  दिए।
 
अस्पताल प्रशासन करता रहा बचाव
 इस दौरान मौके से गायब मिले चिकित्सकों के बचाव में अस्पताल प्रशासन नजर आया। कलक्टर और उनकी टीम ने उपस्थिति रजिस्टर मंगवाकर जब जानकारी मांगी तो प्रशासनिक अधिकारी और कार्मिक अवकाश पर होने जरुरी काम के लिए सूचित करने सहित कई बहाने बनाए लेकिन जब उनसे अवकाश के प्रार्थना पत्र मांगे तो, उनसे कोई जवाब देते नहीं बना। इसी तरह हाजिरी का रजिस्टर पिछले दिनों से रिक्त होने का कारण पूछने पर भी कोई संतोषजनक जवाब वे नहीं दे पाए। अब जिला प्रशासन नोटिस देकर  अनुपस्थित कार्मिकों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही करेगा।  
 
टीमें बनाकर कराया निरीक्षण
औचक निरीक्षण के लिए सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को बुलाकर अलग -अलग टीमों को वार्डों में जाकर निरीक्षण करने के निर्देश दिए गए थे। अधिकारी सबसे पहले आपातकालीन इकाई में पहुंचे। इसके बाद प्रत्येक वार्ड व  आउटडोेर का सघन निरीक्षण किया गया। निरीक्षण की सूचना मिलते ही अनुपस्थित चिकित्सकों, नर्सिंग स्टॉफ, लेखाधिकारी सहित अन्य स्टॉफ में खलबली मच गई। लेटलतीफ चिकित्सक दौड़कर अस्पताल पहुंचे, लेकिन टीम के सामने जाने से बचते रहे। 
 
खराब बायोमेट्रिक मशीन पर लगाई लताड़
कलक्टर ने अस्पताल में उपस्थिति के लिए बायोमेट्रिक व्यवस्था की भी जांच-परख कराई, लेकिन यहां भी मशीनों के ठीक प्रकार से काम नहीं करने से उपस्थिति का आंकलन नहीं होने पर अस्पताल अधीक्षक डॉ. अनिल जैन सहित प्रभारी विभागाध्यक्षों को फटकारते हुए तुरन्त सुधरवाने के निर्देश दिए। 
 
ये मिले ड्यूटी से गायब
ड्यूटी से गायब मिलने वालों में 14 आचार्य हैं। इनमें डॉ. अशोक मेहरड़ा, डॉ. एच.सी.बड़जात्या, डॉ. बी.एस.करनावट, डॉ. नीना जैन,  डॉ. सी.के.मीना, डॉ.एल.एल.सोनी, डॉ. रीना माथुर, डॉ. बी.एस.दत्ता, डॉ. मोनिका माहेश्वरी, डॉ. एम.के.रोहिल्ला, डॉ. बीना ठाडा, डॉ. रमाकांत दीक्षित, डॉ. राजमणी, डॉ. सुरेन्द्र कुमार सेठी, आहार विशेषज्ञ डॉ. दिव्या करनावट, उप अधीक्षक डॉ. विजय लक्ष्मी धाभाई, मुख्य लेखाधिकारी मोहनलाल कुमावत, नर्सिंग अधीक्षक सरोज, सहायक आचार्य डॉ. राजेन्द्र कुमार गोयल, डॉ.दीपक कुमार गर्ग, डॉ. राजवीर कुलदीप, डॉ. दिनेश कुमार यादव, डॉ. सुनील कुमार गोठवाल, डॉ. हरदयाल, डॉ. मुनेश, डॉ. राजेश सैनी, डॉ. पीयूष अरोड़ा, डॉ. विनोद कुमार यादव, डॉ. लोकेश चावला, डॉ. सुमेर सिंह, डॉ. विष्णु कुमार सैनी, डॉ. मनोज कुमार, डॉ. प्रियंका गुप्ता, डॉ. प्रदीप कुमार, डॉ. लक्ष्मण सिंह चारण, डॉ. अमित गुंसाईवाल, डॉ. अनन्त चौटिया, डॉ. विजय चौधरी, डॉ. मीरा कुमारी, डॉ. सीमा अजमेरा, डॉ. रजनी भार्गव, डॉ. भंवर खलदानिया, डॉ. संगीता लाम्बा, डॉ. विजयंत टांक, डॉ. आशा लखोटिया, डॉ. संजीव जैन, डॉ. सर्वेशकुमार, वरिष्ठ सहायक विजया सोलोमन, कनिष्ठ सहायक राजेन्द्र ओझा, सुनीता सिंह, भरत सिसोदिया, गीतांजली, मनोज सैनी, जोर्डन रॉबिन, मेल नर्स मुकेश बैरवा, पेट्रिश्यिा डेविस, अधीक्षक रंजीता। 
 
सफाई की कमी
 अधिकांश वार्डों में सफाई की कमी पाई गई। जिस पर ध्यान देने के लिए जिला कलक्टर ने निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल अधीक्षक अनिल जैन को भी पाबंद किया कि वे उपस्थिति रजिस्टर की जांच प्रतिदिन करें।
 
90 से अधिक दवाइयां उपलब्ध नहीं
जिला कलक्टर शर्मा ने मेडिकल कॉलेज के औषधि भण्डार एवं चिकित्सालय के दवा वितरण केन्द्र काउंटर नम्बर 2 एवं 17 का निरीक्षण किया तो  90 से अधिक दवाइयां एक सप्ताह से अनुपलब्ध मिलीं। जिसे कलक्टर ने गम्भीरता से लेते हुए अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) सुरेश सिंधी को निर्धारित मापदण्ड के अनुसार निर्धारित दवाइयों की सूची एवं उपलब्ध दवाइयों की सूची के साथ दवाइयों की कमी की विस्तृत रिपोर्ट बनाकर दो दिवस में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए । मेडिकल कॉलेज के औषधि भण्डार में भी 54 दवाइयां अनुपलब्ध पाई गईं। जिसका रेट कॉंट्रेक्ट समाप्त हो गया था। जिला कलक्टर ने तत्काल दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने ड्रग उपलब्धता के संबंध में नया सॉफ्टवेयर काम में लेने को भी कहा। 
 
पंजीयन काउंटर पर भी मरीजों को परेशानी
कलक्टर शर्मा ने पंजीयन कक्ष का भी निरीक्षण किया। जहां दो दिन से इन्टरनेट बंद होने से भामाशाह योजना के मरीजों का सत्यापन करने में कठिनाई होना सामने आया। यहां   मैन्युअल तरीके से काम किया जा रहा था। दो दिन से इंटरनेट बन्द होने पर अधीक्षक एवं चिकित्सालय के एसीपी को तत्काल आवश्यक कार्यवाही करने को कहा गया। निर्देश दिए गए। निरीक्षण के दौरान एडीए आयुक्त गौरव अग्रवाल, नगर निगम की आयुक्त चिन्मयी गोपाल, अतिरिक्त जिला कलक्टर कैलाश चंद शर्मा, सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।
 
 
 
 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

अवकाश के दिनों में भी खुले रहेंगे पंजीयन कार्यालय

अवकाश के दिनों में भी खुले रहेंगे पंजीयन कार्यालय रजिस्ट्री समेत सभी होंगे कार्य

28/02/2020

ज्ञान को आचरण में उतारने से दूर होंगी सामाजिक विकृतियां- राज्यपाल

एमडीएस में 137वें ऋषि बलिदान दिवस पर राष्टÑीय संगोष्ठी का आयोजन

30/10/2019

पांच सौ साल के इतिहास में पहली बार नहीं निकली राठौड़ बाबा की सवारी।

लॉकडाउन के चलते इस बार अजमेर शहर में ऐतिहासिक राठौड़ बाबा की सवारी नहीं निकली। राजस्थानी संस्कृति से जुड़ी भगवान शंकर व पार्वती माता की प्रतीक स्वरूप यह सवारी निकाली जाती है। 5 सौ से भी अधिक साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि जब यह सवारी नहीं निकली।

04/04/2020

अजमेर: व्यापारी से 12 लाख रुपए लूटने की साजिश चाय बेचने वाले ने बनाई थी

व्यापारी से 12 लाख लूटने का मामला: तीन और आरोपी गिरफ्तार, वारदात में संलिप्त थे 11 आरोपी

01/11/2019

जेल में अवैध वसूली का खेल

अजमेर सेन्ट्रल जेल में बन्दियों को प्रताड़ित कर उनसे सेवा शुल्क के नाम पर की जा रही अवैध वसूली के बहुचर्चित मामले में एसीबी ने एक और आरोपी को गिरफ्तार किया

20/09/2019

केकड़ी में 10 करोड़ की लागत से बनेगा होम्योपैथिक कॉलेज

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा के प्रयासों से केकड़ी क्षेत्र को दो बड़ी सौगातें मिली है। इसके तहत बजट में स्वीकृत प्रदेश के दो होम्योपैथिक कॉलेज में से एक कॉलेज केकड़ी खोला जाएगा वहीं सावर में सरकारी कॉलेज खोलने की स्वीकृति

13/03/2020

रघु शर्मा ने कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में किया जनसंपर्क, गांवों के विकास के लिए कड़ी से कड़ी जोड़ने की अपील

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि छत्तीस कौमों के आशीर्वाद से राज्य में कांग्रेस की सरकार बनी और अब गांव के विकास के लिए पंचायत समितियों में प्रधानों तथा जिला प्रमुख भी कांग्रेस का बने तो कड़ी से कड़ी जुड़ने पर ग्रामीण क्षेत्रों का विकास हो सकेगा।

19/11/2020