Dainik Navajyoti Logo
Friday 18th of June 2021
 
अजमेर

युवक ने हथौड़े से बुजुर्ग मां और भाई को मौत के घाट उतारा, पिता व 3 अन्य भाइयों को किया जख्मी

Friday, April 09, 2021 10:45 AM
आरोपी (बीच में) को मोटरसाइकिल पर ले जाते पुलिसकर्मी।

भिनाय। कस्बे में केकड़ी रोड पहाड़ी के नीचे स्थित एक मकान में बुधवार रात कलियुगी पुत्र अपने ही परिवार के लिए काल बन गया। उसने अपनी मां और छोटे भाई के सिर पर हथौड़े से ताबड़तोड़ वार कर निर्मम हत्या कर दी। पिता व तीन भाइयों को गंभीर घायल कर दिया। भाभी ने कमरे में छिप कर अपनी जान बचाई। वहीं शोर सुनकर आए पड़ोसी पर भी हथौड़े से हमला कर मौके से फरार हो गया। वारदात के 13 घंटे बाद भिनाय पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से आरोपी को पकड़ लिया। आरोपी ने परिवार पर हमला करना तो स्वीकारा लेकिन ऐसा क्यों किया, यह नहीं बता पा रहा है। सनसनीखेज वारदात से कस्बे में मातम छा गया है।

पिता से कहा- आप परेशान मत हो
शोर-शराबे की आवाज सुनकर बाहर सो रहे अमरचंद के पिता रामधन ने घर में आने की कोशिश की परंतु दरवाजा अंदर से बंद था। इस पर रामधन घर के पीछे लगे पेड़ पर चढ़कर छत से घर के अंदर पहुंचा। अमरचंद ने पिता से कहा कुछ नहीं हुआ है, आप परेशान मत हो। यह कहकर उसने पिता के सिर पर भी हथौड़े से हमला कर दिया। इसी बीच परिवार वालों की चीख-पुकार सुनकर आस पड़ोस के लोग मौके पर पहुंचे। अमरचंद बीच-बचाव करने आए पड़ोसी भंवरलाल माली पर हमलाकर कर मौके से फरार हो गया।

जयपुर में दोनों भाई साथ पढ़ते थे
दोहरे हत्याकांड का आरोपी अमरचंद अपने छोटे भाई शिवराज के साथ एक ही कमरे में जयपुर में पढ़ाई करता था। शिवराज पटवारी परीक्षा की तैयारी कर रहा था जबकि आरोपी अमरचंद रीट की तैयारी कर रहा था। आरोपी के दूसरे भाई ओमप्रकाश, भागचंद व ताराचंद झोटवाड़ा में एक साथ काम करते थे। भिनाय में केवल माता-पिता ही रहते थे।

गेट बंद करने से बच गई रेखा
अपने देवर का तांडव देख ताराचंद की पत्नी रेखा उसके चंगुल से छूटकर कमरे में भाग गई और अंदर से किवाड़ बंद कर दिया। इससे वह कातिलाना हमले से बच गई। वहीं ओमप्रकाश की पत्नी अनिता पीहर गई हुई थी।

मृतकों को घसीटने के साक्ष्य मिले
वारदात स्थल पर कमरा व बरामदा खून से सना देख ग्रामीण सन्न रह गए। वारदात स्थल पर मृतकों को घसीटने जैसे तथ्य भी मिले। कमरे, बरामदे, मकान के पिछवाड़े व दीवारों पर भी खून लगा हुआ था।  

हर शख्स की जुबां पर एक ही सवाल- क्यों मारा?
कस्बे में हुआ दोहरा हत्याकांड पुलिस, ग्रामीणों व परिवार के लिए फिलहाल पहेली बना हुआ है। कोई आरोपी को सीधा सादा युवक बता रहा है तो कोई उसे साइको कह रहा है। कुछ लोगों ने हत्याकांड का संबंध जयपुर से भी जोड़ रहे हैं। फिलहाल आरोपी ने पुलिस के सामने हत्या करना तो कबूल कर लिया लेकिन हत्या क्यों की, इस बारे में यह कहकर चुप्पी साध ली कि मुझे ही नहीं पता।

जयपुर से परिवार सहित आए हुए थे पांचों पुत्र
केकड़ी रोड किले की पहाड़ी की तलहटी में रामधन पुत्र मांगीलाल जांगिड़ का मकान है। इसमें वह पत्नी संग रहता है। इन दिनों जयपुर से उसके पांचों पुत्र भी परिवार सहित आए हुए थे। बुधवार रात लगभग 2 बजे रामधन के तीसरे नंबर के पुत्र अमरचंद (25) ने अपने ही परिवार को खत्म करने की साजिश रची। उसने बिजली का कट आउट निकालकर पूरे घर में अंधेरा कर दिया। फिर परिवार के एक-एक सदस्य पर हथौड़े से हमला करना शुरू कर दिया। उसने सबसे पहले नीचे कमरे में सो रही मां कमला देवी (60) के सिर में हथौड़े से जोरदार वार कर हत्या कर दी। इसके बाद पास ही के कमरे में सो रहे छोटे भाई शिवराज (22) को यह कहकर जगाया कि मां बुला रही है। शिवराज के जगते ही उसके सिर पर भी हथौड़े से ताबड़तोड़ वार कर मौत की नींद सुला दिया। उसके बाद नीचे बरामदे में सो रहे बड़े भाई ओमप्रकाश व उसकी बेटी वंशिका पर भी हथौड़े से हमला कर दिया। अमरचंद का जुनून यही खत्म नहीं हुआ। उसने बुधवार को ही अपेंडिक्स का ऑपरेशन कराकर घर लौटे भाई भागचंद पर भी हथौड़े से जानलेवा हमला कर दिया। इन सबको मरा हुआ समझकर आरोपी अमरचंद छत पर बने कमरे में सो रहे बड़े भाई ताराचंद व भाभी रेखा को मारने के इरादे से छत पर पहुंच गया। उसने भाई व भाभी को भागचंद की तबीयत खराब होने का हवाला देते हुए पानी गर्म करने के लिए नीचे आने के लिए कहा। नीचे पहुंचते ही अमरचंद ने भाई ताराचंद के सिर में हथौड़े से वार कर दिया। यह देख भाभी रेखा जोर-जोर से चिल्लाने लगी तो उसने भाभी का गला दबाकर मारने की कोशिश की। रेखा ने जैसे-तैसे भागकर पास वाले कमरे में अपने आपको बंद कर जान बचाई।

13 घंटे बाद जंगल से दबोचा
आरोपी अमरचंद वारदात अंजाम देकर रात लगभग ढाई बजे फरार हो गया। उसकी तलाश में पुलिस व ग्रामीणों ने पूरे दिन जंगल व पहाड़ियों की खाक छानी। पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए डॉग स्क्वॉयड डॉग की भी मदद ली। शाम करीब साढ़े 5 बजे निमेड़ा व लामगरा के जंगल में आरोपी अमरचंद ग्रामीणों की मदद से दबोचा गया। नृशंस हत्याकांड के आरोपी ने फिलहाल पुलिस के सामने कोई राज नहीं खोला।

घर से नहीं उठी अर्थियां
अपने ही बेटे के हाथों मारी गई कमला व भाई शिवराज की अंतिम विदाई अपने घर से न होकर पड़ोस के घर से हुई। क्योंकि वारदात स्थल को पुलिस ने सीज कर दिया है। मृतक मां-बेटे का गमगीन माहौल में दाह संस्कार किया गया। उधर, सभी घायलों को अस्पताल में उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। केवल ओमप्रकाश उपचाररत है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के लिए एलओसी में सुधार का आखिरी अवसर

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की साल 2020 में होने वाली 10वीं व 12वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए अपने आवेदन विवरण या एलओसी (लिस्ट आॅफ कैंडिडेट) में रही त्रुटियों में सुधार का सोमवार को अंतिम अवसर है।

11/11/2019

निलंबित पालिकाध्यक्ष की पत्नी की तेल फैक्ट्री पर छापा

चिकित्सा निदेशालय के एक विशेष जांच दल ने रविवार को यहां जयपुर रोड स्थित निलंबित नगरपालिका अध्यक्ष अनिल मित्तल की पत्नी इंद्रा मित्तल की फैक्ट्री पर छापामार कार्रवाई की। दल ने यहां करीब 16 लाख रुपए की लागत का 21 हजार 360 लीटर सरसों का तेल सीज कर दिया

02/06/2019

आयकर विभाग की 35 टीमों ने अजमेर के दो प्रमुख कारोबारियों के यहां मारा छापा

आयकर विभाग ने बुधवार को अजमेर के दो प्रमुख कारोबारियों के यहां छापे मारे। विभाग द्वारा अजमेर सहित किशनगढ़, सरवाड़, सावर में भी संबंधित कारोबारियों के प्रतिष्ठानों पर सर्च की कार्रवाई की जा रही है। जांच में करोड़ों रुपए की बेनामी सम्पत्ति और आय से अधिक सम्पति मिलने की संभावना

13/02/2020

भवानी देथा होंगे अजमेर जिले के प्रभारी सचिव

राज्य सरकार ने बुधवार को अजमेर जिले के प्रभारी सचिव को बदल दिया है। अब आईएएस हेमंत गेरा की जगह भवानी देथा वहां के प्रभारी सचिव होंगे। गेरा वित्त विभाग के बजट शाखा में नियुक्त है।

28/11/2019

महाराष्टÑ के कांग्रेसी विधायकों ने की दरगाह की जियारत,पुष्कर भी गए

महाराष्टÑ में सरकार के गठन को लेकर चल रही कशमकश के बीच जिन करीब 40 कांग्रेसी विधायकों की जयपुर में बाड़ेबंदी की गई है, उनमें से कुछ रविवार को पुष्कर गए और अजमेर में ख्वाजा मोइनुदीन चिश्ती की दरगाह की जियारत की।

10/11/2019

नौ पार्षद भाजपा में शामिल

जिले की ब्यावर नगर परिषद के लिए 26 नवम्बर हो रहे सभापति के चुनाव से पहले नौ निर्दलीय पार्षद आज भाजपा में शामिल हो गये। इ

22/11/2019

नसीराबाद में मामला गर्माया, दीपक जला रहे लोगों पर पथराव, आरोपी फरार

प्रधानमंत्री के आह्वान पर रविवार रात घर की छत पर दीपक जला रहे परिवार पर पड़ोसी परिवारों ने पथराव कर दिया। इससे छह जने लहूलुहान हो गए। उन्हें अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचाया गया। इस घटनाक्रम से नगर का माहौल गर्मा गया है। इत्तला मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तब तक आरोपी वहां से भाग निकले। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है।

05/04/2020